क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘कश्मीर का ड्राकुला’ कहने वाला यह आपत्तिजनक पोस्टर अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में लगाया गया है?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१८ अगस्त २०१९ को फेसबुक के ‘Monu Bhardwaj’ नामक एक यूजर ने एक पोस्ट साझा की है | पोस्ट में एक तस्वीर साझा की है | तस्वीर किसी जगह हो रहे प्रदर्शन की लगती है | इस प्रदर्शन में एक बहुत ही आपत्तिजनक बैनर प्रदर्शित किया जा रहा है, जिसमे प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को ड्राकुला के रूप में दिखाया गया है, जो इन्सान का मांस खा रहा है | बैनर पर अंग्रेजी में लिखा है – Modi the Dracula of Kashmir |          

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

हमें धिक्कार है ऐसे छात्र और महाविद्यालय पे जो बच्चों को ऐसी शिक्षा देता है।
हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का बैनर लगाया गया है AMU में जो कि बेहद शर्मनाक है। एक शिक्षा के मंदिर में प्रधानमंत्री को ड्रैकुला के रुप में दर्शाना कितना सही है। क्या यही आजादी चाहिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के बच्चें को। इसकी जितनी निंदा किया जाएं उतनी ही कम है, हम इसकी कड़ी निंदा करते है। और ऐसी अराजकता फ़ैलाने वालों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाही की तुरंत मांग करते हैं। 

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कश्मीर का ड्राकुला करार देने वाला यह बैनर अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय में लगा है | जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद ३७० हटाने से इस बैनर का सम्बन्ध है | आये दिन ऐसे किसी विवाद से अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का सम्बन्ध जोड़ा जाता रहता है | तो आइये जानते है इस विडियो व दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘Monu Bhardwaj’  | ARCHIVE POST

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने इस तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया | लेकिन इन सर्च परिणामों से हमें कुछ खास संकेत नहीं मिले |   इसके बाद हमने पोस्टर पर लिखे ‘modi the dracula of kashmir’ इन की-वर्ड्स से फेसबुक पर ढूंढा, तो हमें इसी बैनर की एक दूसरी तस्वीर मिली | फेसबुक पोस्ट आप नीचे देख सकते है |

ARCHIVE POST

इसके अलावा हमने इन्ही की-वर्ड्स के साथ गूगल किया तो परिणाम से हमें एक ट्वीटर लिंक मिला | Anila Qazi नामक एक वेरीफाईड यूजर ने १६ अगस्त २०१९ को यह ट्वीट किया है, जिसमे वही तस्वीर है, जो फेसबुक पोस्ट में भी इस्तेमाल की गई है | यह ट्वीट आप नीचे देख सकते है |

ARCHIVE TWEET

दोनों ही पोस्ट व ट्वीट में एक ही विवरण है – Modi the Dracula of Kashmir, #15AugustBlackDay, Free Kashmir, Today’s Black Day protest in London outside Indian high Commission | दोनों जगह यह दावा किया गया है कि, यह तस्वीर लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने १५ अगस्त २०१९ को हुए विरोध प्रदर्शन की है |

इस दावे के आधार पर हमने ‘Black Day protest in London outside Indian high Commission’ इन की-वर्ड्स से गूगल सर्च किया तो परिणाम से हमें इंग्लैंड की विख्यात समाचार संस्था ‘The Sun’ द्वारा यू-ट्यूब पर अपलोड एक विडियो मिला | इस विडियो में १५ अगस्त २०१९ को लंदन के भारतीय उच्चायोग के सामने हुए विरोध प्रदर्शन का १ घंटा ३६ मिनट का लाइव कवरेज है | इस विडियो में आप ४५ मिनट १० सेकंड से ४६ मिनट १४ सेकंड तक उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर में दिखाई दे रहा बैनर देख सकते है |

अब हमने ‘modi shown as dracula banner in AMU’ इन की-वर्ड्स के साथ सर्च किया तो परिणाम से हमें ‘पत्रिका’ द्वारा २० अगस्त २०१९ को प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में कहा गया है कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में आपत्तिजनक बैनर अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में लगाये जाने का दावा सोशल मीडिया पर किये जाने के बाद अलीगढ पुलिस ने मामले की छानबीन की तथा स्पष्ट किया कि, ऐसा कोई बैनर AMU में नहीं लगा है | साथ ही सोशल मीडिया के जरिये अलीगढ पुलिस ने स्पष्टीकरण दिया है |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें – ‘पत्रिका’ | ARCHIVE POST

इसके अलावा हमें ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ समाचार पत्र की वेबसाइट पर २१ अगस्त २०१९ को प्रसारित एक खबर भी मिली, जिसमे कहा गया है कि, अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी द्वारा प्रधानमंत्री के कथित आपत्तिजनक बैनर को AMU में लगाये जाने की अफवाह फ़ैलाने वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई | इसके बाद प्राथमिकी दर्ज की गई |

पूरी खबर यहाँ पढ़ें- ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ | ARCHIVE NEWS

इसके बाद हमने ट्वीटर पर इस मामले में अलीगढ पुलिस द्वारा किया ट्वीट ढूंढा | यह ट्वीट आप नीचे देख सकते है |

ARCHIVE TWEET

इस अनुसंधान से यह स्पष्ट होता है कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कश्मीर का ड्राकुला करार देने वाला बैनर अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय में नहीं लगा है | यह बैनर वास्तव में लंदन में १५ अगस्त २०१९ को भारतीय उच्चायोग के बाहर हुए प्रदर्शन के समय दिखाया गया था |

जांच का परिणाम :  इस अनुसंधान से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर के साथ किया गया दावा कि, “प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कश्मीर का ड्राकुला करार देने वाला बैनर अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय में लगा है |” सरासर गलत है | यह बैनर लंदन में १५ अगस्त २०१९ को भारतीय उच्चायोग के बाहर हुए प्रदर्शन के समय दिखाया गया था |

Avatar

Title:क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘कश्मीर का ड्राकुला’ कहने वाला यह आपत्तिजनक पोस्टर अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में लगाया गया है?

Fact Check By: R Pillai 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •