अमेरिका में हत्या की घटना को सांप्रदायिक रंग देकर महिला के साथ दुष्कर्म के दावे के नाम से वायरल।

False International Political

अमेरिका के एक वीडियो को ब्रिटेन में दुष्कर्म की घटना और आरोपी के मुस्लिम होने का फर्ज़ी दावा वायरल।

सोशल मीडिया पर एक पुलिस अधिकारी द्वारा चाकू लिए हुए एक व्यक्ति पर एक के बाद एक गोली चलाने फुटेज वायरल हुआ है। जिसमें दिखाई दे रहा है कि चाकू लिए हुए वो शख्स एक महिला के साथ अभद्रता कर रहा है। यूज़र्स द्वारा प्रसारित इस वीडियो के साथ दावा किया गया है कि ब्रिटेन में इस घटना को खुले आम सड़क पर अंजाम देने वाला ये शख्स मुस्लिम है। जिसने महिला का यौन उत्पीड़न करने की कोशिश की। यूज़र द्वारा वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा गया है कि…

ब्रिटेन की सड़कों पर बीच सड़क पर ब्रिटेन वालों की बेटी के साथ रेप की कोशिश कर रहा था। फिर क्या हुआ, हिंदुस्तान थोड़े ही है जो बाबा का झुनझुना बजाते रहो, जो इंसाफ होना चाहिए हुआ, इस निडर पुलिस वाले ने इस जिहादी को 72 हूरों के पास पहुंचा दिया। शांती के लिए न्याय बहुत जरूरी है।

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत के लिए गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। परिणाम में हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स मिली जिनसे ये पता चला कि वायरल वीडियो ब्रिटेन का नहीं, बल्कि अमेरिका के मैरीलैंड राज्य के बाल्टिमोर में 6 नवंबर 2022 को हुई घटना का है। डेली वॉइस की रिपोर्ट के अनुसार टायरी मूरहेड नाम के शख्स जिसने महिला पर चाकू से लैस होकर किया था उसे गोली मार दी गई थी। मूरहेड को बाल्टीमोर समुदाय में शहर के चारों ओर शूटिंग स्थलों पर स्प्रे-पेंटिंग “नो शूट ज़ोन” के लिए जाना जाता था। मैरीलैंड अटॉर्नी जनरल के कार्यालय के अनुसार बाल्टीमोर पुलिस अधिकारी जिसका नाम ज़ाचरी रदरफोर्ड था ने रविवार, 6 नवंबर की दोपहर को उत्तरी फुल्टन एवेन्यू और वेस्ट लाफायेट एवेन्यू के क्षेत्र में 46 वर्षीय टायरी मूरहेड को गोली मार दी। रिपोर्ट में महिला के बारे में यह बताया गया कि उसका इलाज़ किया गया था। 

ब्रेकिंग 11 न्यूज़ ने भी इस घटना को कवर करते हुए अपने वेबसाइट पर 8 नवंबर 2022 में रिपोर्ट प्रकाशित की है। जिसमें बाल्टीमोर पुलिस विभाग द्वारा जारी वीडियो में “हिंसा-विरोधी कार्यकर्ता” टायरी मूरहेड की घातक गोलीबारी के बारे में बताया गया है।

हमें अपनी खोज के दौरान WBAL-TV 11 Baltimore द्वारा यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो मिला जिसमें बाल्टिमोर पुलिस के मुताबिक वीडियो में दिखता युवक रेप की कोशिश नहीं, बल्कि लड़की की गर्दन पर चाकू रखकर उसे धमका रहा था। 

हमें बाल्टिमोर के लोकल जर्नल बाल्टिमोर बैनर की तरफ से प्रकाशित ख़बर यही जानकारी साझा की हुई मिली। जिसमें बाल्टिमोर पुलिस द्वारा वीडियो फुटेज साझा किये हुए मिले। रिपोर्ट में वीडियो फुटेज का लिंक बाल्टिमोर पुलिस की आधिकारिक यूट्यूब चैनल के हवाले से दर्शाया गया है।

निम्न में लिंक पर क्लिक कर बाल्टिमोर पुलिस द्वारा जारी किये फुटेज देखें।

डेली मेल की खबर में बाल्टीमोर में मूरहेड को एक महिला के ऊपर चाकू से हमला , और पुलिस द्वारा कार्यवाही में मूरहेड पर एक दर्जन से अधिक राउंड फायरिंग की विस्तृत खबर प्रकाशित है। जिसकी अस्पताल में मौत हो जाती है और पुलिस की कार्यवाही पर कुछ हद तक सवाल उठाये जाते हैं। 

इस प्रकार हम स्पष्ट होते हैं कि वायरल वीडियो में दिख रही घटना ब्रिटेन में महिला के साथ हुए बलात्कार से असंबंधित है। तथा चाकू ले कर हमला करने वाला शख्स मुस्लिम नहीं है।

निष्कर्ष 

तथ्यों के जांच से यह पता चलता है कि वायरल वीडियो में दिख रही घटना अमेरिका के मैरिलेंड में हुई। जिसके वीडियो को सोशल मीडिया पर गलत व सांप्रदायिक रंग देकर ब्रिटेन का बताकर शेयर किया जा रहा है। पूरा मामला न तो रेप की कोशिश का है और ना ही आरोपी मुस्लिम है।

Avatar

Title:अमेरिका में हत्या की घटना को सांप्रदायिक रंग देकर महिला के साथ दुष्कर्म के दावे के नाम से वायरल।

Written By: Priyanka Sinha 

Result: False

Leave a Reply