क्या पश्चिम बंगाल में प्रचार करने गये भा.ज.पा नेता नवीन पात्रा के हेलीकॉप्टर को लोगों द्वारा धक्का मारा गया ? जानिये सच…

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पश्चिम बंगाल में चुनावों के चलते सभी दलों के नेताओं द्वारा बंगाल में प्रचार किया जा रहा है। इसी बीच सोशल मंचों पर एक वीडियो वायरल होता दिख रहा है जिसमें आप कुछ लोगों को एक हेलीकॉप्टर को हाथों से धक्का मारते हुए उसे चलाने की कोशिश करते दिखायी देंगे। इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि, पश्चिम बंगाल में प्रचार करने गये भा.ज.पा नेता नवीन पात्रा के हेलीकॉप्टर का तेल खत्म होने के कारण हेलीकॉप्टर को हाथों से धक्का मारना पड़ रहा है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

पश्चिम बंगाल में हेलिकाप्टर से चुनाव प्रचार करने गए भाजपा मंत्री नवीन पात्रा के हेलीकॉप्टर का तेल ही खत्म हो गया। मोदी है तो मुमकिन है।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस वीडियो को इंटरनेट भा.ज.पा पर तेल की महंगाई को लेकर तंज कसते हुए काफी तेज़ी से साझा किया जा रहा है।

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही खबर सरासर गलत है। यह वीडियो मिज़ोरम के एक हेलिपैड का है व भा.ज.पा में नवीन पात्रा नामक कोई नेता नहीं हैं।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल रीवर्स इमेज सर्च कर के की, परिणाम में हमें एक ट्वीट मिला जिसमें यही वीडियो इस वर्ष 22 जनवरी को प्रसारित किया हुआ मिला। ट्वीट के शीर्षक में लिखा है, “अधिक ऊंचाई पर मिजोरम में एक यात्री हेलीकॉप्टर का इंजन शुरू नहीं हो सका, इसलिए उन्हें स्टार्ट पुश करना पड़ा।“

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने उपरोक्त ट्वीट के कमेंट अनुभाग को खंगाला तो पाया कि वहाँ एक उपभोक्ता ने इस हेलीकॉप्टर को पवन हंस का बताया।

ट्वीट | आर्काइव लिंक

तदनंतर हमने मिज़ोरम के आइजोल में पवन हंस के कैप्टन जलाल से संपर्क किया व उनसे वायरल हो रहे वीडियो व दावे के बारे में जानकारी ली। उन्होंने हमें बताया कि, “वायरल हो रही खबर सरासर गलत है। VT-ELT मिजोरम सरकार द्वारा नियुक्त किया गया है व किसी भी चुनाव ड्यूटी पर नहीं है। आइजोल शहर में मुलीपुई हेलीपैड है, जहाँ सभी हैलीकॉप्टरों की बोर्डिंग व डी बोर्डिंग होती है और दिन के अंतिम क्रम के बाद, हेलीकॉप्टर को हैंगर में, वीडियो में जिस तरह दिखाया जा रहा है, उस तरह से धकेल दिया जाता है। यहाँ ट्रैक्टर की सुविधा न होने के कारण लोग हेलीकॉप्टर को सामने से टोबर लगा कर धकेलते हैं।“

इससे यह साबित हो जाता है कि वायरल हो रहा वीडियो पश्चिम बंगाल का नहीं है।

इसके पश्चात हमने यह पता लगाया कि भा.ज.पा के नवीन पात्रा कौन है? 

हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया तो हमें नवीन पात्रा नाम का कोई भी नेता नहीं मिला। इसके बाद हमने MyNeta.info पर नवीन पात्रा को ढुँढने की कोशिश की तो वहाँ भी हमें कोई भी नेता इस नाम का नहीं मिला।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त दावा गलत है| यह वीडियो मिज़ोरम के एक हेलिपैड का है व इस वीडियो का भा.ज.पा से या फिर नवीन पात्रा नामक किसी भी नेता से कोई सम्बन्ध नहीं है ।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. अमूल आइसक्रीम में सूअर की चर्बी इस्तेमाल होने के दावे फर्जी हैं |

२. 2016 में केलिफोर्निया के टर्लोक सीटी के एक गुरुद्वारे में हुई झडप को कनाडा व भारत से जोड़ वायरल किया जा रहा है।

३. क्या राकेश टिकैत पर गाजीपुर में लगे टेन्टों के किराये का भुगतान न करने पर उत्तरप्रदेश में एफ.आई.आर दर्ज की गई? जानिये सच…

Avatar

Title:क्या पश्चिम बंगाल में प्रचार करने गये भा.ज.पा नेता नवीन पात्रा के हेलीकॉप्टर को लोगों द्वारा धक्का मारा गया ? जानिये सच…

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply