सोशल मंचो पर NDTV के पत्रकार रवीश कुमार फिर बने निशाना – इस बार दिल्ली शूटर की पहचान को लेकर |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिल्ली में गत दिनो से चल रहे  हिंसक उपद्रवों के दौरान पुलिस के जवान पर पिस्तौल तानने वाले एक युवक का वीडियो सोशल मंचो पर व्यापक रूप से चर्चा में है | इस युवक की पहचान को लेकर सोशल मीडिया पर एक भ्रामक पोस्ट वायरल हो रही है |पूर्व में फैक्ट क्र्सेसन्डो ने ऐसे ही एक दावे का फैक्ट चेक करते हुये यह बताया था की पुलिस पर बन्दुक तानने वाले व्यक्ति का नाम शाहरुख़ है ना ही अनुराग मिश्रा | 

इसी बीच कहा जा रहा है कि NDTV के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने पुलिस पर गोलीबारी करने वाले शाहरुख का बचाव करने के लिए आरोपी शाहरुख को हिंदू युवक अनुराग मिश्रा कहा | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो दो हिस्सों में देखा जा सकतें है जहाँ रविश कुमार के प्राइम टाइम शो की एक क्लिप देखी जा सकती है | उनकी बातों को यकायक मध्य से काटते हुए हम अनुराग मिश्रा के वीडियो का दुसरे भाग में देख सकते है जहा वे कहते है कि उनके नाम और तस्वीर को सोशल मीडिया पर गलत तरीके से फैलाया जा रहा है | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमने यूट्यूब पर रविश कुमार के इस क्लिप्ड वीडियो को कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढा, जिसके परिणाम में हमें २४ फरवरी २०२० को NDTV द्वारा प्रसारित प्राइम टाइम शो का  वीडियो मिला | पूरा वीडियो देखने के बाद पता चला कि रवीश कुमार ने अपने प्राइम टाइम बुलेटिन में आरोपी शाहरूख के बारे में सभी जानकारी विस्तार से दी थी | इस वीडियो को ध्यान से सुना जाये तो हमें पता चलता है कि इस युवक के बारें में हर तरह की जानकारी दी गयी है, साथ ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे भी बताये गये है | पत्रकार रविश कुमार ने इस वीडियो और तस्वीरों के माध्यम से किये गये दावों के बारें में बात करते हुए यह भी कहा कि दर्शकों को ऐसे एडिटेड पोस्ट पर विश्वास करने से पहले सतर्कता बरतनी चाहिये | पूरा शो आप नीचे देख सकते है | इससे स्पष्ट है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो रविश कुमार के प्राइमटाइम का एक छोटा सा क्लिप्ड वर्शन है जिसे ग़लत संदर्भ से लोगों को भ्रमित करने के लिए फैलाया जा रहा है |

इसके आलावा हमें २६ फरवरी २०२० को NDTV द्वारा प्रसारित वीडियो मिला जहाँ हम रविश कुमार को उन्ही शब्दों का इस्तेमाल करते हुए सुन सकते है जो वायरल वीडियो क्लिप में सुना जा सकता है | मूल वीडियो में वे कहते है कि “लाल टी शर्ट वालें लड़के को पिस्तौल चलाने की हिम्मत नही होती, पुलिस की हालत यह है की ये अभी तक गिरफ्तार नही हुआ है | पुलिस साफ़ कहती है कि यह शाहरुख़ है मगर आप सोशल मीडिया पर देखिये इस शख्स को अनुराग मिश्रा बताकर शेयर किया जा रहा है | अभी भी जरुरत है कि पुलिस इसकी पहचान को लेकर दोबारा बोले |”

इसके पश्चात हम वायरल पोस्ट में दिये अनुराग मिश्रा के प्रोफाइल पर गये जहाँ हमें उनके द्वारा अपलोड किये गये कुछ वीडियो मिले | इस वीडियो में वह कहते है कि कैसे सोशल मीडिया पर उनके फोटो और नाम के साथ गलत प्रचार किया जा रहा है | साथ ही वो कहते है कि उनके फोटो को गलत तरीके से इस शूटर के साथ जोड़ा रहा है, वे आगे कहते हैं कि ऐसा करने वालों के खिलाफ वे जल्द ही क़ानूनी कार्यवाही करने वाले है | 

फेसबुक पोस्ट

रविश कुमार ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर इस वीडियो को लेकर एक स्पष्टीकरण जारी किया, उन्होंने लिखा है कि “आप देखेंगे कि मैंने अपने कार्यक्रम में दिल्ली पुलिस के डी सी पी की बाइट लगाई है जो कह रहे हैं कि नाम शाहरूख है और गिरफ्तार नहीं हुआ है | मैंने शाहरूख को अनुराग बताने वाली तस्वीरें जानबूझ कर नहीं दिखाई | मुझे अनुराग मिश्रा बताना होता तो डी सी पी की ये बाइट क्यों लगाता? जिसमें वो कह रहे हैं कि शाहरूख है और गिरफ्तार नहीं हुआ है |” 

फेसबुक पोस्ट  

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो क्लिप एडिट कर फैलाया जा रहा है | NDTV के पत्रकार रविश कुमार ने दिल्ली के शूटर शाहरुख़ को अनुराग मिश्रा नही बताया | वे केवल लोगों को यह बता रहे थे की सोशल मीडिया पर अनुराग मिश्रा के नाम की अफवाह फैली हुई है | उनके उस दिन के प्राइम टाइम शो से यह बात स्पष्ट होती है कि दिल्ली में बंदूक तानने वाला युवक शाहरुख़ है | इस शो में रविश कुमार के अनुराग मिश्रा का वीडियो नही दिखाया था, इस वीडियो क्लिप को एडिट कर जोड़ा गया है | 

Avatar

Title:सोशल मंचो पर NDTV के पत्रकार रवीश कुमार फिर बने निशाना – इस बार दिल्ली शूटर की पहचान को लेकर |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •