मेरठ में स्विमिंग पूल के पास हुई हत्या की घटना में नहीं है सांप्रदायिक एंगल….

False Political

सोशल मीडिया पर स्विमिंग पुल के पास एक भीड़ का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में एक युवक को स्विमिंग पुल के पास एक शख्‍स की गोली मारकर हत्‍या करते हुए दिखाया  गया  है। वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि मेरठ में स्विमिंग पुल के पास विवाद के बाद मुसलमानों ने एक हिंदू की हत्‍या कर दी।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है-  UP के मेरठ के लोहियानगर इलाक़े में बच्चों के सामने उनके पिता की, स्विमिंग पूल के पास हुए विवाद में बाद हत्यारे ने कनपटी से सटाकर मारी, मो० दाऊद , मो० बिलाल, मो० असलम और दानिश के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज, फ़िलहाल सभी फ़रार, कल नतीजे आए और आज टोटी चोर का शानदार आगाज हुआ।अब भुगतो जाओ सो जाओ हिंदुओ चद्दर ओढ़कर AC चलाकर

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के बारे में अलग अलग की-वर्ड के साथ सर्च करना शुरु किया। पड़ताल में वायरल वीडियो की खबर हमें जी न्‍यूज की वेबसाइट पर मिली। प्रकाशित खबर के अनुसार मेरठ में सरेआम एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी , जो अपने बच्चों के साथ स्विमिंग पूल में नहाने गया था। लाइव मर्डर की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। 

मृतक अरशद का दो दिन पहले आरोपी से विवाद हुआ था। निम्न में पूरी खबर देखें।

मिली जानकारी को ध्यान में रखते हुए आगे की सर्च करने पर वायरल वीडियो की खबर हमें अन्य न्यूज वेबसाइट पर भी मिली। खबर यहां, यहां और यहां पर भी देखा जा सकता है। इन रिपोर्टस में पीड़ित और आरोपी की पहचान अरशद और बिलाल के रूप में की गई है। 

प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार आरोपी बिलाल का पहले से आपराधिक रिकॉर्ड है। 

अरशद और बिलाल के बीच बहस हुई, जिसके कारण बिलाल ने अरशद को गोली मार दी। माना जा रहा है कि यह घटना पुरानी रंजिश का नतीजा है।

उनके नामों से पता चलता है कि वे एक ही समुदाय के हैं, और किसी भी रिपोर्ट ने घटना में किसी सांप्रदायिक पहलू का संकेत नहीं दिया गया है। 

इसके अलावा, मेरठ पुलिस ने वायरल वीडियो के संबंध में अपने एक्स पर पुष्टि की है। जिसमें कहीं पर भी सांप्रदायिक एंगल नहीं बताया गया है। 

स्पष्टीकरण के लिए मेरठ पुलिस से संपर्क करने पर उन्होंने हमें स्पष्ट किया कि इस घटना में कोई सांप्रदायिक पहलू नहीं है। इसमें शामिल दोनों पक्ष एक ही समुदाय से हैं। 

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, मेरठ में स्विमिंग पुल के पास हुई हत्या घटना में नहीं है सांप्रदायिक एंगल। घटना के वीडियो को कुछ लोग हिंदू की हत्‍या बताकर वायरल कर रहे हैं। जबकि दोनों ही पक्ष मुस्लिम थे।

Avatar

Title:मेरठ में स्विमिंग पूल के पास हुई हत्या की घटना में नहीं है सांप्रदायिक एंगल….

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: False

Leave a Reply