जयप्रकाश मजूमदार के 2019 का वीडियो हालिया लोकसभा चुनाव से जोड़ कर वायरल….

False Political

2019 में जयप्रकाश मजूमदार की कुछ लोगों ने पिटाई कर दी थी। तब वो बीजेपी में थे। लेकिन साल 2022 में बीजेपी ने निलंबित कर दिया था। 

कुछ लोगों द्वारा एक नेता को पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है । वीडियो को लोकसभा चुनाव 2024 से जोड़ते हुए दावा किया जा रहा है कि वोट मांगने गए भारतीय जनता पार्टी के नेता को लोगों ने जमकर पीटा।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- भाजपा नेता, ये गलत हो रहा है, बीजेपी नेताओं के हालात, परेशान हो गई अब जनता‘.  अबकी बार 400 लात-घुसा!”

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के कुछ तस्वीरों का रिवर्स इमेज किया। परिणाम में वायरल वीडियो की रिपोर्ट हमें आजतक के पेज पर मिली। ये खबर 25 नवंबर 2019 में प्रकाशित की गई है। खबर में वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट को इस्तेमाल किया गया है। इससे ये स्पष्ट होता है कि वायरल वीडियो का हालिया लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है। 

प्रकाशित खबर के अनुसार, वायरल वीडियो पश्चिम बंगाल में हुए उपचुनाव के दौरान का है। करीमपुर विधानसभा क्षेत्र में मतदान के दिन तत्कालीन बीजेपी नेता जयप्रकाश मजूमदार को लोगों ने पीटा था। इस दौरान बीजेपी ने आरोप लगाया था कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जयप्रकाश मजूमदार को पीटा था।

मिली जानकारी की मदद लेते हुए हमने आगे की जांच की। परिणाम में वायरल वीडियो की खबर में यहां, यहां और यहां पर भी मिली। खबरों के अनुसार 2019 में जब पश्चिम बंगाल की तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे, इसी बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता और करीमपुर विधानसभा उपचुनाव के उम्मीदवार जॉय प्रकाश मजूमदार के साथ नदिया जिले के फीपुलखोला इलाके में मतदान केंद्र में दाखिल होते समय तृणमूल कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर मारपीट की। तब जॉय प्रकाश मजूमदार ने तृणमूल के गुंडों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था कि जख्म भर जाएंगे लेकिन यह घटना पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र के अंत का स्पष्ट संकेत है।

जयप्रकाश मजूमदार अब तृणमूल कांग्रेस में हैं- 

गूगल सर्च में हमें पता चला कि साल 2022 में जयप्रकाश मजूमदार को बीजेपी से निलंबित कर दिया गया था, जिसके कुछ समय बाद ही वो टीएमसी में शामिल हो गए थे। 

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, वीडियो साल 2019 का है। तथा इसका हालिया लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है। 2019 में जयप्रकाश मजूमदार के बीजेपी में रहते कुछ लोगों ने पिटाई कर दी थी। जिसके बाद साल 2022 में बीजेपी ने मजूमदार को निलंबित कर दिया था। फिर वो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे। इसलिए उनके पिटाई का गलत दावा किया गया है।

Avatar

Title:जयप्रकाश मजूमदार के 2019 का वीडियो हालिया लोकसभा चुनाव से जोड़ कर वायरल….

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: False

Leave a Reply