रानी बाग़ में मानसिक रूप से अस्वस्थ महिला को कोरोनावायरस संक्रमित महिला बता मॉल सील होने की खबर हुई वाईरल |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर लोगों को भ्रमित करने के लिए कई वीडियो इन दावों के साथ फैलाये जा रहें है कि ये वीडियो देश के अलग अलग हिस्सों से हैं जहाँ वीडियो में दिख रहे लोग किस तरह कोरोनावायरस का संक्रमण फ़ैलाने कि कोशिश कर रहे है | पूर्व में ऐसे ही कई वीडियो व तस्वीरों का फैक्ट चेक करने पर हमें पता चला है कि यह दावे सरासर गलत है | इसी क्रम में एक और वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करते हुए दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रही महिला कोरोनावायरस से संक्रमित मरीज है और ये दिल्ली के रानीबाग़ के रिलायंस मॉल में संक्रमण फ़ैलाने कि कोशिश कर रही है |इस महिला ने मास्क भी नही पहना है | अब इस स्टोर को सील कर दिया गया है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “रानी बाग़ के रिलायंस मॉल प्रीतमपुरा में आज एक कोरोनावायरस से संक्रमित एक महिला बिना मास्क पहने अंदर आ गयी जिस वजह से अब इस स्टोर को सील कर दिया गया है |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमने उपरोक्त घटना से संबंधित ख़बरों को ढूँढने से किया, जिसके परिणाम में हमें कोई भी विश्वसनीय न्यूज़ रिपोर्ट नही मिला जो इस घटना के बारें में हमें अधिक जानकारी दे सके |

वीडियो को करीब से देखने पर, हमें संकेत मिलते हैं कि क्लिप रिकॉर्ड करने वाला व्यक्ति घटनाओं का सटीक प्रतिनिधित्व नहीं दे रहा है | उनका कहना है कि महिला हर जगह थूक रही है और साथी ग्राहकों को छू रही है, जो सच नहीं है क्योंकि हम वीडियो में देख सकते है कि वह अपनी ही दुनिया में खोई हुई है, उसके आसपास के लोगों को उसके होने से कोई भी असुविधा नहीं दिख रही है और वे बिना चिंता किये खरीदारी कर रहे हैं | इसके अलावा, रिकॉर्ड करनेवाला व्यक्ति यह भी कहता है कि महिला एक सॉफ्ट ड्रिंक की बोतल के अंदर थूककर उस बोतल को वापस रख देती है, लेकिन जो दिख रहा है वह यह है कि उसने एक रैक से बोतल उठाई, कुछ घूंट लिए और बोतल को अपने पास रखा | उसने उसे वापस नहीं रखा | वीडियो रिकॉर्ड करने वाला व्यक्ति स्पष्ट रूप से रिकॉर्ड हो रही घटना को बढा-चढा कर बता रहा है|

फैक्ट क्रेसेंडो ने दिल्ली के रानी बाग़ पुलिस स्टेशन में संपर्क किया, वह मौजूद थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह ने हमें बताया कि:- 

“महिला मानसिक रूप से अस्थिर है और पिछले १० वर्षों से उनका इलाज चल रहा है | इस घटना के साथ कोरोनोवायरस के संक्रमण का कोई संबंध नही है | वह हर्ष विहार में इस स्टोर के करीब रहती है | हमें नहीं पता चला कि यह महिला अपने घर के बहार क्यों निकली | उनको पहले भी मानसिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था | घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने उन्हें शहादरा के इंस्टिट्यूट ऑफ़ ह्यूमन बिहेवीअर एंड अलाइड साइंस (IBHAS) अस्पताल में भर्ती कराया | यह महिला कोरोनावायरस से संक्रमित पेशेंट नही है |”

साथ ही उन्होंने हमें यह भी बताया कि “घटना के बाद इस स्टोर को प्रक्रिया के मुताबिक पूरी तरह से सेनेटाइज करा दिया गया और इस स्टोर को सील करने कि बात केवल एक अफवाह है | यह स्टोर अभी भी खुला हुआ है |” 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दिखाई गयी महिला मानसिक रूप से अस्वस्थ है,वह कोई कोरोनावायरस से संक्रमित मरीज नही है | इस महिला को मानसिक अस्पताल में भर्ती करा दिया है |

Avatar

Title:रानी बाग़ में मानसिक रूप से अस्वस्थ महिला को कोरोनावायरस संक्रमित महिला बता मॉल सील होने की खबर हुई वाईरल |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •