“निर्मला पंत न्याय अभियान” के तहत हुये एक नुक्कड़ नाटक की तस्वीरों को वास्तविक घटना का बता फैलाया जा रहा है।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Nirmala Pant8.jpg

२०१८ में नेपाल में हुये एक जघन्य अपराध जिसमें एक १३ वर्षीय बालिका के साथ बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गई थी, इस घटना के बाद से ही पूरे नेपाल में इस बच्ची को न्याय दिलाने व इस घटना से जुड़े अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग को लेकर आवाज़ उठाई जा रही थी, घटना नेपाल के कंचनपुर क्षेत्र में हुई थी जहाँ १३ वर्षीय बच्ची को उसी के घर के पास स्थित गन्ने के खेतों में ले जा कर इस घटना को अंजाम दिया गया था|

इस घटना के विरोध में नेपाल के कई स्वयंसेवी संस्थान व आम जनता के द्वारा निरंतर प्रदर्शन किये जा रहे थे और इसी के साथ सोशल मंचो पर भी इस घटना को लेकर कई ख़बरें व दावे देखे जाते रहें हैं, इनमें से कुछ दावे न केवल भ्रामक हैं बल्कि वे सरासर गलत भी हैं, इस घटना से सम्बंधित एक ऐसा ही दावा सोशल मंचो पर वर्तमान में चर्चा का विषय बना हुआ है, कुछ तस्वीरों को जिनमें हम एक लड़के को एक लड़की के साथ खींचातानी करते हुये देख सकतें हैं व अन्य लोगों की भीड़ को इस कृत्य को अपने मोबाइल में रिकॉर्ड करते हुये देख सकतें हैं को इस दावे के साथ फैलाया जा रहा है कि ये वास्तविक घटना २६ जुलाई २०१८ को उस बच्ची के साथ हुये दुष्कर्म की हैं जहाँ उसे सार्वजनिक स्थल पर इस प्रकार से प्रताड़ित किया जा रहा है और आम जन केवल वीडियो बना रहें है, पोस्ट नेपाल पुलिस की असंवेदना पर भी प्रश्न चिन्ह जताता है जो कि मौके पर स्थित हैं पर उन्हें इस कृत्य से कोई फर्क नहीं पड़ता है और वे भी आमजन की तरह इस कृत्य को अपने मोबाइल में कैद कर रहें हैं|

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Nirmala Pant9.jpg

फेसबुक

हालाँकि ये सही नहीं है, ये वीडियो एक नुक्कड़ नाटक का हिस्सा है जिसे “निर्मला पंत न्याय अभियान” के अंतर्गत काटमांडू में किये गए एक स्ट्रीट प्ले से लिया गया है, इस वीडियो व सोशल मंचो पर चल रहे दावों का विस्तृत अनुसंधान आप नीचे पढ़ सकतें हैं|

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इन तस्वीरों को यांडेक्स रीवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम में  हमें यूट्यूब पर एक वीडियो मिला जिसमें वीडियो में दिख रही लड़की नज़र आ रही थी | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि

निर्मला पंत के बलात्कार और मर्डर केस की दिल दहला देने वाला स्ट्रीट ड्रामा |” 

इस वीडियो के शीर्षक से हमें पता चला कि यह एक नुक्कड नाटक हो सकता है और वाईरल हो रही तस्वीरें उस नाटक की हैं |

आर्काइव लिंक

तद्पश्चात हमने कीवर्ड सर्च के माध्यम से और अधिक जानकारी ढूँढने की कोशिश की तो हमें डी.सी नेपाल नामक एक मीडिया संगठन के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर भी यह वीडियो मिला। इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है कि 

“निर्मला पंटा के बलात्कार और हत्या प्रकरण पर विरोध, निर्मला पंटा मामले पर नुक्कड़ नाटक |” यह वीडियो 2 मिनट 41 सेकंड लंबा है |

आर्काइव लिंक

इस नुक्कड़ नाटक के एक 4 मिनट का लंबा वर्शन १० दिसंबर २०१८ को क्लासिक नेपाल नामक फेसबुक पेज ने साझा किया था | इस पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “निर्मला पंत के दुष्कर्म और हत्या के ऊपर स्ट्रीट प्ले |”

इस वीडियो की पुष्टि करने के लिए फैक्ट क्रेसेंडो ने नेपाल स्थित डी.सी नेपाल मीडिया संगठन के संवाददाता कमल सौद से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि, 

यूट्यूब पर प्रसारित किया गया वीडियो “निर्मला पंत न्याय अभियान” नामक एक संगठन द्वारा निर्मला पंत को न्याय दिलाने के लिए 8 दिसंबर, 2018 को नये बानेश्वर, काठमांडू में एक नुक्कड़ नाटक किया था, यह संगठन अपने इन स्ट्रीट प्लेस के जरिये सरकार पर दबाव डालने व इस मामले से जुड़े अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा देने के उद्देश्य से इस प्रकार के नाटकों का मंचन कर रहा था। मैं इस नुक्कड़ नाटक के समय मौजूद था और इस प्रदर्शन को डी.सी नेपाल के लिये मैंने कवर किया था | वाइरल तस्वीर में दिखाए गये दृश्य इस नाटक से लिए गये है और वास्तविक घटना से भिन्न हैं, सोशल मंचो पर किये दावों की कोई सत्यता नहीं है | इस विरोध प्रदर्शन में नेपाल की पुलिस मौजूद भी मौजूद थी जिनका जिक्र वर्तमान दावों में किया जा रहा है, पुलिस की मौजूदगी वहां पर कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए थी |”

इसके पश्चात् हमने हमने नेपाल स्थित एक वरिष्ठ समाज सेवक, पुकार बाम से संपर्क किया जिन्होंने होने हमें इस आन्दोलन (निर्मला पंत के न्याय आन्दोलन) के प्रमुख कैंपनर भावना राउत से संपर्क करने की सलाह दी व उनसे हमारा संपर्क कराया |

फैक्ट क्रेसेंडो ने भावना राउत से संपर्क किया जो इस जनआंदोलन की प्रमुख कैंपनर थीं, उन्होंने हमें बताया कि 

यह तस्वीरें उनके द्वारा लिखे गये नुक्कड़ नाटक की है | यह असली घटना की नही हैं | मैं इस नाटक के समय स्थान पर मौजूद थी |”

भावना ने हमें इस स्ट्रीट प्ले से ली गयीं कई अन्य तस्वीरें भेजी जिन्हें आप नीचे देख सकतें हैं |

https://lh3.googleusercontent.com/-ojoaB2CfPwQ/X0U8VdEqdiI/AAAAAAAAIh4/lKXrXR3-XjUcdNLr2lo2Tk1HmvRBvb43QCK8BGAsYHg/s512/2020-08-25.png

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त दावे को गलत पाया है। वाईरल हो रहीं तस्वीरें निर्मला पंत के बलात्कार व हत्या की नहीं है बल्की ये तस्वीरें एक स्ट्रीट प्ले के वीडियो की हैं।

Avatar

Title:“निर्मला पंत न्याय अभियान” के तहत हुये एक नुक्कड़ नाटक की तस्वीरों को वास्तविक घटना का बता फैलाया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply