कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा उद्धव ठाकरे को मंच पर बोलने से रोकने वाला वीडियो फेक और गलत दावे से वायरल…

False Political

मूल वीडियो के अनुसार उद्धव ठाकरे समय की कमी के चलते सिर्फ पांच मिनट ही बोलने की बात करते हैं, उसी वीडियो को कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा रोकने के झूठा दावे से फैलाया जा रहा है। 

अभी हाल ही में उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के वर्धा में लोकसभा चुनाव 2024 के लिए एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थें। जिसके एक वीडियो को गलत तरीके से सोशल मीडिया पर प्रचारित किया जा रहा है। वायरल वीडियो में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं शिवसेना (यूबीटी) नेता उद्धव ठाकरे नज़र आ रहे हैं। जिनके साथ मंच पर मौजूद अन्य लोगों को भी देखा जा सकता है। वीडियो में उद्धव मराठी में कहते है कि मैं 5 मिनट तक बोलूंगा , इस बीच अन्य लोग उद्धव के पास आ कर कुछ कहते नज़र आते हैं। दरअसल महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी, INDIA गठबंधन का हिस्सा है जो साथ में लोकसभा चुनाव के मैदान में है। इसलिए अब सोशल मीडिया यूज़र्स वीडियो को इस दावे से शेयर कर रहे हैं कि उन्हें मंच पर पांच मिनट भी बोलने नहीं दिया जा रहा है, बोलने से रोका जा रहा है। वीडियो इस कैप्शन के साथ वायरल है…

सत्ता के लिए उद्धव ठाकरे और कितना नीचे गिरेंगे और कितना अपमान सहेंगे अपनी बेइज्जती करवाएंगे। वर्धा में मंच पर कांग्रेसियों ने उद्धव ठाकरे को सभा संबोधित करने नहीं दिया उद्धव ठाकरे हाथ जोड़ते रहे पहले कहे अच्छा 5 मिनट बोलने दो कांग्रेसियों कहा नहीं हटो यहां से भागो। फिर ऊध्दव ठाकरे बोले अच्छा 1 मिनट बोलने दो कांग्रेसियों ने कहा नहीं और कुछ कांग्रेसियों ने उनका हाथ पकड़ कर उनको माइक से धकेल कर किनारे कर दिया। आज बाला साहब ठाकरे जहां भी होंगे यह देखकर उनको कितनी पीड़ा होती होगी।

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत में वीडियो को ध्यान से देखा। हमने देखा कि वीडियो में एक तरफ वर्धा और दूसरी तरफ टीवी 9 मराठी लिखा हुआ है। इसी को लेकर हमने यूट्यूब पर कीवर्ड्स से मूल वीडियो कि खोज शुरू की। 22 अप्रैल 2024 में टीवी9 मराठी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर हमें वायरल वीडियो का लम्बा वर्जन अपलोडेड मिला। इसमें 50 सेकेंड के बाद वाले हिस्से में देखने पर पूरी कहानी का पता चलता है। कुल 2 मिनट 23 सेकंड के इस वीडियो में एक मिनट 35 सेकेंड पर उद्धव ठाकरे मराठी में आसपास के लोगों को समझाते हुए कहते हैं, “समय की कमी को ध्यान में रखते हुए, मुझे निकलना भी है।” इसके बाद 2 मिनट पर दो आदमी उनके पास आ कर उनसे बोलने का आग्रह करते हैं। जिस पर ठाकरे कहते हैं, “मैं पांच मिनट बोलूंगा। “

आर्काइव

इससे यहां पर यह स्पष्ट हो जाता है कि, उद्धव ठाकरे को मंच पर बोलने से रोकने के बजाय उनको बोलने देने का आग्रह किया जाता है। इस पर वो समय की कमी के कारण खुद ही कहते हैं कि वह अपनी बात जल्दी समाप्त करेंगे। ऐसे में वायरल वीडियो के विषय में यह स्पष्ट होता है कि जो दावा वायरल वीडियो को लेकर किया गया है, वो पूरी तरह भ्रामक है।

आगे हमने इस वीडियो को जी 24 तास के यूट्यूब चैनल पर 22 अप्रैल में अपलोड किया हुआ पाया। वीडियो में देखा जा सकता है कि मंच पर मौजूद नेता महाराष्ट्र के पूर्व सीएम से 15 मिनट बोलने की गुजारिश करते हैं, लेकिन उद्धव ठाकरे पांच-सात मिनट संबोधन के लिए ही बोलते हैं।

आर्काइव

इस रैली के बारे में हम साम टीवी के यूट्यूब चैनल पर 23 अप्रैल में वीडियो अपलोड देख सकते हैं, जिसमें वायरल क्लिप को देखा जा सकता है। वीडियो के साथ यह कैप्शन है कि, महाविकास अघाड़ी उम्मीदवार के लिए उद्धव ठाकरे ने की बैठक। समय की कमी के कारण उन्हें जल्दी निकलना पड़ा, लेकिन एक एक्ट से उन्होंने कई लोगों का दिल जीत लिया।

निष्कर्ष-

तथ्यों के जांच से यह पता चलता है कि वायरल वीडियो को महाराष्ट्र के वर्धा है। जब महाविकास अघाड़ी-इंडी गठबंधन की रैली में अन्य नेता उद्धव ठाकरे से ज्यादा देर बोलने की गुजारिश कर रहे थे, लेकिन वह समय की कमी के कारण अपना संबोधन को जल्द समाप्त करने की बात कर रहे थे। इसलिए उनको बोलने से रोकने का गलत दावा किया गया है। 

Avatar

Title:कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा उद्धव ठाकरे को मंच पर बोलने से रोकने वाला वीडियो फेक और गलत दावे से वायरल…

Fact Check By: Priyanka Sinha 

Result: False

Leave a Reply