ब्राज़िल के पेरोला शहर के एक वीडियो को श्रीनगर (जम्मू कश्मीर) का बता गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इन दिनों सोशल मंचों पर एक वीडियो काफी तेज़ी साझा किया जा रहा है, उस वीडियो में आप सड़क पर पुलिस को दुपहिया वाहन पर जाते एक शख्स को पकड़ते हुये देख सकते है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि इस वीडियो में दिख रहा प्रकरण जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में भारतीय सेना द्वारा एक आतंकवादी को गिरफ्तार करने का  है।

वायरल हो रहे वीडियो के शीर्षक में लिखा है, 

श्रीनगर मे लाईव आतंकवादी गिरफ्तार,वाह क्या लात मारी हमारे रियल हीरो ने चारों खाने चित। भारत माता की जय। जय हिंदू राष्ट्र।“

फेसबुक 

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहा प्रकरण ब्राज़िल के पेरोला शहर में पुलिस द्वारा एक लड़के को गिरफ्तार करने का है। इस वीडियो का जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर से कोई सम्बंध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के ज़रिये वीडियो को छोटे छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर व गूगल पर इमेज सर्च कर की, परिणाम में हमें यह वीडियो ग्लोबो.कॉम द्वारा प्रकाशित किये हुये एक लेख में इस वर्ष 2 अगस्त को प्रसारित किया हुआ मिला। लेख के अनुसार यह वीडियो ब्राज़िल के पेरोला शहर से है। उत्तर पश्चिमी पराना के पेरोला में एक सैन्य पुलिस अधिकारी ने एक 17 वर्षीय लड़के को उसकी गाड़ी से टक्कर मार दी व उसे पकड़ लिया। लेख के मुताबिक सैन्य पुलिस ने उस शख्स को “संदिग्ध गतिविधि” में लिप्त पाया था व जब उन्होंने उसे रुकने का आदेश दिया तो वह युवक फरार हो गया था। पुलिस द्वारा उसका पीछा करने व शहर की विभिन्न सड़कों से गुजरने के बाद, मोटरसाईकिल सवार पुलिस के वाहन से टकरा गया और उन्होंने उसे पकड़ लिया। पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर रहीं है।

आर्काइव लिंक

इसके बाद उपरोक्त जानकारी को ध्यान में रखते हुये यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया परिणाम में हमें यही वीडियो बालेंको गेरल क्युरिटिबा नामक एक आधिकारिक चैनल पर इस वर्ष 3 अगस्त को प्रसारित किया हुआ मिला। वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “17 वर्षीय एक लड़के ने बोर्डिंग से भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने पकड़ लिया “ और “वह पुलिस से दूर भाग रहा था और कार को टक्कर मार दी। जब वह उठ रहा था तो भगोड़े को पुलिसकर्मी ने पकड़ लिया। लड़का नाबालिग था तो पुलिस ने उसके पिता इस प्रकरण में जबाबतलब के लिए बुलाया था। 

इसके बाद हमने ये जानने की कोशिश की कि क्या वर्तमान में श्रीनगर में सेना ने किसी आतंकवादी को पकड़ा है।

हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया व पाया कि हालही में हिजबुल मुजाहिदीन (एच.एम) से जुड़े आतंकवादी को जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में गिरफ्तार किया गया था। लेख के मुताबिक कुछ दिन पहले आतंकवादी रैंक में शामिल हुए मुजम्मिल शाह को पुलिस, सेना और सी.आर.पी.एफ के संयुक्त अभियान में पतिमहल्ला पालमार के कुलना वन क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था।

यह जानकारी आपको इंडिया टुडे द्वारा इस वर्ष 14 अगस्त को प्रकाशित किये हुये लेख में आप पढ़ सकते है।

आर्काइव लिंक

तदनंतर वायरल हो रहे दावे को ध्यान में रखकर फैक्ट क्रेसेंडो ने कश्मीर में स्थित एक फोटो जर्नलिस्ट बसित ज़ारगर से संपर्क किया व उनसे ये जानने की कोशिश की कि क्या वायरल हो रहा वीडियो जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर का है, उन्होंने हमें बताया कि, वायरल हो रहा वीडियो जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से नहीं है। 

जब हमने उनसे यह पूछा कि क्या श्रीनगर में वर्तमान में कोई आतंकवादी गिरफ्तार हुआ है तो उन्होंने बताया कि, जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी का गिरफ्तार होना आम बात है, ये कोई नई बात नहीं है। यहाँ आतंकवादी गिरफ्तार होते रहते है, पर ये स्पष्ट है कि ये वायरल वीडियो श्रीनगर से नहीं है

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। वीडियो में दिख रहा प्रकरण ब्राज़िल के पेरोला में पुलिस द्वारा एक नाबालिग लड़के को गिरफ्तार करने का है। इस वीडियो का जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर से कोई सम्बंध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. उत्तराखंड के कुछ क्षेत्रों में सदियों से पूजे जा रहे मुस्लिम संत सय्यद कालू पीर के पारंपरिक मंडाण नृत्य को सांप्रदायिक रंग दे गलत दावों के साथ साझा किया जा रहा है।

२. मध्य प्रदेश के धार जिले में साधुओं को पीटाने के वीडियो को गलत दावे के साथ दिल्ली का बता वायरल किया जा रहा है।

३. एक ही समुदाय के लोगों के बीच हुई मारपीट के वीडियो को हिन्दू-मुस्लिम का बता साम्प्रदायिकता से जोड़ फैलाया जा रहा है|

Avatar

Title:ब्राज़िल के पेरोला शहर के एक वीडियो को श्रीनगर (जम्मू कश्मीर) का बता गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •