क्या इस तस्वीर में कोरोना वैक्सीन लेती हुई लड़की रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी है? जानिए इस तस्वीर के पीछे का सच…

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Putin daughter3.png

हाल ही में रूस ने दुनिया की सबसे पहली कोविड-19 की वैक्सीन का प्रक्षेपण किया है, इसी से संदर्भित विभिन्न सोशल मंचो पर एक तस्वीर काफी चर्चा में है जिसमे एक लड़की को वैक्सीन लेते दिखाया गया है, इस लड़की को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी बताया जा रहा है जिन्होंने दुनिया में सबसे पहले कोविड-19 की वैक्सीन प्राप्त की है।

वाईरल हो रहें मैसेज में लिखा है, अभिनंदन, ये रूष के राष्ट्रपति पुतिन जा की बेटी हैं जिन्होने दुनिया का पहला कोरोना वैक्सीन टिका लगा…!! इजराइल के पीएम के बेटे तक फौज मे है, वही रुस के राष्ट्रपति ने सबसे पहले अपनी बेटी पर प्रयोग कर जो जोखिम लिया ऐसी श्रेष्टता और त्याग से ही देश अव्वल है, और ये जनप्रिय है! भारत में ऐसा कोई नेता सामने नहीं आते जो ये जोखिम लेकर एक उदाहरण प्रस्तुत करते है यही तो उच्चकोटी के नेतृतेव के गुण है! और इसी त्याग और समर्पण से देश भी महान बनता है!”

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Putin daughter1.png

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस तस्वीर को सोशल मीडियो पर वाईरल हो रहें दावे के साथ काफी साझा किया गया है। आपको बता दें कि सोशल मंचों पर इसी सन्दर्भ में कई वीडियो भी वाईरल हो रहें है जिसमें वाईरल तस्वीर में नज़र आ रहीं लड़की को वैक्सीन दिया जा रहा है।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Putin daughter4.png

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने रीवर्स इमेज सर्च के माध्यम से इस तस्वीर की खोज की जिसके परिणाम में हमें ट्वीटर पर पोस्ट किया हुआ एक वीडियो मिला। नादेज्दा सोरोकिना नामक एक ट्वीटर उपभोक्ता ने इस वीडियो को ट्वीट किया था और पोस्ट में रूसी भाषा में शिर्षक लिखा था कि “बर्डेनको अस्पताल में स्वयंसेवकों के दूसरे समूह के प्रयोग में 20 प्रतिभागियों को कोरोनोवायरस वैक्सीन के दूसरे घटक के साथ इंजेक्ट किया गया था। अब उन्हें अच्छा लग रहा हैं।“ 

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने कीवर्ड सर्च के ज़रिये इस उपक्रम के बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश की तो हमें इंटरनेट पर कई रूसी समाचार लेख मिले जिनमें लिखा था कि “रूस की राजधानी मास्को में बर्डेनको अस्पताल की शाखा में  कोरोनोवायरस संक्रमण (COVID19) के खिलाफ वैक्सीन के परीक्षण में 20 प्रतिभागी थे, इन परीक्षणों को राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र द्वारा संचालित किया जाता है, गेमाले और रूसी रक्षा मंत्रालय ने वैक्सीन के दूसरे घटक की शुरुवात की है।“ समाचार लेख में वाईरल हो रहा वीडियो भी पोस्ट किया हुआ है जहाँ एक वालंटियर को डाक्टर वैक्सीन दे रहें हैं।

हमने वाईरल हो रहे वीडियो और तस्वीर के पीछे की सच्चाई जानने के लिए स्पूतनिक,
tvzvezda, आर.टी, इन सभी वैबसाइटों की मदद लीं, जहाँ इस लड़की को एक वालंटियर बताया गया है जिसको डाक्टर वैक्सीन दे रहें हैं। ।

आर्काइव लिंकआर्काइव लिंकआर्काइव लिंक

आप स्पूतनिक इन रशिया नामक एक यूट्यूब चैनल पर भी यह वीडियो देख सकते हैं।

आर्काइव लिंक

और अधिक कीवर्ड सर्च करने पर हमें tvzvezda की वैबसाइट पर वीडियो व वाईरल हो रहीं तस्वीर में दिख रहीं स्वयंसेविका का नाम नाटल्या बताया गया है। 

नटालिया, एस.एम. कीरॉफ़ नाम के एक सैन्य चिकित्सा अकादमी की कैडेट है। आपको बता दें कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी का नाम मारिया वोर्त्सोवा है, जिसे मारिया फासन भी कहा जाता है। वह एक रूसी बाल रोग संबंधी एंडोक्राइनोलॉजिस्ट हैं। वह रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की सबसे बड़ी बेटी हैं और इसके अलावा उनकी एक और बेटी है जिसका नाम एकाटेरिना पुतिन है और वह पेशे से एक नर्तकी है।

आर्काइव लिंक

नीचे दी गई तस्वीर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटियों की तस्वीर है। आप देख सकते है कि वाईरल हो रहे वीडियो व तस्वीर में जो लड़की नज़र आ रहीं है वह राष्ट्रपति पुतिन की बेटी नहीं हैं।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Putin daughter5.jpg

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त दावे को गलत पाया है। वाईरल हो रहीं तस्वीर व वीडियो में नटालिया नामक रूसी वालंटियर है, जो कोविड-19 के लिए रूस द्वारा बनाई गई वैक्सीन के लिए परिक्षण में शामिल थीं। 

Avatar

Title:क्या इस तस्वीर में कोरोना वैक्सीन लेती हुई लड़की रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी है? जानिए इस तस्वीर के पीछे का सच…

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •