विस्सल ब्लोअर डॉ.ली वेनलियानग की मौत पर श्रधांजलि देते लोगों के वीडियो को भ्रामक दावे के साथ फैलाया जा रहा है |

Coronavirus False International Medical
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना वायरस ने चीन में अब तक सैकड़ों लोगों की जान ले ली है | हजारों लोग इससे प्रभावित हुए हैं | भारत में भी, कोरोना वायरस का डर है, इस बीच, वर्तमान में एक वीडियो मीडिया में वायरल हो रहा है | इस वीडियो में इमारतों से नागरिकों को चिल्लाते हुए सुना जा सकता है | इस वीडियो के माध्यम से दावा किया का रहा है कि मदद और इलाज के बजाय, इन करोना वाईरस संक्रमित लोगों को घर में कैद रखा जा रहा है | साथ ही कहा जा रहा है कि चीन के लोगों की यह त्रासदी सदियों तक वैश्विक समुदाय पर असर करेगी | कोरोना वायरस अब अपने चरम पर पहुंच रहा है | इस वीडियो को भारत समाचार के एडिटर ब्रजेश मिश्र ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से साझा किया है | 

आर्काइव लिंक 

फेसबुक पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “जिंदगी की भीख मांगते चीन के वूहान शहर के ये लोग अपने घरों से चीखकर गिड़गिड़ा रहे हैं. इलाज, मदद की बजाय इन्हें घरों में बंद कर दिया गया है. चीन के लोगों की ये चीखें सदियों तक विश्व समुदाय का पीछा करेंगी. कोरोना वायरस चरम की तरफ बढ़ रहा है.भारत को तत्काल तैयारी में जुटना होगा |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह वीडियो फेसबुक पर काफी तेजी से साझा की जा रही है | 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड टूल की मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की जिसके परिणाम में २८ जनवरी २०२० को साउथ चाइना मोर्निंग पोस्ट द्वारा प्रसारित वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “वुहान के निवासी मनोबल को बढ़ाने के लिए खिड़कियों से बाहर “कीप इट अप वुहान” चिल्लाते है |” 

इसके आलावा इस वीडियो को चीनी शीर्षक के साथ अपलोड करते हुए लिखा गया है कि “वुहान शहर डॉ.ली वेनलियानग की मौत पर शोक व्यक्त करते हुये |” इस विडीओ के विवरण में लिखा गया है कि “वुहान में आज रात, 8:55 से 9:05 तक, डॉ.ली वेनलियानग के मौत के शोक मनाने के लिए, पांच मिनट के लिए रोशनी बंद कर, मोबाइल फोन और टॉर्च चालू कर आकाश में इस लाइट को फ़्लैश करेंगे | फिर रोशनी चालू करें और ५ मिनट के लिए सामूहिक रूप से सीटी बजाएं | यह चीनी इतिहास में एक अभूतपूर्व शोक समारोह है |”

डॉ. ली वेनलियानग वुहान सेंट्रल अस्पताल में एक चीनी नेत्र रोग विशेषज्ञ थे, जिन्होंने ३० दिसंबर २०१९ को अपने साथियों को वीचैट पर एक नए कोरोनोवायरस तनाव के बारे में चेतावनी दी थी, उनकी चेतावनी के बाद यह खबर सार्वजनिक रूप से साझा की गई थी | इस तरह वे एक विस्सल ब्लोअर बन गये थे | 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो चीन के वुहान शहर में लोगो की मदद की पुकार को नही दर्शाता है बल्कि यह विस्सल ब्लोअर डॉ.ली वेनलियानग के मौत पर एक श्रधांजलि है

Avatar

Title:विस्सल ब्लोअर डॉ.ली वेनलियानग की मौत पर श्रधांजलि देते लोगों के वीडियो को भ्रामक दावे के साथ फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •