क्या पाकिस्तान में धर्मांतरण को लेकर हिंदू सांसद ने उठाई आवाज?

Partly False Political

सोशल मीडिया पर एक पाकिस्तानी सांसद का वीडियो वायरल किया जा रहा है। वीडियो में शख्स पाकिस्तान में हिंदू और दूसरे धर्म के बच्चों के धर्मांतरण को रोकने की बात कह रहे हैं।

वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहा शख्स पाकिस्तान के हिन्दु सांसद हैं। यूजर्स लिख रहे हैं कि देखिए कैसे पाकिस्तान में एक हिंदू सांसद हिंदू धर्म की रक्षा की गुहार लगा रहा है.

यूजर्स ने वायरल वीडियो को पोस्ट करते हुए लिखा है – गाँधीजी का पाप सह रहे हैं पाकिस्तान के अल्पसंख्यक…देखें कैसे एक हिंदू सांसद हाथ जोड़ के पाक संसद में दया की भीख माँग रहा है… कि हमपे रहम करो हमारी बेटियों को बख़्श दो…ये वीडिओ उन धर्मनिरपेक्ष लोगों को समर्पित है जो हमें धर्म पर ज्ञान देते हैं।

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

वायरल वीडियो को हमें अलग अलग कीवर्ड्स के जरिए ढूंढने पर वीडियो हमें एनवाई न्यूज यूट्यूब चैनल पर मिला। खबर के मुताबिक वीडियो में देख रहे शख्स विधायक तारिक मसीह गिल है। 20 अगस्त 2022 को अपलोड किया गया वीडियो में 3 मिनट 18 सेकेंड से वायरल वीडियो के हिस्से को देखा जा सकता है।

वीडियो के शिर्षक में लिखा गाया है जबरन धर्मांतरण पर पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में एमपीए तारिक मसीह गिल का साहसिक भाषण। 

मिला जानकारी का मदद लेते हुए हमने सांसद तारिक मसीह गिल के बारे अधिक जानकारी जुटाने की कोशिश की। हमें आमिर अशरफ ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर दो साल के तारिक मसीह गिल का इंटरव्यू मिला। वीडियो के 1 मिनट 23 सेकंड में उन्हें चर्च और बाइबिल के बारे में बात करते हुए सुना जा सकता है।

इसके अलावा फेसबुक पर उनके कई पोस्ट मिले, जिनमें वह ईसाई कार्यक्रमों में भाग लेते नजर आ रहे हैं। उसकी झलक यहा, यहां और यहां पर देखा जा सकता है। 

https://fb.watch/gTcFSvYyDe/

साथ ही हमें पंजाब यूनिवर्सिटी का एक पेज मिला, जिसमें पंजाब यूनिवर्सिटी के ईसाई कर्मचारियों ने संसद के नव-निर्वाचित सदस्यों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और सरकारी अधिकारियों सहित ईसाई हस्तियों के सम्मान में रात्रिभोज का आयोजन किया गया था। इस आयोजन में सांसद तारिक मसीह गिल भी शामिल थे।

पड़ताल के दौरान हमें पंजाब की प्रांतीय विधानसभा की आधिकारिक वेबसाइट मिला। इसके मुताबिक  पंजाब की प्रांतीय विधानसभा सीट में गैर मुस्लिमों के लिए आठ सीटें आरक्षित हैं। तारिक मसीह गिल को इन्हीं में से एक सीट पर 2018 में लगातार दूसरी बार चुना गया था। यहां पर उनके धर्म में ईसाई लिखा गया है।

स्पष्टीकरण के लिए हमने पाकिस्तानी रिपोर्टर से संपर्क किया, उन्होने हमें स्पष्ट किया की वीडियो में दिख रहे शख्स तारिक मसीह गिल है। तारिक मसीह गिल हिन्दू नहीं ईसाई धर्म के है। वो अक्षर धर्म परिवर्तन के खिलाफ और बच्चों की शिक्षा को लेकर कहते हैं।

23 सितंबर 2022 को प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, एमपीए गिल पंजाब प्रांत के रावलपिंडी में 13 साल की ईसाई लड़की जरिया परवेज के अपहरण और जबरन धर्मांतरण के मामले के खिलाफ मुद्दे पर लगातार आवाज उठाते रहे हैं। उन्होंने बाल विवाह के खिलाफ कानूनों के कार्यान्वयन के लिए, और जबरन धर्मांतरण के खिलाफ कानूनी सुरक्षा की शुरुआत के लिए विधान सभा के पटल पर अपनी आवाज उठाई है। 

निष्कर्ष-

तथ्यों की जांच के बाद हमने पाया कि वीडियो में दिख रहे शख्‍स कोई हिंदू सांसद नहीं हैं। पाकिस्तान के ईसाई एमपीए तारिक मसीह गिल हैं।

Avatar

Title:क्या पाकिस्तान में धर्मांतरण को लेकर हिंदू सांसद ने उठाई आवाज?

Fact Check By: Saritadevi Samal 

Result: Partly False

Leave a Reply