गृह मंत्री द्वारा ५३००० करोड़ रुपयों के वक्तव्य को मात्र ५३ करोड़ रुपये बता वाईरल किया जा रहा है|

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आजतक के एक न्यूज़ बुलेटिन के स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर फैलाते हुए कहा जा रहा है कि गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि भारतीय सरकार द्वारा ४१ करोड़ लोगों के बैंक खातों में ५३ करोड़ रुपये डाले गये हैं | यह वायरल स्क्रीनशॉट अमित शाह का आजतक की एग्जीक्यूटिव एडिटर अंजना ओम कश्यप के साथ इंटरव्यू के दौरान का है | इस स्क्रीनशॉट के टिकर में “ब्रेकिंग न्यूज़” लिखा हुआ है साथ ही अमित शाह के हवाले से दिये गये वक्तव्य को स्क्रीस पर दिखाते हुए लिखा गया है कि “४१ करोड़ लोगों के खाते में ५३ करोड़ रुपये भेजे गए है |” इस स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर फैलाते हुए लिखा गया है कि इस हिसाब से प्रत्येक नागरिक को १ रुपये २९ पैसे मिलने चहिये |

आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक 

फेसबुक पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस इंटरव्यू को कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढने से की, परिणाम से हमें यह पता चला कि यह इंटरव्यू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक साल पूरा करने के साथ व वर्तमान में चल रही COVID-19 महामारी व उसके सम्बन्ध में सरकारी कार्यों के अवलोकन के बारे में था |

इंटरव्यू के दौरान, आजतक की संपादक, अंजना ओम कश्यप ने अमित शाह से राज्यों पर एक सवाल पूछा, जिसमें COVID-19 संकट के दौरान पर्याप्त धन नहीं मिलने का मुद्दा उठाया गया था, जिसके उत्तर में उन्होंने ५३००० करोड़ का आंकड़ा सीधे ४१ करोड़ में स्थानांतरित होने का हवाला दिया, ये धनराशि देश के हर राज्य के अनेक लोगों के बैंक खातों में सीधा जमा कराई गयीं है | 

इस इंटरव्यू के १५ मिनट ५० सेकंड में:

अंजना ओम कश्यप: पश्चिम बंगाल सरकार, ममता बनर्जी, जिन्होंने कहा कि हमें मदद नहीं मिल रही है, अब श्रमिक स्पेशल ट्रेन, हम उस पर एक अलग चर्चा करेंगे, लेकिन उन्होंने लगातार कहा है कि उन्हें कितनी राहत मिलनी चाहिए थी,या राज्यों को मिलना चाहिए था, पंजाब सरकार ने भी शिकायत की है, साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने भी ये ही कहा है, जो मतभेद सामने आए हैं, उसके बारे में आप क्या कहेंगे?

अमित शाह: मुझे नहीं लगता कि ये बड़े अंतर हैं, १७०००० करोड़ का गरीब कल्याण पैकेज, और इसके अलावा, १२००० करोड़ का एनडीआरएफ फंड भेजा गया था, वित्त मंत्रालय से भी २२००० करोड़ भेजा गया था, बहुत सहायता दिया गया है, लेकिन केंद्र सरकार की सीमाएँ हैं | मैं आपको बताऊंगा, कुल ४१ करोड़ लोगों को सीधे उनके बैंक खाते में ५३००० करोड़ रुपये भेजे गए हैं | अब, यह सभी राज्यों में चला गया है, न केवल भाजपा सरकार द्वारा चलाये गये राज्यों में, बंगाल में, पंजाब में भी यह चला गया है, महाराष्ट्र में भी यह चला गया है |

इंटरव्यू में १६ मिनट ३७ सेकंड के टाइमस्टैम्प पर, शाह को स्पष्ट रूप से कहते सुना जा सकता है कि उन्होंने ५३००० करोड़ रुपये का उल्लेख किया है, ना कि ५३ करोड़ रुपये जैसा कि आजतक के न्यूज़ टिकर में दिखाया गया है |

उपरोक्त स्क्रीनशॉट के सम्बन्ध में हमने यह भी पाया कि स्क्रीनशॉट वायरल होने के पश्चात आजतक ने अपने फेसबुक पेज पर उपरोक्त वाईरल समाचार टिकर की त्रुटी में सुधार किया है जिसमें कहा गया है कि, “CORRECTION : #AgendaAajTak में गृहमंत्री Amit Shah ने कहा, 41 करोड़ खातों में 53,000 करोड़ रुपए डाले गए लेकिन आजतक ने ब्रेकिंग में भूलवश ’41 करोड़ खातों में 53 करोड़ रुपए डाले गए’ दिखाया था |”

फेसबुक पोस्ट

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर के माध्यम से किये गये दावे कि गृह मंत्री अमित शाह द्वारा ये बयान दिया गया है- गलत है | अमित शाह ने आजतक के इंटरव्यू में यह नही कहा कि भारत सरकार ने ४१ करोड़ लोगों के बैंक खातों में ५३ करोड़ रुपये जमा किया है बल्कि उन्होंने कहा कि ४१ करोड़ लोगों के बैंक खातों में ५३००० करोड़ रुपये जमा कराये गये हैं | 

Avatar

Title:गृह मंत्री द्वारा ५३००० करोड़ रुपयों के वक्तव्य को मात्र ५३ करोड़ रुपये बता वाईरल किया जा रहा है|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •