लोकसभा स्पीकर ओम बिरला का पुराना वीडियो गलत दावे से वायरल…

Misleading Political

केंद्र में लगातार तीसरी बार सरकार बनने के बाद ओम बिरला के फिर से लोकसभा का स्पीकर चुने जाने के बाद सोशल मीडिया पर उनका एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है, जिसमें उनको  संसद सदस्य पर नाराजगी जाहिर करते हुए देखा और सुना जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि ओम बिरला दोबारा लोकसभा स्पीकर होने के बाद नाराजगी जाहिर करते हुए दिखे।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- यही तेवर और अंदाज़ के लिए ही दोबारा चुनें गए है ओम बिरला जी, शुरुवात ही धाकड़ और विस्फोटक तरीके से

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के बारे में अलग अलग की-वर्ड सर्च किया। परिणाम में वायरल वीडियो की खबर हमें टाइम्स ऑफ इंडिया (आर्काइव)  की रिपोर्ट में मिली। ये खबर 12 दिसंबर 2022 को प्रकाशित हुई थी।

रिपोर्ट के अनुसार लोकसभा के प्रश्नकाल के दौरान रेड्डी की टिप्पणियों के बाद, बिरला ने कहा कि सदस्यों के चुनाव में न तो जाति और न ही धर्म की कोई भूमिका है। तभी स्पीकर ने चेतावनी देते हुए कहा, “यहां किसी को भी सदन में ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, वरना , मुझे ऐसे सदस्य के ख़िलाफ़ कार्रवाई करनी होगी। 

जांच में आगे वायरल वीडियो को ध्यान से देखने पर वीडियो के दाएं कोने में “12.12.22” तारीख़ लिखा हुआ नज़र आ रहा है।  इससे पता चला कि यह वीडियो 2022 का है, न कि 2024 का। 

वहीं वायरल वीडियो में संसद टीवी लिखा गया है। इसे ध्यान में रखते हुए आगे की सर्च करने पर वायरल वीडियो का लंबा वर्जन हमें संसद टीवी यूट्यूब चैनल मिला। ये 12 दिसंबर 2024 के लोकसभा सत्र का लाइव वीडियो है। 

वीडियो के शीर्षक में लिखा है- “लोकसभा प्रश्नकाल ।

इस लाइव वीडियो में 52 मिनट से वायरल वीडियो के हिस्से को देखा जा सकता है। 

मूल वीडियो में उन्हें सदन में जाति या धर्म का ज़िक्र करने के ख़िलाफ़ संसद सदस्यों को चेतावनी देते हुए दिख रहे हैं।  कांग्रेस सांसद रेवंत रेड्डी के आरोपों के बाद, स्पीकर ने चेतावनी देते हुए विपक्षी सांसद को संसद की कार्यवाही में बाधा न डालने की चेतावनी दी थी।

बतादें कि चार जून को चुनाव के नतीजे आने के बाद केंद्र में लगातार तीसरे कार्यकाल के लिए भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस की सरकार बनी और लगातार दूसरी बार ओम बिरला लोकसभा के स्पीकर चुने गए ।

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, 2022 की लोकसभा कार्यवाही के दौरान के स्पीकर ओम बिरला की नाराजगी जताए जाने के वीडियो क्लिप को हालिया लोकसभा कार्यवाही का बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Avatar

Title:लोकसभा स्पीकर ओम बिरला का पुराना वीडियो गलत दावे से वायरल…

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: Misleading

Leave a Reply