रॉटरडैम, नॉर्वे में एक वांछित शख्स को पकड़ने के वीडियो को फिलिस्तीन में मुसलमानों पर इसराइली पुलिस का अत्याचार बता फैलाया जा रहा है |

False International Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२६ नवम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Ansari Sahab द्वारा किये गये पोस्ट में एक वीडियो साझा किया गया है | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, फिलिस्तीन के मुसलमानों पर जुल्म इज़राइली पुलिस ने मस्जिद में कुरान पढ़ रहे मुसलमान पर कुत्ता छोड़ दिया….या अल्लाह फिलिस्तीन के मुसलमानों की हिफाज़त फरमा.. |” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘मस्जिद में कुरान पढ़ रहे फिलिस्तीनी मुस्लिम पर इसराइली पुलिस ने कुत्ते से हमला करवाया |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले इस घटना की जांच InVidTool की मदद से वीडियो का स्क्रीनग्रैब लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च में ढूंढने से की | अनुसंधान में हमें ४ अक्टूबर २०१९ को wnl.tv नामक वेबसाइट पर प्रकाशित एक ख़बर मिली, जिसके अनुसार यह घटना नॉर्वे  के रॉटरडैम में १७ सितम्बर २०१९ की है | यहाँ के एक मस्जिद में एक वांछित शख्स छुपकर बैठा था | जब इस मस्जिद के लोगों ने शिकायत दर्ज की, तो वहाँ की पुलिस ने इस व्यक्ति को पकड़ने के लिए उनके विभाग के प्रशिक्षित कुत्ते को इस व्यक्ति पर छोड़ दिया | जब यह व्यक्ति कुत्ते से जूझकर थक गया, तो पुलिस ने इसे गिरफ़्तार कर लिया | पूरी ख़बर को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें | 

wnl.tvPost | ArchivedLink

उपरोक्त अनुसंधान में पाई गई वेबसाइट की ख़बर में ‘De Telegraaf’ नामक एक समाचार वेबसाइट का उल्लेख किया गया है | जब हमने इस समाचार वेबसाइट पर इस घटना के बारे में ढूंढा, तो हमें ४ अक्टूबर २०१९ को प्रकाशित इस घटना पर रिपोर्ट की हुई एक ख़बर मिली | इस ख़बर के अनुसार यह घटना ‘Mosquée Essalamm de Rotterdam’ की है | गिरफ़्तार किये गए व्यक्ति को ४३ वर्षीय बताया गया है | इस व्यक्ति के दुर्व्यवहार के कारण इस मस्जिद का बोर्ड इसे निकालना चाहता था | पुलिस जब इसे पकड़ने गयी, तो इसने विरोध में पुलिस पर हमला किया | पूरी ख़बर को पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

DetelegraafPost | ArchivedLink

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो का फिलिस्तीन से किसी प्रकार का कोई संबंध नहीं है | यह वीडियो नॉर्वे के रॉटरडैम की घटना का है जिसे गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “मस्जिद में कुरान पढ़ रहे फिलिस्तीनी मुस्लिम पर इसराइली पुलिस ने कुत्ते से हमला करवाया |” ग़लत है |

Avatar

Title:रॉटरडैम, नॉर्वे में एक वांछित शख्स को पकड़ने के वीडियो को फिलिस्तीन में मुसलमानों पर इसराइली पुलिस का अत्याचार बता फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •