लंदन में हनुमान चालीसा पढने का वीडियो पुराना; महाराष्ट्र में चल रहे विवाद से इसका कोई संबंध नहीं

Missing Context Social

महाराष्ट्र के अमरावती सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को मुंबई पुलिस ने हनुमान चालीसा पढ़ने पर गिरफ्तार करने के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल किया जा रहा है। जिसमें कुछ लोगों को हनुमान चालीसा पड़ते हुए देखा जा कता है। 

वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि मुंबई में हनुमान चालीसा पढ़ने पर जेल भेजा गया, जिसके बाद विदेश में बस रहे हिन्दू अब हरकत में आ गए हैं। हिंदू लोगों ने लंदन ब्रिज पर हनुमान चालीसा का पाठ किया लेकिन वहां की पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं की।

वायरल पोस्ट के साथ यूजर्स ने लिखा है-लंदन ब्रिज पर हनुमान चालीसा, यहां देशद्रोह का मामला नहीं हुआ, मुंबई में हनुमान चालीसा पढ़ने पर जेल भेजा जा रहा है। विश्वभर में हिन्दू जाग रहे हैं,अपने धर्म का प्रचार प्रसार कर रहे हैं।

यह वीडियो फेसबुक पर भी वायरल हो रहा है।

फेसबुक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

वीडियो को अच्छे से देखने पर वीडियो के 0.9 सेकंड पर सेलिब्रेटी कृष्ण जन्माष्टमी लिखा गया है। इससे पता चलता है वीडियो जन्माष्टमी का है। हर साल जन्माष्टमी अगस्त के महीने में मनाया जाता है। 

हमने वीडियो को इनविड की मदद से इमेज में कन्वर्ट किया। मिले तस्वीरों को गूगल पर रिवर्स इमेज करने पर जयंत भारतमी यूट्यूब चैनल में वायरल वीडियो मिला। वायरल वीडियो यूट्यूब चैनल पर 11 सितंबर, 2021 को पोस्ट किया गया है। पोस्ट के कैप्शन के मुताबिक लंदन के टावर ब्रिज पर जन्माष्टमी की उत्सव के दौरान हनुमान चालीसा का पाठ किया गया था। 

इसके अलावा यह वीडियो 2021 में ट्विटर यूजर्स ने भी शेयर किया है। 

वायरल वीडियो हिन्दुस् इन यूके फेसबुक पेज पर 2 सितंबर 2021 को पोस्ट किया गया है। खबर के मुताबिक लंदन के टॉवर ब्रिज के पास कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव मनाया गया था।  विश्व शांति और सद्भाव के लिए श्री हनुमान चालीसा का पाठ किया गया था। यह कार्यक्रम सिद्धाश्रम शक्ति केंद्र द्वारा आयोजित किया गया था। 

सिद्धाश्रम शक्ति केंद्र के फाउंडर गुरुजी ने भी 31 अगस्ट 2021 को अपने ट्विटर अकाउंट पर इस आयोजन की तस्वीरें साझा किया है। 

महाराष्ट्र के हनुमान चालीसा पढ़ने पर विवाद. . 

महाराष्ट्र के अमरावती से सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को 23 अप्रैल को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। दोनों की गिरफ्तारी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने के विवाद में हुई थी। इससे पहले हाईकोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। बाद में मुंबई की बोरीवली अदालत द्वारा रिहाई के आदेश के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया।

निष्कर्ष:

तथ्यों की जांच के पश्चात हमने पाया कि वायरल वीडियो एक साल पुरनी है। वीडियो का हालही में महाराष्ट्र के हनुमान चालीसा पढ़ने पर चल रहे विवाद से कोई संबंध नहीं है।

Avatar

Title:लंदन में हनुमान चालीसा पढने का वीडियो पुराना; महाराष्ट्र में चल रहे विवाद से इसका कोई संबंध नहीं

Fact Check By: Saritadevi Samal 

Result: Missing Context

Leave a Reply