वीडियो में घायल शख्स आजमगढ़ में दुर्गा पूजा बंद करने की धमकी देनेवाला युवक नहीं

Communal False Social

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया कि यह वीडियो में दिख रहा घायल शख्स नोएडा पुलिस द्वारा पकड़ा गया ‘पेचकस गैंग’ का सदस्य की है । इस वीडियो को गलत तरीके से फैलाया जा रहा है ।

पिछले माह उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ शहर में दुर्गा पूजा पंडाल में घुसकर गुंडागर्दी करने वाले युवक की खबर सामने आई थी. उसके पश्चात सोशल मीडिया एक घायल युवक को पुलिस लेकर जा रही उस वक्त का वीडियो वायरल हो रहा है. लोग दावा कर रहें है की, यह वीडियो आजमगढ़ में धमकी देने वाले युवक को यूपी पुलिस ने गोली से घायल कर गिरफ्तार करते समय का है. 

पोस्ट के कैप्शन में लिखा गया है कि आजमगढ़ में तमंचे के दम पर दुर्गा पूजा पंडाल हटाने की धमकी देने वाले आदिल का स्वागत सत्कार करती U P पुलिस, ये बंगाल नही उत्तरप्रदेश हैं, जहाँ ममता नही बाबा का राज चलत हैं ।” (शब्दशः)

फेसबुक पोस्ट  

यह वीडियो ट्विटर पर भी वायरल है ।

अनुसंधान से पता चलता है कि…

इन्विड टूल के मदद से खोज करने पर हमें ‘एबीपी न्यूज़’ के एडिटर पंकज झा ने ट्वीट किया हुआ यहीं वीडियो मिला । साथ में उन्होंने जानकारी दी कि नोएडा में कार में लिफ़्ट देकर लूटपाट करने वाले 4 अपराधियों के नोएडा पुलिस ने मुठभेड़ के बाद पकड़ा ।

फैक्ट क्रेसेंडो ने उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर के एडिशनल पुलिस कमिश्नर ने वायरल वीडियो के साथ किए जा रहे दावे का झूठ करार दिया। उन्होंने बताया कि, “यह वीडियो पिछले महिने नोएडा पुलिस द्वारा “पेचकस गैंग” के सदस्यों को पकड़ने का है । वे कई राज्यों में लोगों को लिफ्ट दे कर उनको लूटने का काम करते थे । इस मामले के वीडियो को गलत तरीके से सांप्रदायिकता से जोड़ा जा रहा है । इस गैंग के सभी मेम्बर हिन्दू है ।”

आगे हमें गौतम बुद्ध नगर के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा जारी किया गया ट्वीट मिला ।  इस ट्वीट में वीडियो में दिख रहे अपराधियों की तस्वीर साझा करते हुए लिखा गया है कि “थाना बीटा-2 क्षेत्र में चेकिंग के दौरान पुलिस व गाड़ी में लिफ्ट देकर लोगों को पेंचकस मारकर घायल व लूट करने वाले अंतराज्यीय बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान 04 बदमाशों के पैर में लगी गोली,घायल/गिरफ्तार, कब्जे से करीब 01 लाख रुपये नकद, 17 पेंचकस, कार व अवैध हथियार बरामद।”

इस मामले से संबंधित रिपोर्ट कई मीडिया संगठनों ने प्रकाशित की है । रिपोर्ट के अनुसार पुलिस द्वारा पकड़े गए बदमाशों की पहचान आनंद वर्मा, शिव कुमार वर्मा, बब्लू वर्मा और दीपक वर्मा के रूप में हुई है।

क्या हुआ था आझमगढ़ में?

इंडिया टीवी न्यूज के अनुसार, आजमगढ़ के तरवां इलाके में एक मुस्लिम युवक ने दुर्गा पंडाल में घुसकर दुर्गा पंडाल को हटाने को कहा था । इसके साथ ही दुर्गा पंडाल को लगाने वाले लोगों को जान से मारने की धमकी भी दी थी। 

आरोपी का नाम आदिल अहमद उर्फ “मंटू” था और उसे पुलिस ने गिरफ्तार किया था । इस मामले की गंभीरता को देखते हुए आज़मगढ़ परिक्षेत्र के DIG ने भी आज़मगढ़ पुलिस को तत्काल कार्रवाई के आदेश दिए थे ।

आजमगढ़ पुलिस ने भी ट्विट कर इस मामलें के बारे में जानकारी दी थी

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट के माध्यम से किये गए दावे को गलत पाया है । सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो आजमगढ़ में दुर्गा पूजा पंडाल हटाने की धमकी देने वाला व्यक्ति नहीं, बल्कि यह वीडयो नोएडा पुलिस द्वारा पकड़े गए पेचकस गैंग की है । इस वीडिया का आजमगढ़ की घटना से कोई संबंध नहीं ।

Avatar

Title:वीडियो में घायल शख्स आजमगढ़ में दुर्गा पूजा बंद करने की धमकी देनेवाला युवक नहीं

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

Leave a Reply