क्या उत्तर प्रदेश के वासेपुर में एक आदमी के आंख मारने पर उसकी आंख फोड़ दी ? जानिये सच |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१६ सितम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘हिन्दू शैलेन्द्र पटेल’ नामक यूजर ने एक युवक की तस्वीर इस विवरण के साथ पोस्ट की कि “ये घटना उत्तरप्रदेश के “वासेपुर” की है। “वासेपुर की गैंग्स” ने इस घटना को अंजाम दिया | इसका नाम अब्दुल बशीर है ये बेचारा दिल्ली के GB रोड में वैश्याओ की दलाली खाके अपना और अपने परिवार का पेट पालता है आज इसने जवानी के जोश में एक हिन्दू लडकी को देखकर आँख मार दी | तो इतनी सी बात पर हिन्दुओ ने मिलकर इसकी लिंचिंग कर दी और जिस आँख से इसने आँख मारी थी इसकी वही आँख फोड़कर इसकी माँ की आँख कर दी | देख रहे हो मोदी जी क्या हो रहा है इस देश में अल्पसंख्यको के साथ इसीलिए देश का मुसलमान डरा हुआ है | क्या यही है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास | मोदी, योगी इस्तीफा दो |” इस पोस्ट के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि ‘तस्वीर में दर्शित युवक उत्तर प्रदेश में हुई मोब लिंचिंग का शिकार है |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जांच की शुरुवात हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च में ढूंढ कर की, परिणाम में हमें २५ अगस्त २०१५ को IndianExpress द्वारा प्रसारित एक ख़बर मिली | इस ख़बर में हमें उपरोक्त पोस्ट में साझा हुबहू तस्वीर मिली और इस ख़बर के मुताबिक यह व्यक्ति प्रसिद्द फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप है | उनकी आंख में लगा प्लास्टर एक नकली पलास्टर है और यह तस्वीर उन्होंने एक शर्त के चलते अपने इन्स्टाग्राम पर साझा की थी | इस ख़बर को पूरा पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें | 

IndianexpressPost | ArchivedLink

InstagramPost 

परिणाम में मिली एक और ख़बर में हमें इस तस्वीर के सन्दर्भ अधिक जानकारी मिली,ख़बर के अनुसार अनुराग कश्यप द्वारा इस तस्वीर को साझा करने के अगले दिन ही अनुराग ने इस तस्वीर की असलियत के बारे में एक पोस्ट किया था | पूरी ख़बर को पढने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें |

MasalaPost | ArchivedLink

इसके बाद हमने उत्तर प्रदेश में धनबाद के SSP किशोर कौशल से संपर्क किया और इस सन्दर्भ में पूछा, तो उन्होंने हमें बताया कि उपरोक्त दावा महज़ एक अफवाह है, इस प्रकार का कोई भी प्रकरण उनके क्षेत्र में नहीं हुआ है|

उपरोक्त जांच से यह बात स्पष्ट होती है कि पोस्ट में दर्शित व्यक्ति प्रसिद्द फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप है और यह तस्वीर २०१५ की है, जिसे वर्तमान में गलत विवरण के साथ अफवाह फैलायी जा रही है |  

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘तस्वीर में दिखाया गया युवक उत्तर प्रदेश में मोब लिंचिंग का शिकार है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:क्या उत्तर प्रदेश के वासेपुर में एक आदमी के आंख मारने पर उसकी आंख फोड़ दी ? जानिये सच |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •