वाराणसी के ‘नव पुनर्निर्मित’ मणि मंदिर के वीडियो को काशी विश्वनाथ मंदिर का बताया जा रहा है |

False Social

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि ये वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर का है | सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं का दावा हैं कि ये दृश्य मंदिर के नव पुनर्निर्मित होने के बाद का हैं | वीडियो में एक मंदिर में कई हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियां और शानदार नक्काशी वाली छत देखी जा सकती है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

“नव पुनर्निर्मित काशी विश्वनाथ मंदिर, वाराणसी”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि….

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो वाराणसी के मणि मंदिर का है, जिसका उद्घाटन पिछले साल फरवरी में हुआ था |

जाँच की शुरुवात इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर व गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से किया जिसके परिणाम से हमें यूट्यूब पर एक सदृश्य वीडियो उपलब्ध मिला जिसे २१ अगस्त २०२० को अपलोड किया गया था | वीडियो में इस मंदिर को वाराणसी में दुर्गाकुंड का मणि मंदिर बताया गया | 

इसके पश्चात हमने इस वीडियो को मणि मंदिर की वेबसाइट पर भी उपलब्ध पाया, हमने गूगल मैप पर मौजूद मणि मंदिर की कुछ तस्वीरें देखीं | मैप पर मौजूद मणि मंदिर की तस्वीरों और वायरल वीडियो में कई समानताएं दिखी जिन्हें आप नीचे देख सकतें है |

हमने पाया कि मणि मंदिर श्री धर्म संघ नामक एक धार्मिक संगठन द्वारा चलाया जाता है। इसकी वेबसाइट पर मंदिर की कई तस्वीरें और वीडियो हैं जो वायरल वीडियो में दिख रहे समान संरचना और स्थापित लिंगों को दिखाते हैं |

अमरउजाला द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार वाराणसी में मणि मंदिर के नवीनीकरण के बाद मंदिर का उद्घाटन पिछले साल फरवरी में हुआ था |

ऐतिहासिक काशी विश्वनाथ मंदिर को जीर्णोद्धार अभियान में नया रूप मिलेगा या नहीं, इसकी पुष्टि के लिए फैक्ट क्रेसेंडो ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट के सीईओ सुनील वर्मा से बातचीत की | उन्होंने हमें बताया कि “मुख्य मंदिर, गर्भगृह या मंदिर के आसपास के क्षेत्रों में कुछ भी बदलने की कोई योजना नहीं है | यह अपने पुराने वैभव के साथ वैसे ही रहेगा |” उनके मुताबिक इस साल १५ नवंबर तक बड़े पैमाने पर विस्तार और सौंदर्यीकरण का प्रोजेक्ट पूरा कर लिया जाएगा |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त वीडियो के साथ किये गये दावे को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो वाराणसी के मणि मंदिर का है, जिसका उद्घाटन पिछले साल फरवरी में हुआ था | हालांकि वाराणसी में सौंदर्यीकरण परियोजना जोरों पर है, लेकिन इन सौंदर्यीकरण परियोजनाओं से मुख्य काशी विश्वनाथ मंदिर, गर्भगृह और आसपास के क्षेत्र अपरिवर्तित रहेंगे |

हमारे द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:-

1. सिलीगुड़ी में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उनके भाषण में कहे “चोरी सम्बंधित” वक्तव्य को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है |

2. श्रीनगर में डल झील के किनारे अतिक्रमण हटाने के वीडियो को रोहिंग्याओं मुस्लिमों की अवैध बस्तियों को ध्वस्त करने का बता फैलाया जा रहा है| 

3. 

Avatar

Title:वाराणसी के ‘नव पुनर्निर्मित’ मणि मंदिर के वीडियो को काशी विश्वनाथ मंदिर का बताया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •