लखनऊ में मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति को बच्चा चोर बताकर पुलिस के हवाले किया गया ।

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

९ सितम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Shoaib Zafar’ नामक यूजर द्वारा एक वीडियो अपलोड किया गया था, जिसमे एक युवक को पुलिस पकड़कर ले जाते हुए दिखाई देती है और आस पास जमी भीड़ उन्हें ‘बच्चा चोर’ के नाम से पुकार रही है | वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि “7 September 2019 Aaj Subah Lalbagh Emma thompson School ke pass baccha Chor Pakda Gaya school ke driver ne uska Picha Karke usko Pakda Ek bacche se Kah Raha Tha gadi Mein Baitho mobile Tumko Denge kripya yah message Jyada Se Jyada share Karen” इस पोस्ट के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि ‘वीडियो में दिखाया गया युवक, लालबाघ का बच्चा चोर है |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

बच्चा चोरी के सन्दर्भ में फ़िलहाल सोशल मीडिया में कई दावे वायरल हो रहे हैं | अक्सर ऐसे मामलों में लोग ग़लतफ़हमी का शिकार रहे हैं और वृद्ध, ग़रीब या मानसिक रूप से अस्वस्थ लोगों को बच्चा-चोर समझकर पीटते हुये पुलिस थाने ले जा रहे हैं | हमने हाल ही में ऐसे कई गलत दावों का पर्दाफाश किया है | इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए हमने इस पोस्ट की सत्यता जानने हेतु जांच की | जांच की शुरुवात हमने सबसे पहले गूगल में ‘Emma thompson school lalbagh’ कीवर्ड्स को ढूंढकर की, तो हमें पता चला कि यह स्कूल उत्तर प्रदेश लखनऊ के लालबाघ में स्थित है |

जब हमने लालबाघ इलाके के पुलिस थाने के बारे में पता किया, तो पता चला कि लालबाघ इलाका दो पुलिस थाने के अंतर्गत आता है – कैसरबाघ और हज़रतगंज पुलिस थाना | इसके बाद हमने कैसरबाघ थाना के SHO अजय कुमार सिंह से संपर्क किया तो उन्होंने इस बात कि सबसे पहले पुष्टि की कि Emma Thompson School उनके थाने के अंतर्गत ही आता है, फिर इस वीडियो को देखने पर उन्होंने कहा कि, “यह घटना ५-६ दिन पहले की है | वीडियो में दिखने वाला युवक मानसिक रूप से अस्वस्थ है | स्कूल में अपने बच्चे को छोड़ने आये एक व्यक्ति को इसके अलग व्यवहार के कारण शक़ हुआ और उन्हें फिलहाल में सोशल मंचो पर हो रही बच्चा चोरी की ख़बरों के चलते ये लगा कि कहीं यह युवक भी बच्चा चोर तो नहीं हैं | इसलिए उन्होंने पुलिस के पास शिकायत दर्ज की, जब इस युवक के घरवालों को बुलाया गया तो पता चला कि यह युवक मानसिक रूप से अस्वस्थ है – तब शिकायत दर्ज करने वाले व्यक्ति ने भी अपनी शिकायत वापिस ले ली |”

इसके बाद हमने लखनऊ के SP विक्रांत वीर से संपर्क किया, तो यह वीडियो देखकर उन्होंने हमें बताया कि, “यह व्यक्ति बच्चा चोर नहीं है और ऐसी कोई भी बच्चा चोरी की घटना  हमारे इलाके में नहीं हुई है व ना ही कोई बच्चा चोर पकड़ा गया है |”

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि पोस्ट में दर्शाया गया युवक बच्चा चोर नहीं है और यह घटना लखनऊ के लालबाघ में कैसरबाघ इलाके की है | यह युवक मानसिक रूप से अस्वस्थ है और लोगों ने शक के घेरे में आकर इसे बच्चा चोर समझा | मगर इस युवक के परिवार वालों के बयान व सबूत देने पर सारा मामला रफादफा हो गया |

जांच का परिणाम : उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘वीडियो में दिखाया गया युवक, लालबाघ का बच्चा चोर है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:लखनऊ में मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति को बच्चा चोर बताकर पुलिस के हवाले किया गया ।

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •