यह तस्वीर २०१६ को पुणे में मराठा क्रांति मोर्चा की रैली से है।

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१७ दिसम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Alex Raj Prince द्वारा किए गये पोस्ट में एक तस्वीर साझा की गयी है, जिसके विवरण में लिखा है कि, CAB के समर्थन में लाखों हिन्दू भगवा झंडे के साथ बंगाल में निकले | करारा जवाब मिलेगा | अब होगी हिन्दू राष्ट्र कि बात | जय जय श्री राम |” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘CAB के समर्थन में लाखों हिन्दू भगवे झंडे के साथ बंगाल में निकले |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पोस्ट में साझा तस्वीर को गौर से देखने पर हमें इसमें एक बोर्ड दिखा, जिसमें लिखा हुआ नंबर ०२० से शुरू होता है | यह क्रमांक महाराष्ट्र में स्थित पुणे शहर का STD कोड है, मगर उपरोक्त दावे में बताया गया कि यह बंगाल की घटना है, जिसके चलते हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च पर ढूंढा, तो हमें यह तस्वीर १५ अक्टूबर २०१६ को फेसबुक पर साझा मिली | 

इसके अलावा यह तस्वीर हमें ‘MaharashtraTimes’ द्वारा ३ अक्टूबर २०१६ को प्रकाशित मिली, जिसमें इस तस्वीर को २५ सितम्बर २०१६ को पुणे शहर में किये गए ‘मराठा क्रांति मोर्चा’ का विरोध प्रदर्शन बताया गया है | 

Maharashtratimes.indiatimes.com | ArchivedLink

जब हमने इस घटना के बारे में गूगल पर ‘Maratha kranti morcha Pune, 2016’ कीवर्ड्स को ढूंढा, तो हमें इस सम्बंध में कई समाचार वेबसाइटों पर is संदर्भ में ख़बरें मिलीं | इन ख़बरों के अनुसार १६ जुलाई २०१६ को अहमदनगर जिले के कोपर्दी गांव में एक १३ वर्षीय नाबालिका के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी गयी थी | पीड़िता मराठा सामुदाय से होने के कारण, इस सामुदाय के लोगों ने पूरे महाराष्ट्र में जगह-जगह जल्द न्याय पाने की गुहार के लिए यह मोर्चे निकाले थे | पूरी ख़बर पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

PTInews | ArchivedLinkIndiatodayNews | ArchivedLink
FirstpostNews | ArchivedLinkMITkatAdvisory | Archive

इसके अलावा जब हमने गूगल पर पश्चिम-बंगाल में किये गये उपरोक्त दावे के बारे में अलग-अलग की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें ऐसी कोई भी ख़बर नहीं मिली, जिसमें हिन्दुओं द्वारा तथाकथित मोर्चे के बारे में कोई भी जानकारी हो |

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर २५ सितम्बर २०१६ को महाराष्ट्र के पुणे शहर में किये गए ‘मराठा क्रांति मोर्चा’ के विरोध प्रदर्शन की है और वर्तमान में पश्चिम बंगाल से इस तस्वीर का कोई संबंध नहीं है | यह तस्वीर गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलायी जा रही है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “CAB के समर्थन में लाखों हिन्दू भगवा झंडे के साथ बंगाल में निकले |” ग़लत है |

Avatar

Title:यह तस्वीर २०१६ को पुणे में मराठा क्रांति मोर्चा की रैली से है।

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •