पीएम मोदी संविधान को बदलकर मनुस्मृति लाने की बात नहीं कर रहे अधूरा वीडियो गलत दावे से वायरल…

Altered Political

पीएम मोदी का वायरल वीडियो अधूरा है ,मूल वीडियो में वो बोल रहे थें कि कांग्रेस संविधान के नाम पर सरकार पर झूठे आरोप लगा रही है, भारत के संविधान को खुद बाबासाहेब अंबेडकर भी खत्म नहीं कर सकते।

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए पीएम मोदी की ताबतोड़ रैलियों और जनसभाओं का दौर जारी है। जिसकी कई तस्वीरें और पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल किये जा रहे हैं। इसी बीच पीएम मोदी की जनसभा का एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें वो लोगों को संबोधित करते हुए देश के संविधान पर बोल रहे हैं। पीएम कह रहे हैं कि जहां तक संविधान का सवाल है आप मान कर चलिए और मोदी के शब्द लिखकर रखिए, बाबा साहेब अंबेडकर खुद आ जाएं तो भी संविधान खत्म नहीं कर सकते हैं। यूज़र्स इस वीडियो को सच मान रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि पीएम मोदी  मौजूदा संविधान को बदलकर मनुस्मृति वाला संविधान लागू करने जा रहे हैं। वीडियो इस कैप्शन के साथ देखा जा सकता है…

मैं पुराने संविधान को बदलकर मनुस्मृति वाला संविधान बनाऊंगा जिसे स्वयं बाबा साहब अम्बेडकर भी आकर खत्म नहीं कर सकते है। क्या घमंडी नरेंद्र मोदी यह कहना चाहता है?

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत में पीएम मोदी के वायरल वीडियो को ध्यान से सुनने के बाद कीवर्ड्स से खोज शुरू की , हमें पीएम मोदी के इस भाषण के बारे में जनसत्ता द्वारा एक खबर प्रकाशित मिली। जिसके अनुसार 2 अप्रैल 2024 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के बाड़मेर में एक रैली की थी। यह रैली बाड़मेर लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी और केन्द्रीय राज्य मंत्री कैलाश चौधरी के चुनाव प्रचार के लिए आयोजित की गई थी। यहां पर रैली के दौरान पीएम मोदी ने अपने भाषण में कांग्रेस पर पलटवार किया था। पीएम ने कहा था कि संविधान को लेकर कांग्रेस सरकार पर झूठे आरोप लगाती है। बीजेपी संविधान और बाबासाहेब अंबेडकर का सम्मान करती है। जबकि इस संविधान को जो बाबा साहेब अंबेडकर ने लिख दिया उस संविधान को खुद बाबासाहेब अंबेडकर भी खत्म नहीं कर सकते। 

आर्काइव

इसके बाद आगे हमें पीएम मोदी के यूट्यूब चैनल पर बाड़मेर की इसी जनसभा का वीडियो मिला। इसमें 19:26 से लेकर 19:59 तक के टाइम पर  वायरल वीडियो वाले हिस्से को देखा जा सकता है। जिसमें पीएम मोदी कहते हैं कि हमारा संविधान गीता है, महाभारत है, कुरान है, बाइबिल है सबकुछ है। ये सबकुछ हमारे लिए हमारा संविधान है। इस दौरान हमने पाया कि पूरे वीडियो में कहीं पर भी संविधान को बदलकर मनुस्मृति लाने की बात पीएम मोदी ने नहीं की।

आर्काइव

इसके आलावा हमें अन्य मीडिया रिपोर्ट्स में पीएम मोदी के इसी भाषण पर खबरें प्रकाशित मिली हैं। दैनिक जागरण (आर्काइव) और राजस्थान तक की वेबसाइट पर 13 अप्रैल 2024 की तारीख में इसी बयान को लेकर खबर देखी जा सकती है।

गौरतलब है कि अभी हाल ही में पीएम मोदी और बीजेपी पर I.N.D.I.Aअलायन्स (आर्काइव) द्वारा संविधान को लेकर कई आरोप लगाए गए। छत्तीसगढ़ में एक रैली के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने संविधान को लेकर बड़ा आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि एक तरफ कांग्रेस पार्टी और INDIA गठबंधन है, जो संविधान को बचाने  में लगे हैं। दूसरी तरफ नरेंद्र मोदी और RSS है, जो संविधान को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं।  

आर्काइव

इससे ये समझा जा सकता है संविधान को लेकर लग रहे आरोपों के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए ये तमाम बातें कही थीं। उनके द्वारा मनुस्मृति लागू करने की बात फेक दावे से फैलाया गया है। 

निष्कर्ष 

तथ्यों के जांच के पश्चात हमने यह पाया कि पीएम मोदी द्वारा संविधान बदल कर मनुस्मृति लागू करने की बात बेबुनियाद है। उनके वीडियो में से एक हिस्से को काट कर गलत तरीके से फैलाया गया है। हमें मिली वीडियो में भाषण के दौरान पीएम मोदी ने कहीं भी  मनुस्मृति का जिक्र नहीं किया।  ऐसे में साफ है कि पीएम मोदी का ये बयान गलत तरीके से शेयर किया गया है। 

Avatar

Title:पीएम मोदी संविधान को बदलकर मनुस्मृति लाने की बात नहीं कर रहे अधूरा वीडियो गलत दावे से वायरल…

Fact Check By: Priyanka Sinha 

Result: Altered

Leave a Reply