क्या मस्जिद के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने पर मुस्लिमों ने हिंदुओं को पीटा? जानिए सच…

Communal Missing Context

यह वीडियो बांग्लादेश का है। इस वीडियो का हिंदुओं और हनुमान चालीसा से कोई संबन्ध नहीं है।

हाल ही में राजस्थान के जोधपुर में ईद के अवसर पर हुई हिंसा के कई वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहे है। इस बीच एक और वीडियो सामने आया है। उसमें आप कुछ लोगों को एक ट्रक पर सवार युवाओं को डंडे से पीटते हुये देख सकते है।

दावा किया जा रहा है कि भारत में कुछ हिंदू मस्जिद के सामने हनुमान चालिसा पढ़ रहे थे और इसलिए मुस्लिमों ने उन्हें पीटा। 

वायरल हो रहे वीडियो को साझा कर यूज़र ने लिखा है, “पांच मुस्लिम ने एक सौ नकली हिन्दुओं को मस्जिद के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने का तरीका सिखाते हुए मिले। अगर मुस्लिम की शांति तुम्हें दहशत लगती है तो सोच कर देखो उनकी दहशत कैसी होगी।“

फेसबुक 

आर्काइव लिंक


Read Also: क्या गीता उपदेश स्थल पर बने मंदिर में जबरन बनाई गई मज़ार? जानिए सच


अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस वीडियो की जाँच करने के लिये हमने इसको इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे की-फ्रेम्स में काटकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। परिणाम में हमें यही वीडियो हमें रेडियो बरता नामक एक वैरिफाइड चैनल पर 6 मई को प्रसारित किया हुआ मिला।  

इसमें रिपोर्टर बता रहा है कि ईद के दिन कुछ युवाओं ने एक ट्रक किराये पर ली और ज़ोर से डीजे बजाकर ईद मना रहे थे। तभी वहाँ मौजूद लोगों ने उन युवाओं को डंड़ों से पीटा।

आर्काइव लिंक

आगे बढ़ते हुये हमने इस बारे में और जानकारी हासिल करने की कोशिश की। जाँच के दौरान हमें चंदपुर टी.वी नामक एक फेसबुक पेज पर भी यह वीडियो मिला। इसके साथ दी गयी जानकारी में बताया गया है कि इसमें दिख रही घटना बांग्लादेश के चंदपुर में स्थित हाजिगंज पुलिस स्टेशन इलाके की है। आप नीचे इस वीडियो को देख सकते है।

फिर हमने चंदपुर टी.वी से फेसबुक के माध्यम से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि “ईद के अवसर पर कुछ युवक एक पिक अप वैन पर डी.जे लगाकर ईद मना रहे थे। इसके चलते वहाँ पर मौजूद लोगों ने आपत्ति जताई व उनके बीच कहा- सुनी हो गयी। जिसके बाद उन लोगों में हाथापाई हो गयी। फिर हाजिगंज थाने के ओ.सी मोहम्मद जुबैर सैय्यद ने उन लोगों को पुलिस स्टेशन ले जाकर उन्हें चेतावनी दी। और फिर उन्हें छोड़ दिया गया।“

फैक्ट क्रेसेंडो ने बांग्लादेश में स्थित एक मीडिया हाउस Rumour Scanner से संपर्क किया। उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की कि यह वीडियो बांग्लादेश के हाजिगंज इलाके का है। और उपरोक्त वीडियो में दी गयी जानकारी सही है।

आपको बता दें कि उपरोक्त सबूतों में ऐसा कही भी बताया नहीं गया है कि ये हिंदू और मुस्लिम समुदाय के बीच की लड़ाई है।

इस बात की पुष्टि करने के लिये हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया। हमने jugantor.com और mzamin.com पर प्रकाशित समाचार लेख में लिखा हुआ पाया कि इसमें दोनों भी गुट मुस्लिम समुदाय से ही है।


Read Also: क्या श्रीकाकुलम में तूफान आसनी के कारण समुद्र में सोने का रथ बहकर आया? जानिये सच…


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। दरअसल, यह वीडियो बांग्लादेश का है। वहां के चंदपुर शहर में कुछ युवक ईद के अवसर पर डीजे बजाकर जश्न मना रहे थे। और मस्जिद के समाने हिंदुओं के हनुमान चालीसा पढ़ने वाली खबर गलत है।

Avatar

Title:क्या मस्जिद के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने पर मुस्लिमों ने हिंदुओं को पीटा? जानिए सच…

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Missing Context

Leave a Reply