दिलीप घोष द्वारा भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी नड्डा को लिखा गया यह पत्र फर्जी है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर वर्तमान में हो रहे बंगाल विधान सभा चुनाव से संबंधित कई फर्जी तस्वीर, वीडियो, ऑडियो और पत्र फैलाये जा रहें है | फैक्ट क्रेसेंडो हिंदीफैक्ट क्रेसेंडो बंगाल वर्तमान में ऐसे कई गलत व भ्रामक पोस्टों का खंडन कर उनकी सच्चाई अपने पाठकों के सम्मुख लायीं हैं | वर्तमान में सोशल मीडिया पर बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष द्वारा भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी नड्डा को बंगाल में पार्टी की निराशाजनक स्थिति से अवगत कराने के एक कथित पत्र की तस्वीर वायरल होती दिख रही है, इस पत्र की तस्वीर के साथ ये दावा किया जा रहा है कि भाजपा नेता दिलीप घोष ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी नड्डा को बंगाल में पार्टी की निराशाजनक स्थिति के बारे में लिखा है |

पत्र भाजपा पश्चिम बंगाल के लेटरहेड पर लिखा हुआ है और पत्र में दिलीप घोष के हस्ताक्षर है; इस पत्र में २७ मार्च को पहले चरण के मतदान के बाद भाजपा द्वारा एक कथित आंतरिक सर्वेक्षण का विवरण शामिल है। आगे इसमें यह भी लिखा गया है कि जनता तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं पर भरोसा नहीं कर रही है जिस वजह से वे नड्डा जी से निवेदन करते है कि अगर इन नेताओं को हटाकर विश्वसनीय व भरोसेमंद नेता की नियुक्ति की गई तो लोग ज्यादा समर्थन करेंगे |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि,

“दिलीप घोष के तरफ से जेपी नड्डा को लिखा गया एक पत्र सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है | लेटर में दिलीप घोष ने नड्डा को बंगाल में पार्टी की निराशाजनक स्थिति और पार्टी के भीतर बढ़ती अंदरूनी प्रतिद्वंद्वियों के बारे में बताया |”

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया कि सोशल मीडिया पर बंगाल भाजपा के अध्यक्ष के नाम से वायरल को रहा पत्र फर्जी है |

जाँच कि शुरुवात हमने वायरल रहे पोस्ट से सम्बंधित कीवर्ड सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें कोई ऐसी पुख्ता खबर नहीं मिली जो इस बात की पुष्टि करें कि दिलीप घोष ने जे.पी नड्डा को बंगाल में भाजपा के स्थिति को लेकर किसी भी तरह का पत्र लिखा है |

तद्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा पत्र फर्जी है और उन्होंने ऐसी कोई पत्र जे.पी नड्डा जी को नही लिखा है | उनके द्वारा हमें बताया गया कि इस पत्र के खिलाफ उनके द्वारा इलेक्शन कमिशन में शिकायत दर्ज कराई गई है | पत्र में दिख रहा कथित हस्ताक्षर मेरा नहीं है | इस घटना के बारे में हमने सोशल मीडिया पर भी स्पष्टीकरण जारी किया है |”

हमें दिलीप घोष के ऑफिस की तरफ से जारी इस पत्र से सम्बंधित स्पष्टीकरण ट्विटर पर मिला जिसमें लिखा गया है कि

 “यह एक नकली पत्र है जिसे श्री दिलीप घोष के नाम पर प्रसारित किया जा रहा है | बंगाल के भाजपा पार्टी ने इलेक्शन कमिशन के पास इस बात कि शिकायत दर्ज करायी है, और इस जाली पत्र को साझा करने वालों के खिलाफ भी हम आपराधिक कार्रवाई करने के लिए पुलिस शिकायत भी दर्ज करेंगे |

आर्काइव लिंक 

नीचे आप दिलीप घोष के नाम से वायरल हो रहे पत्र में दिख रहे हस्ताक्षर और उनके असली हस्ताक्षर के बीच तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते है |

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा पत्र जिसे कथित तौर पर दिलीप घोष द्वारा जे.पी नड्डा को लिखा गया है, फर्जी है | दिलीप घोष ने खुद इस बात कि पुष्टि की गई है कि उनके नाम से वायरल हो रहा पत्र फर्जी है व इसके खिलाफ उन्होंने आधिकारिक रूप से निर्वाचन आयोग से इसकी शिकायत दर्ज कराई है |

Avatar

Title:दिलीप घोष द्वारा भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी नड्डा को लिखा गया यह पत्र फर्जी है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply