खरगोन में हुई पत्थरबाजी के वीडियो को उत्तर प्रदेश का बता वायरल किया जा रहा है।

Partly False Social

इस वीडियो का हाल ही में हो रही हिंसा या उत्तर प्रदेश से कोई संबन्ध नहीं है। यह खरगोन में रामनवमी के समय हुई हिंसा का वीडियो है।

नूपुर शर्मा विवाद से जोड़कर इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें आप लोगों को छत से पत्थरबाजी करते हुये देख सकते है। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो उत्तर प्रदेश का है।

वायरल हो रहे पोस्ट के साथ यूज़र ने लिखा है, अरे योगी JCB नहीं बुलाओगे, JCB सिर्फ मुसलमानों के घर पर ही चलेगा क्या? याद रखना वक्त हमेशा एक जैसा नही रहता है।

फेसबुक 


Read Also: दहेज में बाइक की डिमांड करने पर क्या दूल्हे को जमकर पिटा गया? जानिए इस वायरल वीडियो का सच


अनुसंधान से पता चलता है कि…

गूगल रिवर्स इमेज सर्च से यही वीडियो समीउल्लाह खान नामक एक पत्रकार के ट्वीटर हैंडल पर 14 अप्रैल को शेयर किया हुआ मिला। इसके साथ दी गयी जानकारी में उन्होंने बताया है कि यह वीडियो मध्य प्रदेश के खरगोन का है। उसमें लिखा है कि हिंदू समुदाय के लोग मुस्लिम आबादी के तौदी मोहल्ले पर पथराव कर रहे है।

आर्काइव लिंक

फिर हमने समीउल्लाह खान से संपर्क किया तो उन्होंने हमें बताया कि “वायरल हो रहा वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं, बल्की मध्य प्रदेश के खरगोन का है। इसका हाल ही में चल नूपुर शर्मा के विवाद से कोई संबन्ध नहीं है। इस साल अप्रैल के महीने में रामनवमी के अवसर पर खरगोन में दंगे व हिंसा हुई थी, यह वीडियो तब का है। यह खरगोन के तोड़ी मोहल्ले का दृश्य है।“

15 अप्रैल को प्रकाशित आर. भारत के लेख में बताया गया है कि खरगोन में 10 अप्रैल को रामनवमी के अवसर पर एक जुलूस निकाला गया था। इस दौरान हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों में झड़प हो गयी। दोनों पक्षों ने पथराव किया, घरों और वाहनों को आग लगायी व बंदुक से गोलियाँ भी चलायी गयी। इस हिंसा में पुलिस अधिकारी व कई लोग घायल हुये थे। इस वजह से शहर में कर्फ्यू लगाया गया था। इस घटना के बाद पुलिस ने लगभग 175 लोगों को गिरफ्तार किया था।

आप आर.भारत के यूट्यूब चैनल पर 14 अप्रैल को प्रसारित वीडियो भी देख सकते है। उसमें खरगोन में हुई पत्थरबाजी का दृश्य बताया गया है।

आर्काइव लिंक


Read Also: क्या कोलकाता में प्रदर्शनकारियों ने एक पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी?


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। यह खरगोन में रामनवमी के समय हुई हिंसा का है। इसका वर्तमान या उत्तर प्रदेश से कोई संबन्ध नहीं है।

Avatar

Title:खरगोन में हुई पत्थरबाजी के वीडियो को उत्तर प्रदेश का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Samiksha Khandelwal 

Result: Partly False

Leave a Reply