अगस्त २०१६ की तस्वीर को वर्तमान में हुये पश्चिम बंगाल ट्रेन पथराव का बता फैलाया जा रहा है |

False International Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१७ दिसम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Manoj Thakur द्वारा किये गय पोस्ट में एक ज़ख़्मी बच्चे की तस्वीर साझा की गयी है | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, पश्चिम बंगाल मे बंगलादेशियों, रोहंगिया तथा कुछ भारत के गद्दार लोगो द्वारा किया गया ट्रेन पर पथराव से बच्चे की आंख फूट गई, इसका जिम्मेदार कौन है ? इस बच्चे का CAB से क्या लेना देना है ये बच्चा अपने माता पिता के साथ ट्रैन से यात्रा कर रहा था । यात्रा के दौरान CAB का विरोध कर रहे लोगो ने बंगाल मैं ट्रेन पर पथराव किया और बच्चे को चोट लग गई आँख नही बच पाई ये कैसा विरोध है और ये विरोध क्यों है ? इस बालक के स्थान पर स्वयं को एक क्षण रखकर विचार अवश्य करें । “हे राम !” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘वर्तमान में पश्चिम बंगाल के ट्रेन पथराव में एक छोटे बच्चे की आंख फूट गयी, उसकी तस्वीर |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस तस्वीर को हमने सबसे पहले यांडेक्स इमेज सर्च पर ढूंढा, तो हमें यह तस्वीर सबसे पहले ‘Mahmoud’ नामक एक यूजर द्वारा १५ नवम्बर २०१६ को ट्वीट की हुई मिली | इस ट्वीट में इस तस्वीर को सीरिया में स्थित अलेप्पो की घटना बताया गया है |

TweetLink

इसके अलावा हमें इस सन्दर्भ में ‘Defense-Arab’ नामक वेबसाइट पर २० मई २०१७ को प्रकाशित एक ख़बर मिली, जिसमे भी इस बच्चे की तस्वीर दी गयी थी, ख़बर में सीरिया में रूस द्वारा किये गए हमले के बारे में जानकारी दी गयी है | पूरी ख़बर को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

Defense-arabPost | ArchivedLink

यह तस्वीर सबसे पहले किसने साझा की है, इसका श्रोत तो हमें बरामद नहीं हुआ मगर इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर अगस्त २०१६ से ही इंटरनेट पर सीरिया से पीड़ित बच्चे के नाम से उपलब्ध है | इस तस्वीर का वर्तमान में पश्चिम बंगाल में CAB के विरोध में हुये ट्रेन पथराव से कोई संबंध नहीं है | यह तस्वीर गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रही है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “वर्तमान में पश्चिम बंगाल के ट्रेन पथराव में एक छोटे बच्चे की आंख फूट गयी |” ग़लत है |

Avatar

Title:अगस्त २०१६ की तस्वीर को वर्तमान में हुये पश्चिम बंगाल ट्रेन पथराव का बता फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •