क्या अखिलेश यादव ने भारत को आजादी दिलाने का श्रेय सिर्फ मोहम्मद अली जिन्ना को दिया?

Missing Context Political

वायरल हो रहा अखिलेश यादव के भाषण का वीडियो अधुरा है। उन्होंने जिन्ना के साथ साथ और भी स्वतंत्रता सेनानियों के भी नाम लिए थे।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में आप अखिलेश यादव को यह कहते हुए सुन सकते है कि (मोहम्मद अली) जिन्ना ने संघर्ष कर भारत को आजादी दिलाई। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष विधानसभा के चुनाव (Assembly elections) है। इस के चलते इंटरनेट पर राजनेताओं के संबन्ध में गलत दावे किए जा रहे है। फैक्ट क्रेसेंडो ने ऐसे कई वीडियो का अनुसंधान किया है। 

क्या है वायरल वीडियो?

वीडियो में अखिलेश यादव कहते हुए सुनाई देते है कि “जिन्ना एक संस्थान में पढ़कर बैरिस्टर बन कर आए थे। एक ही जगह पर पढ़ाई-लिखाई की उन्होंने। वे बॅरिस्टर बनें। उन्होंने आजादी दिलाई.”

वायरल हो रहे पोस्ट के साथ लिखा है कि “जिन्ना ने देश को आजादी दिलाई, अखिलेश यादव सपा प्रमुख।“ 

(शब्दश:)

फेसबुक 

आपको बता दें कि इस वीडियो को भाजपा उत्तर प्रदेश के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से भी प्रसारित किया गया है।

आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया, हमें इस वर्ष 1 नवंबर को टाइम्स नाउ नवभारत के आधिकारिक चैनल पर इस वीडियो का विस्तारित संस्करण देखने को मिला। उसके साथ दी गयी जानकारी में लिखा है, स.पा नेता अखिलेश यादव ने मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर विवादित बयान दिया है। उत्तर प्रदेश के हरदोई में हुई एक रैली के दौरान उन्होंने जिन्ना की तुलना महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और सरदार वल्लभ भाई पटेल से की व कहाँ कि जिन्ना भी इन सब की तरह एक स्वतंत्रता सेनानी थे।

इस वीडियो में आप सुन सकते है कि अखिलेश यादव यह कह रहे है कि सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, जिन्ना एक ही संस्था में पढ़कर के बैरिस्टर बनकर के आए थे। एक ही जगह पर पढ़ाई-लिखाई की उन्होंने, वे बैरिस्टर बने, उन्होंने आजादी दिलाई और किसी को भी संघर्ष करना पड़ा तो वे पीछे नहीं हटे। 

आर्काइव लिंक

इससे हम समझ सकते है कि अखिलेश यादव ने सिर्फ जिन्ना का नाम लेकर उन्हे आजादी का श्रेय नहीं दिया था। बल्कि वे तो गांधी, नेहरू, पटेल और जिन्ना एक ही संस्था के विद्यार्थी होने की बात की थी। 

वायरल हो रहे वीडियो में पूरा भाषण नहीं दिखाया गया। उसे बीच में से काटकर वायरल किया गया है।

नीचे दिए गए तुलनात्मक वीडियो में आप वायरल वीडियो व मूल वीडियो में अंतर देख सकते है।

आगे बढ़ते हुए इस बारे में और जानकारी पाने के लिये हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया। हमें झी न्यूज़ द्वारा इस वर्ष 6 नवंबर को प्रकाशित किया हुआ समाचार लेख मिला। उसमें लिखा है कि, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव इस वर्ष 31 अक्टूबर को अपनी विजय रथ यात्रा के लिये उत्तर प्रदेश के हरदोई में थे। उस दिन सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती भी थी। अखिलेश यादव ने एक सभा को संबोधित करने हुए कहा कि भारत की आजादी में जिन्ना की भूमिका महत्वपूर्ण बताया व उनकी तुलना महात्मा गांधी और सरदार पटेल से की व कहा कि उन सबकी विचारधारा एक ही थी।

लेख में यह भी लिखा है कि इस बयान को लेकर भा.ज.पा, कांग्रेस, असदुद्दीन ओवैसी व मुस्लिम धर्मगुरुओं ने अखिलेश यादव की आलोचना की।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो में पूरा कथन नहीं बताया गया है। अखिलेश यादव का अधुरा भाषण गलत दावे के साथ साझा किया जा रहा है. उन्होंने भारत की आजादी का श्रेय केवल जिन्ना को नहीं दिया था. 

तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़े से संबंधित अन्य फैक्ट चेक को आप नीचे पढ़ सकते है|

Avatar

Title:क्या अखिलेश यादव ने भारत को आजादी दिलाने का श्रेय सिर्फ मोहम्मद अली जिन्ना को दिया?

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Missing Context

Leave a Reply