FAKE NEWS: गृह मंत्री अमित शाह द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कुशल कोरोना प्रबंधन व आगामी चुनावों को लेकर लिखा प्रशस्ति पत्र फर्जी है।

Coronavirus False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्ष २०२२ में प्रस्तावित उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव व कोरोना की दूसरी लहर के कुशल प्रबंधन और राज्य में सफल टिका पंजीकरण अभियान को लेकर गृह मंत्री अमित शाह द्वारा लिखा एक कथित प्रशस्ति पत्र ईन दिनों इन्टरनेट पर काफी चर्चा में है, सोशल मंचो पर एक पत्र की तस्वीर साझा कर ये कहा जा रहा है कि ये पत्र भारतीय गृह मंत्री द्वारा जारी किया गया, दावे के मुताबिक गृह मंत्री अमित शाह ने यह पत्र उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा है, जिसमें उन्होंने कोरोना वायरस महामारी की स्थिति संभालने के लिये मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की तारीफ की है व आगामी उत्तर प्रदेश चुनाव के विषय में लिखा है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है

उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 से पहले भाजपा की हेराफेरी। कृपया अमित शाह की इस असंवैधानिक कार्रवाई को उठाएं।“

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही तस्वीर में दिख रहा पत्र फर्ज़ी है। गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को ऐसा कोई पत्र नहीं लिखा है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे दावे को गूगल पर कीवर्ड सर्च की, परिणाम में हमें ऐसा कोई समाचार लेख नहीं मिला जो इस बात की पुष्टि करता हो कि गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कोरोना वायरस की दूसरी लहर में उत्तर प्रदेश की स्थिति संभालने के लिये मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की तारीफ व आगामी उत्तर प्रदेश के चुनाव के सम्बंध में बात की है।

इसके पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने इस पत्र की प्रमाणिकता जानने हेतु गृह मंत्रालय के मीडिया एवं संचार विभाग के महानिदेशक नितिन वकंनकर के संपर्क किया व इस सन्दर्भ में उनके द्वारा हमें बताया गया कि “वायरल हो रहा यह पत्र फर्ज़ी है। गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ऐसा कोई पत्र नहीं लिखा है।

हमें पी.आई.बी फैक्ट चेक द्वारा  इस वर्ष 7 जून को किया गया एक ट्वीट भी मिला व उसमें भी इस पत्र को फर्ज़ी बताया गया है। ट्वीट में लिखा है, “केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को कथित रूप से लिखा गया एक पत्र सोशल मीडिया पर प्रचलन में है। पी.आई.बी फैक्ट चेक ने इस पत्र को फर्ज़ी पाया है। केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा ऐसा कोई पत्र नहीं लिखा गया है।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त गलत है। वायरल हो रही तस्वीर में दिख रहा पत्र फर्ज़ी है। गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को ऐसा कोई पत्र नहीं लिखा है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. चार वर्ष पुराने वीडियो को चक्रवात तौकते का बता वायरल किया जा रहा है।

२. उत्तरप्रदेश के बिजौली गांव में बुजुर्ग द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का रास्ता रोकने की ख़बर गलत व भ्रामक है। 

३. साउदी अरब के पुराने वीडियो को चक्रवाती तूफान तौकते से ट्राइडेंट हॉटेल को हुई क्षति का बता वायरल किया जा रहा है।

Avatar

Title:FAKE NEWS: गृह मंत्री अमित शाह द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कुशल कोरोना प्रबंधन व आगामी चुनावों को लेकर लिखा प्रशस्ति पत्र फर्जी है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •