सूरत में तालाबंदी उल्लंघन का वीडियो दिल्ली के नाम से फैलाया जा रहा है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर एक वीडियो चर्चा का विषय बना हुआ है, जहाँ हम एक सार्वजनिक स्थान पर भारी भीड़ को देख सकतें है जो कि मौजूदा देशव्यापी लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करता है | सोशल मीडिया पर इस १५ सेकंड की क्लिप में, लोगों को बाजार में घूमते हुए देखा जा सकता है और बेकग्राउंड में एक मस्जिद भी देखी जा सकती है | इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि यह दृश्य दिल्ली के दरियागंज इलाके से है जहाँ लोग वर्तमान में लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे है |

आर्काइव लिंक 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

वायरल क्लिप को अकाली दल के नेता मनजिंदर एस सिरसा ने ट्विटर पर साझा करते हुए दावा किया कि यह दिल्ली से है और वे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कार्रवाई करने के लिए कह रहे हैं। उन्होंने बाद में कई उपयोगकर्ताओं के कमेंट करने के बाद अपने ट्वीट को हटा दिया |

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमें इस वीडियो को अलग अलग कीवर्ड्स से ढूँढने से की, जिसके परिणाम से हमें २६ अप्रैल २०२० को पत्रिका द्वारा प्रकाशित एक खबर प्राप्त हुई | खबर के अनुसार वीडियो को गुजरात के सूरत के लिम्बायत इलाके में मदीना मस्जिद के पास शूट किया गया था, जहां लोग इकट्ठा हुए थे | बाजार में लोगों के वीडियो वायरल होने के बाद सूरत पुलिस ने कार्रवाई की और मामले में २५ लोगों को गिरफ्तार किया और उनके खिलाफ तीन अलग-अलग मामले दर्ज किये गये हैं| 

आर्काइव लिंक

हमने २६ अप्रैल, २०२० को सूरत के पुलिस आयुक्त (सी.पी) आर.बी ब्रह्मभट्ट द्वारा घटना पर एक बयान प्राप्त हुआ, जिसमें कहा गया था कि लोग खरीदारी के लिए क्षेत्र में एकत्र हुए थे और इन में से कुछ लोगों की गिरफ्तारी की गई थी |  इस बयान को ANI के अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया |

आर्काइव लिंक

माजुरा (सूरत) से विधान सभा के एक मंत्री हर्ष संघवी ने भी वायरल वीडियो को यह कहते हुए ट्वीट किया था कि लिम्बायत पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर गिरफ्तारी की है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि यह वीडियो गुजरात के लिम्बायत का है | 

आर्काइव लिंक 

ABP लाइव गुजरात ने भी इस वीडियो को गुजरात से बताया है | उनके द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार यह वीडियो गुजरात से है, खबर में लिखा गया है कि ‘सूरत के लिंबायत इलाके में दिखा सामाजिक दूरी का अभाव, लोग बिना मास्क के बाजार में देखे गए |”

आम आदमी पार्टी के सोशल मीडिया टीम के कपिल ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से इस वीडियो को गुजरात से होने का दावा किया है | साथ ही उन्होंने यह भी लिखा है कि अकाली दल के मजिंदर सिरसा ने इस वीडियो को गलत तरीके से दिल्ली का बताया है |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो असल में गुजरात के लिम्बयत क्षेत्र से है जिसे गलत तरीके से दिल्ली के नाम से फैलाया जा रहा है | 

Avatar

Title:सूरत में तालाबंदी उल्लंघन का वीडियो दिल्ली के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •