गैंगस्टर अनुराधा चौधरी की गिरफ्तारी के वीडियो को प्रियदर्शनी नारायण यादव का बता वायरल किया जा रहा है।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हालही में इन्टरनेट पर एक लड़की द्वारा एक कैब ड्राइवर को पीटने का वीडियो काफी वायरल हुआ था, जिसको लेकर वर्तमान में काफी विवाद चल रहा है। आपको बता दें कि हाल ही में लखनऊ में प्रियदर्शनी नारायण यादवे नामक एक लड़की ने टैक्सी चालक सआदत अली सिद्दीकी की पिटाई की थी, ऐसा करने का कारण उन्होंने इस कैब ड्राईवर द्वारा उन्हें कुचलने का प्रयास बताया था, जिसके चलते उन्होंने इस ड्राईवर की पिटाई की थी। इस मामले में दोनों ओर से मामला दर्ज किया गया है। इससे सम्बंधित एक वीडियो काफी तेज़ी से साझा किया जा रहा है, इस वीडियो में एक लड़की को पुलिस गिरफ्तार कर रही है व दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो लखनऊ में पुलिस द्वारा प्रियदर्शनी की गिरफ्तारी का है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

लखनऊ की लड़की गिरफ्तार, लखनऊ की लड़की वायरल वीडियो, लखनऊ कैब ड्राइवर 

और वीडियो में लिखी हुयी जानकारी में लिखा है

लखनऊ की लड़की प्रियदर्शनी नारायण यादव गिरफ्तार।

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहे वीडियो में दिख रही लड़की लखनऊ की प्रियदर्शनी नारायण यादव नहीं है। वह गैंगस्टर आनंदपाल की सहायक अनुराधा चौधरी है जिसे हालही में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस वीडियो का प्रियदर्शनी नारायण यादव से कोई सम्बंध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल पर रीवर्स इमेज सर्च कर की, परिणाम में हमें इस वीडियो में दिख रहे दृश्य की तस्वीर टी.वी9 भारतवर्ष द्वारा इस वर्ष 31 जुलाई को प्रकाशित किये गये एक समाचार लेख में मिली। समाचार लेख के मुताबिक उस तस्वीर में दिख रही महिला का नाम अनुराधा चौधरी है जिसे दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने हालही में दो वांटेड गैंगस्टर काला जठेड़ी और अनुराधा चौधरी को लूट, हत्या, किडनैपिंग, रंगदारी मांगने जैसे कई अपराध के लिये गिरफ्तार किया है।

आर्काइव लिंक

इसके बाद हमने उपरोक्त जानकारी को ध्यान में रखते हुये अधिक जानकारी पाने के लिये व वायरल हो रहे वीडियो को ढूँढने के लिये यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया, नतीजतन हमें यही वीडियो झी राजस्थान के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर इस वर्ष 31 जुलाई को प्रसारित किया हुआ मिला। इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है,“ब्रेकिंग न्यूज़: काला जठेड़ी की सहयोगी लेडी डॉन अनुराधा गिरफ्तार | काला जठेरी | आनंदपाल सिंह,” और इसके नीचे दि गयी जानकारी में लिखा है,“दिल्ली पुलिस ने गैंगस्टर काला जठेड़ी के साथ लेडी डॉन अनुराधा को भी गिरफ्तार कर लिया है, दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी की गिरफ्तारी के कुछ ही घंटे बाद उसके करीबी लेडी डॉन अनुराध को भी गिरफ्तार कर लिया, अनुराधा राजस्थान के डॉन आनंदपाल सिंह की सहयोगी रही है।“

आर्काइव लिंक

तदनंतर अधिक जाँच करने पर हमें स्पेशल सेल, दिल्ली पुलिस के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर इस वर्ष 31 जुलाई से किया गया एक ट्वीट मिला जिसमें उन्होंने अनुराधा चौधरी के गिरफ्तार होने की खबर दी है। उन्होंने लिखा है, “वांटेड गैंगस्टर और लेडी डॉन, रिवॉल्वर रानी अनुराधा उर्फ ​​मैडम मिंज भी पुलिस के जाल में। आरोपियों पर कुल मिलाकर ६,१०,००० रुपये का इनाम था। एक अंतरराष्ट्रीय आपराधिक गठबंधन की कमर टूट गई है।

आर्काइव लिंक

तत्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने लखनऊ की डी.सी.पी सेंट्रल ख्याती गर्ग से संपर्क किया व उनसे वायरल हो रहे वीडियो के साथ किये गये दावे की सच्चाई जानने की कोशिश की, उन्होंने हमें बताया कि,
वायरल हो रहे वीडियो में दिख रही महिला प्रियादर्शनी नारायण यादव नहीं है और इस (कैब ड्राईवर की पिटाई) मामले में अब तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है।“

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। वीडियो में दिख रही लड़की लखनऊ की प्रियदर्शनी नारायण यादव नहीं है। वह गैंगस्टर आनंदपाल की सहयोगी अनुराधा चौधरी है जिसे हालही में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस वीडियो का प्रियदर्शनी नारायण यादव से कोई सम्बंध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. हिमाचल प्रदेश में हुए भूस्खलन के वीडियो को उत्तरी पाकिस्तान से बता वायरल किया जा रहा है|

२. मोहम्मद अनस का टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने की खबर गलत है।

३. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा राम मंदिर पर किया कथित विवादित ट्वीट का स्क्रीनशॉट ट्वीट फर्ज़ी है।

Avatar

Title:गैंगस्टर अनुराधा चौधरी की गिरफ्तारी के वीडियो को प्रियदर्शनी नारायण यादव का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •