मोदी को दोबारा वोट न देने के सन्देश वाली पेट्रोल पम्प की रसीद फर्जी है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर एक पेट्रोल पंप के बिल की तस्वीर को फैलाते हुए दावा किया गया कि महाराष्ट्र में पेट्रोल पम्पों से निकल रही रसीद में लिखे गए सन्देश में आमजन को मोदी को वोट नहीं देने की अपील की जा रही है | तस्वीर में बिल के नीचे लिखा है – “अगर आप पेट्रोल के दाम कम करना चाहते हैं तो मोदी को दुबारा वोट न दें, मुलाकात के लिए शुक्रिया” | बिल पर पेट्रोल पंप का नाम ‘साई बालाजी पेट्रोलियम HPL डीलर विक्रोली (वेस्ट) मुंबई’ लिखा है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

“देख लीजिए मोदी जी को हराने के लिए कैसा सडयंत्र रचा जा रहा था!”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह तस्वीर फेसबुक पर काफी चर्चा में है | ये तस्वीर शेयर करते हुए महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा जा रहा है | 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया है कि पेट्रोल पंप के एक सैम्पल बिल को एडिट कर शेयर किया गया है |

जाँच की शुरुवात हमने इस बिल को ध्यान से देखने से की ताकि हम यह समझ सके कि यह पेट्रोल पंप का बिल असली है या नहीं | बिल को गौर से देखने पर शब्दों और अंकों के फ़ॉन्ट और अलाइनमेंट में गड़बड़ी दिखती हैं | नीचे तस्वीर में इन गलतियों को देखा जा सकता है |

बिल पर हमें पर ‘साई बालाजी पेट्रोलियम HPL डीलर विक्रोली (वेस्ट) मुंबई’ लिखा हुआ पाया | इस पेट्रोल पंप को गूगल पर ढूँढने पर हमें इस नाम का विक्रोली वेस्ट में कोई भी पेट्रोल पंप नहीं मिला | परिणाम से हमने पाया कि मुंबई में इस नाम का कोई पेट्रोल पंप नहीं है |

आगे हमने पाया कि बिल पर HPL लिखा है, इस बारें में सर्च करने पर हमने पाया कि भारत में HPL नाम की कोई पेट्रोल सप्लाई करने वाली कंपनी नहीं है | भारत में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड कंपनी है जिसका शॉर्ट फ़ॉर्म HPCL होता है जो कि पेट्रोलियम उत्पादों व पेट्रोल पम्पों को पेट्रोल व डीजल सप्लाई करती है |

इसके अलावा हमने पाया कि बिल पर लिखी तारीख 4 अक्टूबर 2018 उल्लेखित किया गया है | यानी, अगर ये बिल असली भी होता, तो भी हाल का नहीं होता | आगे हमने जाँच कर यह पता लगाया कि 2018 में महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना की गठबंधन सरकार थी | इससे यह बात सुनने में काफी अजीब लगती है कि भाजपा की तत्कालीन महाराष्ट्र सरकार मोदी पर निशाना साध रही है |

आगे हमने साईं बालाजी पेट्रोल के कीवर्ड से संबंधित आर्काइव को ढूँढना शुरू किया जिसके परिणाम से हमें आर्काइव.आईएस पर एक लिंक मिला जहाँ वायरल हो रहे तस्वीर जैसी ही एक और तस्वीर मिली | हमें इस बिल की तस्वीर एक वेबसाइट गोल्डमाइन इलेक्ट्रोसिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड पर मिली जो  हैंडहेल्ड बिलिंग मशीनों के निर्माताओं और विक्रेता है | पेट्रोल पंपों, टोल संग्रह केंद्रों और पार्किंग स्थलों पर नियमित रूप से मिलने वाली ये मशीनें भुगतान पूरा होने पर रसीद देती हैं |

वेबसाइट ने ‘पेट्रोल पंप बिलिंग सिस्टम’ सेक्शन के तहत एक सैंपल बिल अपलोड किया है | इस बिल और नकली तस्वीर में मुंबई के विक्रोली (पश्चिम) स्थित पेट्रोल पंप ‘साई बालाजी पेट्रोलियम’ का नाम और लोकेशन समेत कई समानताएं हैं | दरअसल फर्जी बिल और सैंपल बिल में वाहन का नंबर (MH04BZ9680) और ग्राहक (वैभव) का नाम एक ही है |

फर्जी बिल ने तारीख 20 अगस्त 2012 से बदलकर 4 अक्टूबर 2018 कर दी है, प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत बिल में उल्लिखित 74.50 रुपये से 87.88 रुपये में बदल लिया गया है | नकली बिल में उन्ही जगहों पर फ़ॉन्ट आकार, संरेखण और फ़ॉन्ट स्टाइल में परिवर्तन किया गया जहाँ शब्द या अंकों को एडिट कर कई बदलव किया गया है |

जैसे कि दिनांक ’04/10/2018′ का उल्लेख करने वाले फ़ॉन्ट का आकार ’10:17′ समय से छोटा है और बिल संख्या ‘1345’ के अंतिम अंक प्रारंभिक अंकों से बड़े हैं |

नीचे आप दोनों बिल की तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते है | सैम्पल बिल और वायरल बिल में काफ़ी समानताएं देखने को मिलती हैं जैसे कि पेट्रोल पंप का नाम, पता, गाड़ी का नंबर, कस्टमर का नाम |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त तस्वीर के साथ किये गये दावे को गलत पाया है | पेट्रोल पंप के एक सैम्पल बिल को एडिट कर साझा किया गया है | 

हमारे द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:-

1. सिलीगुड़ी में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उनके भाषण में कहे “चोरी सम्बंधित” वक्तव्य को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है |

2. श्रीनगर में डल झील के किनारे अतिक्रमण हटाने के वीडियो को रोहिंग्याओं मुस्लिमों की अवैध बस्तियों को ध्वस्त करने का बता फैलाया जा रहा है| 

3. 

Avatar

Title:मोदी को दोबारा वोट न देने के सन्देश वाली पेट्रोल पम्प की रसीद फर्जी है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply