क्या बंगला भाषा आधिकारिक रूप से लंदन में दूसरी सबसे ज़्यादा बोली गई भाषा घोषित की गई है?

False International
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फोटो क्रेडिट्स- डेली एशियन ऐज

सैकड़ों सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने दावा किया है कि अब बांग्ला भाषा को आधिकारिक रूप से ‘लंदन की दूसरी भाषा के रूप में घोषित किया गया है, उसके बाद पोलिश और तुर्की भाषा है |
गेटबेंगल और सनराइज टुडे नाम की वेबसाइट ने अपने लेख में एक लिंक साझा किया है जिसमें दावा किया गया है “बंगाली को आधिकारिक तौर पर लंदन में दूसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा के रूप में नामित किया गया है, इसके बाद पोलिश और तुर्की हैं | बंगाली पर गर्व करें, अपनी मातृभाषा पर गर्व करें!” 

लेख में दावा किया गया है, बंगाली आधिकारिक तौर पर लंदन की दूसरी भाषा है, जिसमें लगभग १६५,३११  लंदन निवासी इसे अपनी मुख्य भाषा के रूप में बोलते हैं | क्या बंगला भाषा को आधिकारिक रूप से लंदन की दूसरी भाषा घोषित किया गया है?

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक | वेबसाइट लिंक | आर्काइव लिंक | वेबसाइट लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने गूगल पर कीवर्ड्स के माध्यम से यह जानने की कोशिश की क्या बंगला भाषा को लंदन की दूसरी भाषा घोषित करने की घोषणा ब्रिटिश सरकार द्वारा की गई थी, लेकिन परिणाम में हमें ऐसी कोई आधिकारिक घोषणा नही मिली | हमें सिटी लिट नामक एक वेबसाइट का लिंक मिला जो एक निजी संगठन है जिसने हाल ही में लंदन में बोली जाने वाली भाषाओं पर सर्वेक्षण किया था |

आर्काइव लिंक

१९ नवंबर २०१९ को, सिटी लिट ने एक रिसर्च रिपोर्ट प्रकाशित की, जिसमें बताया गया है कि बंगला लंदन में बोली जाने वाली दूसरी सबसे आम भाषा है | रिपोर्ट में कहा गया है कि “हमने हाल ही में लंदन में सबसे आम विदेशी भाषा पर शोध किया है | हमारे शोध से पता चलता है कि बंगाली भाषा अंग्रेजी के बाद लंदन में बोली जाने वाली दूसरी सबसे आम भाषा है, जिसके बाद पोलिश और तुर्की भाषा है | लंदन में ७१६०९  निवासी बंगाली भाषा बोलते हैं और यह भाषा आमतौर पर तीन अलग-अलग बोरो – कैमडेन, न्यूहैम और टॉवर हैमलेट्स – शहर के तीन विशाल हिस्सों में बोली जाती है, पर ये ज्ञात रहे कि सिटी लिट लन्दन स्तिथ निजी स्वतंत्र व्यस्क शैक्षणिक संस्था है और इसका ब्रिटिश सरकार के आधिकारिक सर्वेक्षणों से कोई सम्बन्ध नहीं है | 

इसके पश्चात हमने लन्दन के सेन्सस २०११ की रिपोर्ट ढूँढ़ी, सेन्सस डाटा के अनुसार २०११ की जनगणना में, इंग्लैंड और वेल्स में तीन वर्ष से अधिक आयु के ९२.३ प्रतिशत लोगों (४९.८  मिलियन) ने अंग्रेजी को अपनी मुख्य भाषा (वेल्स में अंग्रेजी या वेल्श) के रूप में रिपोर्ट किया व शेष ७.७ प्रतिशत आबादी (४.२ मिलियन) ने अंग्रेजी के अलावा एक अन्य मुख्य भाषा को रिपोर्ट किया | ५४६,००० लोगों (जनसंख्या का १.० प्रतिशत) के साथ अंग्रेजी के बाद पोलिश सबसे आम भाषा थी |

पोलिश के बाद अगली सबसे आम मुख्य भाषाएँ दक्षिण एशिया से थीं, पंजाबी (२७३,००० लोग) और उर्दू (२६९,०००), जिनमें से प्रत्येक ०.५ प्रतिशत थे | इसके अलावा बंगाली (सिलहटी और चटगाय, २२१,०००) और गुजराती (२१३,०००) प्रत्येक के साथ ०.४ प्रतिशत थी | इसके बाद ०.३ फीसदी के साथ अरबी (१५९,०००) और फ्रेंच (१४७,०००) भाषा थी | 

रिपोर्ट के अनुसार लंदन में अंग्रेजी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है | लन्दन में १.९  प्रतिशत (१४८,०००) लोगों की मुख्य भाषा के रूप में अंग्रेजी के बाद पोलिश मुख्य भाषा रिपोर्ट की गई थी | बंगाली (सिलहटी और चटगाय) और गुजराती १.५ प्रतिशत (११४,०००) और १.३ प्रतिशत (१०२,०००) के साथ इसके बाद आते हैं |

ब्रिटिश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट का कहना है कि अगली जनगणना २०२१ में आयोजित की जाएगी| | इसलिए यह स्पष्ट है कि उस सर्वेक्षण के बाद ही हमें यूके और लंदन में बोली जाने वाली भाषाओं का अपडेट मिलेगा | यदि ऐसा कोई बड़ा निर्णय लिया जाता, तो यह प्रतिष्ठित मीडिया संगठनों द्वारा कवर किया जाता |

इस विषय पर जब हमने लंदन स्तिथ जनगणना विभाग में संपर्क किया तो वहां के  जनगणना कार्यक्रम अधिकारी रिचर्ड कैमरून ने हमें ईमेल द्वारा बताया कि सिटीलीट द्वारा किये गये सर्वे का कोई आधिकारिक अस्तित्व नहीं हैं , सिटीलाइट मध्य लंदन में स्थित एक लंबे समय से स्थापित वयस्क शिक्षा महाविद्यालय है और उनके द्वारा घोषित सर्वे रिजल्ट्स को किसी भी रूप में सरकारी घोषणा नहीं समझा जाना चाहिए.

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | बंगाली भाषा को आधिकारिक तौर पर लंदन की दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा नही घोषित किया गया है |  

Avatar

Title:क्या बंगला भाषा आधिकारिक रूप से लंदन में दूसरी सबसे ज़्यादा बोली गई भाषा घोषित की गई है?

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •