अंडरवाटर माइनिंग और ब्लास्टिंग के वीडियो को प्राकृतिक घटना का बता साझा किया जा रहा है |

False Social

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी चर्चा में है जिसे प्राकृतिक घटना का बताया जा रहा है, इस वीडियो में हम अचानक से एक जलसोत्र में हुये धमाके को देख सकते है। वीडियो को सोशल मीडिया पर साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि इस नदी में आकाशीय बिजली गिरने का वीडियो है |
पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “नदी में आकाशीय बिजली गिरने का अदभुत दृश्य”
Embed

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक

यह वीडियो फेसबुक पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है |

अनुसंधान से  पता चलता है कि

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से छोटे की फ्रेम्स में तोड़कर व गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से किया जिसके परिणाम से हमें यह पता चला कि वीडियो इन्टरनेट पर २०१२ से उपलब्ध है | इसी क्लिप को यूट्यूब पर दिसंबर 2012 में एक कंपनी (Rannikon Merityö) ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “पोरापालुतुस्ता, ओसा 3: राजयतिस” | इस फिनिश वाक्य का अनुवाद है “ड्रिलिंग पाइलिंग, भाग 3: ब्लास्टिंग” | विवरण में कहा गया है, “इस वीडियो में, हम जलमार्ग को गहरा कर रहे हैं।” डिस्क्रिप्शन के अनुसार, यह एक कंट्रोल्ड धमाका था, जिसे नदी की गहराई को बढ़ाने के लिए किया गया था |

इस यूट्यूब चैनल की वेबसाइट को ढूँढ़ते हुए हमने पाया कि इस वेबसाइट पर भी वायरल वीडियो ‘लोहिंटा‘ या माइनिंग सेक्शन के अंतर्गत उपलब्ध है | अंडरवाटर माइनिंग और ब्लास्टिंग की व्याख्या में-(अनुवादित), “अंडरवाटर माइनिंग का उपयोग समुद्र तटों और जलमार्गों के पुनर्वास और समुद्री संकेतों को स्थापित करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा, जलमार्गों का ड्रेजिंग, निर्माण और रखरखाव खुदाई और ब्लास्टिंग कार्य के माध्यम से किया जाएगा बोरहोल में पानी के नीचे विशेष विस्फोटक रखकर खुदाई की जाती है, जिसे चट्टान में ड्रिल किए गए छेदों में डुबोया जाता है |”


आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो मनुष्यों द्वारा किया गया एक कंट्रोल्ड धमाका था |

Avatar

Title:अंडरवाटर माइनिंग और ब्लास्टिंग के वीडियो को प्राकृतिक घटना का बता साझा किया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

हमारे द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक को आप नीचे पढ़ सकते है :

1. सिलीगुड़ी में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उनके भाषण में कहे “चोरी सम्बंधित” वक्तव्य को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है |

2. श्रीनगर में डल झील के किनारे अतिक्रमण हटाने के वीडियो को रोहिंग्याओं मुस्लिमों की अवैध बस्तियों को ध्वस्त करने का बता फैलाया जा रहा है|

3. 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •