कनाडा में तिरंगे का अपमान करते खालिस्तानी समर्थकों के वीडियो को पंजाब का बताया जा रहा है…

False International

वायरल वीडियो कनाडा में 6 जून, 2024 को हुए एक खालिस्तानी प्रदर्शन का वीडियो है, जो ऑपरेशन ब्लू स्टार के 40 साल पूरे होने पर हुआ था। इसका पंजाब से कोई लेना देना नहीं है।

एक प्रदर्शन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग पगड़ी पहन कर भारत का झंडा व भारत के संविधान का एक पोस्टर जलाते हुए दिखाई दे रहे हैं। यह भी देखा जा सकता है कि गोलियों से छलनी की गई इंदिरा गांधी के पुतले के सामने बंदूक ताने खड़े दो सिखों के पुतले भी है। वीडियो में कुछ लोगों को ढोल के साथ नारेबाजी करते सुना जा सकता है तो वहीं किल मोदी पॉलिटिक्स जैसे पोस्टर भी दिखाई दे रहे हैं। यूज़र्स दावा कर रहे हैं कि ये वीडियो पंजाब का है।वीडियो को इस कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है….

संविधान की प्रतियां जलाई जा रही हैं तिरंगा जलाया जा रहा है ,लेकिन भीम आर्मी, भीम सेना वालों का खून नहीं खौल रहा, सविधान बचानेवाले अभी कहा है,चुनाव में तो हाथ में सविधान लेकर चलते थे ,,,चुनाव से पहले संविधान बदलने वाले हैं कहकर लोगों में भ्रम फैलाकर सींटे तों जित ली अब खालिस्तान समर्थकों से संविधान की प्रतिया जलाई जा रही है तो कहां मर गए।

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत में वीडियो को ध्यान से देखा। इसमें हमें Media Bezirgan का लोगो दिखाया दिया। इसकी मदद से हमने वायरल वीडियो के मूल और लम्बे वर्जन को इसी नाम के एक यूट्यूब चैनल पर मिला।  7 जून, 2024 को अपलोड किए गए वीडियो के साथ दी गई जानकारी से पता चलता है कि ये कनाडा में हुए एक प्रदर्शन का वीडियो है, जो वैंकूवर शहर में स्थित भारतीय कॉन्सुलेट पर जुटी खालिस्तानी समर्थकों की भीड़ ने किया था। 

आर्काइव

अब हमने मीडिया रिपोर्टों को ढूंढना शुरू किया। परिणाम में हमें 7 जून 2024 को टाइम्स ऑफ़ इंडिया की वेबसाइट पर रिपोर्ट मिली। इसके अनुसार यह घटना कनाडा के वेंकूवर शहर की है। जहां पर कनाडा में भारतीय दूतावास के बाहर ऑपरेशन ब्लू स्टार के 40 वर्ष होने पर प्रदर्शन किया गया था। यहां पर प्रदर्शन के वीडियो को हम देख सकते हैं।

आर्काइव

इसके बाद हमें दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट मिली। इसमें बताया गया है कि ऑपरेशन ब्लू स्टार की 40 वीं बरसी पर 6 जून को कनाडा के अलग-अलग शहरों में ऑपरेशन ब्लू स्टार के खिलाफ प्रदर्शन किए गए थें। इसी दौरान वैंकूवर में प्रदर्शन में इंदिरा गांधी के छलनी किये गए पुतले के साथ झांकी निकाली गयी थी। इंदिरा गाँधी के हत्यारे बेअंत सिंह और सतवंत सिंह को इंदिरा गांधी पर बंदूक ताने दिखाया गया था। प्रदर्शनकरियों ने खालिस्तान के झंडे लहराए और भारत विरोधी नारे लगाते हुए संविधान की प्रतियां और तिरंगे को जलाया।

इसके बाद हमें 9 जून 2024 में हिंदुस्तान टाइम्स (आर्काइव) की एक रिपोर्ट मिली। बताया गया है कि कनाडा में ट्रूडो सरकार के मंत्री, डोमिनिक लेब्लांक ने 8 जून, 2024 को अपने एक्स हैंडल पर ट्वीट कर के घटना की निंदा की और कहा कि कनाडा में हिंसा को बढ़ावा देना कभी भी स्वीकार्य नहीं होगा। 

आर्काइव

इस प्रकार हम कह सकते हैं कि यह वीडियो कनाडा का है पंजाब का नहीं है। 

निष्कर्ष 

तथ्यों के जांच पश्चात हमने यह पाया कि संविधान की प्रतियां व तिरंगे को जलाते लोगों का वीडियो कनाडा का है , जब ऑपरेशन ब्लू स्टार के 40 वर्ष पूरे होने पर यह प्रदर्शन किया गया था। यह पंजाब का वीडियो नहीं है।

Avatar

Title:कनाडा में तिरंगे का अपमान करते खालिस्तानी समर्थकों के वीडियो को पंजाब का बताया जा रहा है…

Written By: Priyanka Sinha 

Result: False

Leave a Reply