पुलवामा शहीदों की पत्नियों के मंगलसूत्र पर योगी के सवाल उठाने वाला वीडियो एडिटेड व गलत दावे से वायरल… 

Altered Political

योगी का एडिटेड वीडियो वायरल, मूल वीडियो एक रैली का है जहां पर सीएम योगी ने सपा पर हमला बोलते हुए डिंपल यादव के बयान पर बोल रहे थें , उसी भाषण के हिस्से को एडिड कर फैलाया गया है।

देश में चल रहे लोकसभा चुनाव के दौरान सियासी पार्टियों द्वारा एक दूसरे पर मंगलसूत्र को लेकर जम कर आरोप लगाए जा रहे हैं। इसी संदर्भ में सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ का मंगलसूत्र को लेकर नया वीडियो वायरल हुआ है। वायरल हुए इस वीडियो में योगी कहते हैं की, बहनों और भाइयों हम भी पूछना चाहते हैं, कि मोदी जी पुलवामा के शहीदों के जो विधवा हैं, उनके मंगलसूत्र का क्या हुआ और नौजवानों के परिवारों की विधवाओं का क्या हुआ, उनके मंगलसूत्र का क्या हुआ। यूज़र्स इस वीडियो को सच मानते हुए पीएम मोदी पर निशाना साध रहे हैं। वीडियो इस कैप्शन के साथ है….

मोदी जी के खिलाफ तो योगी जी भी गये मैदान मे वो भी बोल रहे पुलवामा के शहीद वीर जवानों की पत्नियों का मगलसूत्र कहा गया

#नहीं_चाहिए_भाजपा #भाजपा_हटाओ_देश_बचाओ

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत में वीडियो को कीवर्ड्स से खोजना शुरू किया, जिसके परिणाम में हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स मिली। रिपब्लिक टीवी के यूट्यूब पर 25 अप्रैल को वायरल वीडियो क्लिप अपलोड किया हुआ देखा जा सकता है। वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है कि योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी पर सपा नेता के ‘मंगलसूत्र’ वाले तंज पर पलटवार किया। जबकि वीडियो में योगी कहते हैं कि, बड़ा हास्यास्पद बयान यहां से समाजवादी पार्टी की नेत्री का आया। उनके द्वारा कहा जा रहा है कि मोदी जी, पुलवामा के शहीदों की, जो विधवा हैं, उनके मंगलसूत्र का क्या हुआ। बहनों और भाइयों हम भी पूछना चाहते हैं समाजवादी पार्टी की नेत्री से, जिन रामभक्तों का लहू समाजवादी पार्टी की सरकार ने अयोध्या में बहाने का काम किया था, उन नौजवानों के परिवार की विधवाओं का क्या हुआ, उनके मंगलसूत्र का क्या हुआ। वीडियो के नीचे लिखे डिस्क्रिप्शन के अनुसार यह रैली उत्तर प्रदेश के इटावा में हुई थी।

आर्काइव

यहीं वीडियो हमें एएनआई के एक्स हैंडल पर 25 अप्रैल को पोस्ट किया हुआ मिला। पोस्ट में लिखा गया था, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इटावा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ”समाजवादी पार्टी के एक नेता ने बयान देकर पीएम मोदी से पूछा है कि पुलवामा में जान गंवाने वाले जवानों की विधवाओं के ‘मंगलसूत्र’ का क्या हुआ। मैं चाहता हूं समाजवादी पार्टी के उस नेता से पूछना है कि उन राम भक्तों की विधवाओं और उनके ‘मंगलसूत्र’ का क्या हुआ, जिनका खून समाजवादी पार्टी ने अयोध्या में बहाया था।’

वीडियो में ऐसा ही कुछ योगी आदित्यनाथ कहते नज़र आते हैं।

आर्काइव


हमने अपनी खोज के दौरान यह देखा कि एएनआई के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर इटावा में हुई इस रैली का पूरा वर्जन मौजूद है। यहां पर हम 14:40 मिनट से लेकर 15 :22 तक में वायरल क्लिप को देख सकते हैं।

इस प्रकार से स्पष्ट होता है कि वायरल वीडियो में मंगलसूत्र वाले मामले पर योगी के पूछे गए सवाल पीएम मोदी के लिए नहीं थें। 

अंत में हमें दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट मिली, जिसके अनुसार सीएम योगी के डीप फेक वीडियो मामले में एक्स पर पोस्ट करने वाले शख्स के खिलाफ केस दर्ज की रिपोर्ट प्रकाशित है। खबर के अनुसार एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पोस्ट करने पर सेक्टर-36 स्थित साइबर क्राइम थाने में एसटीएफ की ओर से रेहड़ी-पटरी संचालक वेलफेयर एसोसिएशन के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष श्याम किशोर गुप्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी श्याम किशोर गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया गया है।

आर्काइव

जांच में आगे हुए यूपी पुलिस के (आर्काइव) एक्स हैंडल पर 2 मई को एक पोस्ट मिला। जिसमें सीएम योगी के ऑल्टर्ड वीडियो शेयर करने वाले श्याम गुप्ता को यूपीएसटीएफ की नोएडा यूनिट द्वारा गिरफ्तार करने के विषय में जानकारी दी गई है।

अंत में हमने योगी आदित्यनाथ के वायरल वीडियो और हमें मिले मूल वीडियो के बीच तुलना कर यह स्पष्ट किया , कि योगी सपा नेत्री डिंपल यादव से मंगलसूत्र को लेकर सवाल पूछ रहे थें।

निष्कर्ष- 

तथ्यों के जांच के पश्चात हमने यह पाया कि योगी आदित्यनाथ का एडिटेड वीडियो वायरल किया गया है। असल में योगी सपा पर निशाना साधते हुए मंगलसूत्र को लेकर सवाल पूछ रहे थें जिसे अब पीएम मोदी से जोड़ते हुए फैलाया  गया है। 

Avatar

Title:पुलवामा शहीदों की पत्नियों के मंगलसूत्र पर योगी के सवाल उठाने वाला वीडियो एडिटेड व गलत दावे से वायरल…

Fact Check By: Priyanka Sinha 

Result: Altered

Leave a Reply