बड़हलगंज में कोरोनावायरस संक्रमित मरीज की पुष्टि होने की अफवाह हुई वायरल |

Image- PTI विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने नोवेल कोरोनावायरस को अंतरराष्ट्रिय स्तर पर पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया है | वैज्ञानिकों ने वायरस के जीनोमिक अनुक्रम की मैपिंग की है लेकिन अभी भी वायरस का स्रोत ज्ञात नहीं हो पाया है | इस स्वास्थ्य आपातकाल के समय, सोशल मीडिया पर कई फर्जी तस्वीरें, वीडियो और […]

Continue Reading

कथित भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय का नाम उत्तरप्रदेश में जातीय हिंसा भड़काने के सम्बंध में फैलाया जा रहा है |

विधायक अनिल उपाध्याय सोशल मंच पर एक वो नाम है जिसे अलग अलग समयों पर अलग अलग राजनीतिक पार्टियों के साथ सुविधा अनुसार जोड़ भ्रामक दावे पेश किये जाते रहें हैं, हालाँकि विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक पात्र हैं | एक वीडियो, जिसमें पुलिस स्टेशन के सामने एक ट्रक देखा जा सकता है, और उसमें […]

Continue Reading

गोरखपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक की प्रेस कॉन्फ़्रेन्स वीडियो को एडिट कर साझा किया जा रहा है।

१२ सितंबर २०१९ को “कैलाश आर्य” नामक एक फेसबुक यूजर ने एक वीडियो पोस्ट किया और इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “ऐसा भिकारी बनकर बहुत लोग निकले हैं बच्चों को पकड़ने के लिए कृपया आप सावधान रहें और अपने बच्चे को भी सावधान रखे क्योंकि हमारे इलाके में अभी बहुत सारे […]

Continue Reading

क्या उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के मिनवॉ गांव में २ बिघा ज़मीन अंदर धंसी और धरती के अंदर से लावा निकला? जानिये सच |

२ जुलाई २०१९ को फेसबुक पर ‘Chanchal Pandey’ नामक एक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट मे तीन तस्वीरें दी गयी है, जिसमे एक धंसी हुई ज़मीन की तस्वीर है और ऐसा प्रतीत होता है, जैसे ज़मीन के नीचे आग जल रही है | पोस्ट के विवरण में लिखा है – “प्रकृति […]

Continue Reading

क्या यह विडियो १ जून को गोरखपुर में शिक्षाकर्मियों पर हुए पुलिस लाठीचार्ज का है ?

३ जून २०१९ को फेसबुक पर ‘Mallick Jilani’ नामक एक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट में एक विडियो दिया गया है | विडियो में पुलिस द्वारा प्रदर्शनकारियों की बर्बरता से पिटाई की जा रही है | पुरुष पुलिस छात्रा जैसी दिखने वाली महिलाओं को मार रहे है | पोस्ट के विवरण […]

Continue Reading

तस्वीरों का २०१९ लोकसभा चुनाव प्रचार से कोई नाता नहीं है।

(ये प्रकरण २०१७ का है , व मामला भारतीय कोर्ट “तीस हज़ारी कोर्ट” दिल्ली में विचाराधीन है, मामला स्त्री लज्जा भंग से सम्बंदित है व factcrescendo इसे अपनी नैतिक ज़िम्मेदारी समझते हुए इस पोस्ट में प्रकरण की तस्वीर का इस्तेमाल नहीं करता है ) उपरोक्त कोर्ट ने पीड़िता के अनुरोध पर इस ख़बर को इंटरनेट […]

Continue Reading