क्या स्वतंत्रता के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में पहला एयरपोर्ट बना है? जानिए सच

False Political

यह दावा गलत है। तस्वीर में दिख रहा एयरपोर्ट अरुणाचल प्रदेश का पहला एयरपोर्ट नहीं है।

एयरपोर्ट के रनवे की एक तस्वीर इंटरनेट पर काफी तेज़ी से साझा की जा रही है। उसके साथ दावा किया जा रहा है कि यह अरुणाचल प्रदेश के एयरपोर्ट की तस्वीर है। यह भी कहा जा रहा है कि देश के स्वतंत्रता के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में यह पहला एयरपोर्ट बना है।

वायरल हो रही तस्वीर के साथ यूज़र ने लिखा है, “आजादी के बाद पहली बार अरुणांचल प्रदेश में एयरपोर्ट बना। यह है असली भारत जोड़ो।“ (शब्दश:)

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च कर की। तो हमें यही तस्वीर 18 नवंबर को एन.डी.टी.वी के वेबसाइट पर प्रकाशित की हुई मिली। उसके साथ दी गयी जानकारी में बताया गया है कि इसमें दिख रहा एयरपोर्ट अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में स्थित डोनी पोलो एयरपोर्ट है। 

आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है कि इसमें यह भी लिखा है कि यह अरुणाचल प्रदेश का तीसरा एयरपोर्ट है।

आर्काइव लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्ष 2019 में इसकी आधारशिला रखी थीं और अब 19 नवंबर को इसका उद्घाटन किया था। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में दो एयरपोर्ट है, एक पासीघाट में और दूसरा तेजू में। आपको बता दें कि डोनी पोलो अरुणाचल प्रदेश का पहला ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट है। 

पी.आई.बी की रिपोर्ट के अनुसार वैसे तो अरुणाचल प्रदेश में डोनी पोलो एयरपोर्ट, पासीघाट और तेजू एयरपोर्ट के साथ जीरो एयरपोर्ट नामक भी एक एयरपोर्ट है, परंतु वह कार्यरत नहीं है। तो जीरो एयरपोर्ट को अगर गिना जाये तो डोनी पोलो एयरपोर्ट अरुणाचल प्रदेश का चौथा एयरपोर्ट है। 

जाँच में आगे बढ़ते हुये हमें 22 मई 2018 को प्रकाशित इंडियन एक्प्रेस की खबर मिली। उसमें बताया गया है कि इस साल 23 मई को अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट एयरपोर्ट पर राज्य की पहली कमर्शियल फ्लाइट लैंड हुई थी। 

अरुणाचल के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के साथ उपमुख्यमंत्री चौना मीन, विधानसभा अध्यक्ष टी एन थोंगडोक, अन्य कैबिनेट मंत्रियों और विधायकों सहित कुल 25 यात्री गुवाहाटी हवाई अड्डे से इस उड़ान के पहले यात्री थें। 

इस दौरान हमें 24 मई 2018 को इंडियन एक्प्रेस के वेबसाइट पर एक और रिपोर्ट प्रकाशित की हुई मिली। उसमें यह बताया गया है कि भले ही कई सालों में अब पहली बार अरुणाचल प्रदेश में पहली फ्लाइट लैंड हुई है, परंतु इसके पहले 1980 -1990 के दशक में एयर इंडिया और इंडियन एयरलाइंस की संयुक्त फ्लाइट वायुदूत ने अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और असम सहित पूर्वोत्तर में लगभग 30 जगहों पर उड़ाने भरी है। 1997 में इस सेवा को बंद कर दी गई थी। 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रही तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। यह तस्वीर अरुणाचल प्रदेश के पहले एयरपोर्ट की नहीं है।

Avatar

Title:क्या स्वतंत्रता के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में पहला एयरपोर्ट बना है? जानिए सच

Fact Check By: Samiksha Khandelwal 

Result: False

Leave a Reply