२०१५ राजस्थान से एक पुरानी तस्वीर को हाल में हुई हिमांचल प्रदेश की घटना का बताकर फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केरल में एक गर्ववती हथिनी के क्रूरतापूर्ण हत्या होने के बाद सोशल मीडिया पर ये प्रकरण काफी चर्चा में रहा, जिसके पश्चात देश के अलग अलग हिस्सों से जानवरों पर किये गये अत्याचारों की ख़बरें आने लगी | इसी दौरान सोशल मीडिया पर हिमाचल प्रदेश से हाल ही में घटी एक घटना जहाँ एक गाय को विस्फोटकों से भरी आटे की गोलियां खिलाने के बाद गाय गंभीर रूप से घायल हो गयी थी को एक तस्वीर के साथ साझा किया जा रहा है और ये दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में दिखाई दे रही गाय हिमाचल प्रदेश में घायल गाय है |

तस्वीर के साथ संदर्भित घटना हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले से है जहाँ ये घटना पिछले महीने के अंत में घटी थी, जब खेत में भटकने के बाद कथित तौर पर आटे के साथ विस्फोटक पदार्थ मिलकर एक गाय को खिला दिया गया जिसे खाने के बाद वह गाय बड़ी बुरी तरह से घायल हुई थी | इसके बाद गाय के मालिक द्वारा गाय के घायल होने का वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के पश्चात लोगों ने इसे खूब साझा किया |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “हिमाचल प्रदेश: 8 महीने की गर्भवती गाय के मुंह में पटाखा रखकर फोड़ दिया है, लेकिन गाय माँके दर्द की News नही बन सकी, न ही किसी औलाद को गुस्सा आया, न किसी जीव प्रेमी ने संवेदना व्यक्त की, क्योंकि जिस प्रदेश में यह अमानवीय कृत्य हुआ है, वहां भाजपा सरकार है |”

इंटरनेशनल बिज़नस टाइम्स ने भी इस तस्वीर को हाल ही में हिमाचल प्रदेश में घटी घटना से जोड़कर साझा किया है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक | IBT | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच कि शुरुवात हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें ३ जुलाई २०१५ को एक फेसबुक यूजर द्वारा प्रकाशित तस्वीर मिली | इस तस्वीर के शीर्षक के अनुसार यह घटना राजस्थान के पाली जिले के रायपुर तहसील के अंतर्गत लीलम्बा गाँव में हुई थी | पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “रायपुर तहसील के पास गांव लिलाम्बा मे गो हत्यारो ने मिलकर कचरे मे विस्फोटक डाल दिया जिसमे गो माता ने मुहँ मे डाल दिया, जैसे ही गोमाता खाने लगी तब एक धम धमाके कि आवाज आई, आवाज़ सुन ग्रामिण भागकर मौके पर आये और वहाँ पहुंचकर उन्होंने देखा कि गोमाता का जबडा पूरा चकना चुर हो गया था, सूचना मिलने पर शिव सेना कमाण्डो फोर्स प्रदेश प्रमुख अशोक सैनी कार्यकर्ताओं सहित व पुलिस दल भी मौके पर पहुँचा |”

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने गूगल पर संबंधित कीवर्ड्स से ख़बरों को ढूँढा, जिसके परिणाम से हमें २७ जुलाई २०१५ को पत्रिका द्वारा प्रकाशित खबर प्राप्त हुई | इस खबर में हम सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर को देख सकते है जिसे केवल एक अलग एंगल से खीचा गया है | रिपोर्ट के अनुसार उपखण्ड मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर स्थित लिलाम्बा गांव में कचरे के ढेर में विस्फोट से एक गाय जख्मी हो गई थी |

आर्काइव लिंक

यह तस्वीर ५ साल पुरानी है | इस बात पर ध्यान दे कि हिमाचल प्रदेश में भी एक ऐसी ही घटना घटी है जहाँ विस्फोटक से लैश आटा गाय को खिलाया गया जिसके पश्चात गाय बुरी तरीके से घायल हो गयी थी परंतु इस घटना का सोशल मंचो पर साझा की जा रही तस्वीर से कोई संबंध नही है | वाईरल की जा रही यह तस्वीर राजस्थान से है और ५ साल पुरानी है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट में इस्तेमाल की गई तस्वीर को असंबंधित पाया है| सोशल मीडिया पर हिमाचल प्रदेश में हाल में हुई घटना के नाम पर राजस्थान से ५ साल पुरानी तस्वीर को साझा किया जा रहा है |

Avatar

Title:२०१५ राजस्थान से एक पुरानी तस्वीर को हाल में हुई हिमांचल प्रदेश की घटना का बताकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •