ये वीडियो लॉकडाउन से दो दिन पूर्व का है और ये मुंबई के डोंगरी से है |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर लॉकडाउन उल्लंघन को दर्शाते हुये कई वीडियो और तस्वीरें वाइरल हो रही हैं, इनमे से अधिकतर दावे या तो गलत होतें है या फिर गलत विवरण के साथ भ्रामक रूप से फैलाये जातें हैं, ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में है, वीडियो में कई लोगों को एक मस्जिद से बाहर निकलते हुए देखा जा सकता है और एक व्यक्ति को यह कहते हुए सुना गया है कि इस क्षेत्र में धारा १४४ लागू है | वीडियो में व्यक्ति पूछता है, “क्या आपके लिए नियम लागू नहीं होते?” इस वीडियो के माध्यम से सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो गुजरात के अहमदाबाद के जमालपुर क्षेत्र से है जहाँ लोग वर्तमान लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर रहे है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच कि शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड टूल के मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम में हमें २५ मार्च २०२० को प्रकाशित एक न्यूज़ बुलेटिन मिला, इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “* ब्रेकिंग अलर्ट: – * मस्जिद डोंगरी में अभी स्थानीय पुलिस, एसीपी अविनाश धर्माधिकारी द्वारा बंद किया गया है |”

इस वीडियो को न्यूज़ २४ इंडिया ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपलोड करते हुए लिखा है कि यह वीडियो मुंबई के डोंगरी क्षेत्र से है जहाँ स्थानीय पुलिस ने मस्जिद को बंध कर दिया है |

आर्काइव लिंक  

हमने गूगल पर उक्त कैप्शन से संबंधित कीवर्ड को खोजा और परिणाम से हमने पाया कि २४ मार्च को पीटीआई ने इस सम्बन्ध में एक लेख प्रकाशित किया था, इस खबर के शीर्षक में लिखा गया है कि “मुंबई लॉकडाउन: 150 लोगों को नमाज़ अदा करते हुए पाया गया, आदेशों की अवहेलना करने के लिए मस्जिद के ट्रस्टियों के खिलाफ एफ.आई.आर दर्ज की गई |” लेख में उल्लेख किया गया है कि घटना २३ मार्च को हुई थी और जब पुलिस को जानकारी मिली कि १०० – १५० लोग सी.आर.पी.सी की धारा १४४ की अवहेलना करते हुये प्रतिबंध विधानसभा क्षेत्र में जारी आदेशों के बावजूद मस्जिद के अंदर नमाज अदा कर रहे हैं |

यह घटना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देशव्यापी तालाबंदी लागू किए जाने से दो दिन पहले की है | रिपोर्ट के अनुसार ए.सी.पी अविनाश धर्माधिकारी के नेतृत्व में एक टीम मौके पर पहुंची और लोगों को जगह छोड़ने के लिए कहा | 

मुंबई मिरर ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए कहा है कि यह वीडियो मुंबई के डोंगरी में टेमकर मोहल्ला मस्जिद से है |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर लॉक डाउन का उल्लंघन करने का वीडियो गुजरात के जमालपुर क्षेत्र से नही है बल्कि मुंबई के डोंगरी से है और ये देशव्यापी लॉकडाउन से दो दिन पूर्व की घटना है | 

Avatar

Title:ये वीडियो लॉकडाउन से दो दिन पूर्व का है और ये मुंबई के डोंगरी से है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •