२०१८ में चेन्नई रेलवे स्टेशन से बरामद १००० किलो बकरे के माँस को वर्तमान में बिहार से बरामद कुत्ते का माँस बताया जा रहा है|

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२ दिसम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Siwan News द्वारा की गई एक पोस्ट में एक तस्वीर साझा की गयी है, जिसके विवरण में लिखा है कि, “मोतिहारी रेलवे स्टेशन पर कल 500 किलो (कुत्ते का मास पकडा गया) जो जयसवाल, बच्चन, और मोतिहारी की होटल मे सप्ल्य किया जा रहा था |” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘मोतिहारी रेलवे स्टेशन पर १ दिसम्बर २०१९ को ५०० किलो कुत्ते का माँस बरामद हुआ |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट-क्रिसेंडो की मराठी टीम ने २० नवम्बर २०१९ को उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर पर फैक्ट-चेक किया था | दावा यह था कि यह तस्वीर जालना / नाशिक के रेलवे स्टेशन पर पाया गया ५०० किलो कुत्ते का माँस है, और हमारी मराठी टीम ने इस दावे को ग़लत पाया था |

Fact Crescendo Marathi Fact Check

हमने जब साझा तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च में ढूंढा, तो हमें यह तस्वीर Bhaskar के समाचार वेबसाइट पर १९ नवम्बर २०१८ को प्रकाशित मिली | इस ख़बर के अनुसार यह घटना १७ नवम्बर २०१८ को चेन्नई एग्मोर रेलवे स्टेशन की है | १७ नवम्बर २०१८ को सुबह लगभग १० बजे के आस-पास जब ५ नम्बर प्लेटफार्म पर कोठी-मन्नारगुड़ी ट्रेन आकर जब रुकी, उसमें से कुछ लोगों ने ११ बक्से निकाले | RPF की पेट्रोलिंग दल को उन बक्सों में से भयानक बदबू मिली, तो पूछताछ पर बक्से उतारने वाले लोग फरार हो गए | बाद में उन बक्सों को खोलने पर, उनमें से सड़ने की स्थिति में RPF को लगभग ११०० किलो माँस मिला | पहले तो लगा कि यह कुत्ते का माँस है, मगर बाद में मद्रास वेटरनरी कॉलेज में जांच से पता चला कि यह बकरे का माँस है, कुत्ते का नहीं | पूरी ख़बरों को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

BhaskarPost | ArchivedLink

IndiatimesPost | ArchivedLink

ThenewsminutePost | ArchivedLink

TOI द्वारा १८ नवम्बर २०१८ को प्रकाशित ख़बर में इस घटना का वीडियो भी प्रसारित किया गया है | इस वीडियो को आप नीचे देख सकतें हैं |

TOIPost | ArchivedLink

इसके बाद हमने मोतिहारी के SP उपेन्द्र कुमार शर्मा से संपर्क किया, तो उन्होंने हमें बताया कि यह ख़बर ग़लत है | मोतिहारी में ऐसी कोई भी घटना नहीं घटी है |

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर १७ नवम्बर २०१८ को चेन्नई एग्मोर रेलवे स्टेशन की है, जहां लगभग ११०० किलो बकरे का सड़ा माँस RPF द्वारा बरामद किया गया था | इस घटना का मोतिहारी से कोई सम्बन्ध नहीं है और ना ही कुत्ते के माँस से कोई संबंध है | इस तस्वीर को गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “मोतिहारी रेलवे स्टेशन पर १ दिसम्बर २०१९ को ५०० किलो कुत्ते का माँस बरामद हुआ |” ग़लत है |

Avatar

Title:२०१८ में चेन्नई रेलवे स्टेशन से बरामद १००० किलो बकरे के माँस को वर्तमान में बिहार से बरामद कुत्ते का माँस बताया जा रहा है|

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •