क्या भगवा गमछा पहने आठ-दस लड़कों द्वारा इस लड़की की बेरहमी से की गई पिटाई के पीछे सांप्रदायिक कारण है ?

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२९ जून २०१९ को फेसबुक पर ‘Shiv Naresh’ नामक एक यूजर द्वारा एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में एक विडियो साझा किया गया है | विडियो में कुछ ८-१० युवक एक किशोरी की डंडों से बेरहमी से पिटाई करते हुए दिखाई देते है | उनमे से एक युवक के गले में भगवा गमछा है |    

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

#भगवा_आतंकवाद
भाजपा की शान 
#बेटी_बचाओ_बेटी_पढ़ाओ किस तरह 8-10 लड़के मिलकर एक लड़की को मार रहे हैं
₹50 का भगवा गमछा जिसमे राम लिखा हो गले में डालकर आपको कुछ भी करने की आजादी है
यही है @narendramodi का
#न्यू_डिजिटल_इंडिया

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, इस विडियो में लड़की की पिटाई करने वाले लड़के भगवा आतंकवाद फैला रहे है | यह भी दावा है कि यह लड़के बीजेपी से जुड़े है | इस विडियो को साम्प्रदायिकता के साथ जोड़ा गया है | लेकिन विडियो में केवल एक ही युवक के गले में भगवा गमछा दिखाई दे रहा है | इसलिए इस दावे पर संदेह होता है | तो आइये जानते है इस विडियो व दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘Shiv Naresh’  | ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने पोस्ट में साझा विडियो को इन्विड टूल का इस्तेमाल करते हुए छोटे फ्रेम्स में तोडा और उन टुकड़ों को रिवर्स इमेज सर्च किया | इस सर्च से हमें कुछ भी पुख्ता परिणाम नहीं मिले | 

इसके बाद हमने पोस्ट के कमेन्ट सेक्शन को पढ़ा तो हमें एक यूजर द्वारा साझा यह जानकारी मिली की यह विडियो मध्य प्रदेश की एक आदिवासी लड़की का है, जिसको उसके ही परिजन मार रहे है | इस जानकारी के आधार पर हमने यू-ट्यूब पर ‘आदिवासी लड़की की परिजनों ने की पिटाई’ इन की वर्ड्स के साथ सर्च किया तो हमें कुछ समाचार चैनल द्वारा अपलोड विडियो मिले |

‘NDTV India’ ने ३० जून २०१९ को यही विडियो खबर के साथ अपलोड किया है | खबर में कहा गया है कि, मध्यप्रदेश के धार जिले के बाग थाने के गांव में एक लड़की की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ है. पुलिस के मुताबिक पिटाई में उसके परिजन ही शामिल थे. बताया जा रहा है कि पीड़ित आदिवासी है जो गांव के एक दलित युवक से साथ भाग गई थी. उसके परिजनों को ये नागवार गुजरा. उन्होंने उससे कहा कि उसकी शादी भीलाला समाज के युवक के साथ तय की जाएगी लेकिन उसके इंकार करने पर उसके साथ मारपीट की गई. इस मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है | आप यह विडियो और खबर नीचे देख सकते है |

इसके अलावा यही विडियो खबर के साथ मिला, जो ३० जून २०१९ को ‘MP Tak’ समाचार चैनल द्वारा अपलोड किया गया है | इस विडियो की खबर में कहा गया है कि, मध्य प्रदेश के धार में एक युवती को उसी के परिजनों द्वारा बेरहमी से पिटने का मामला सामने आया है. युवती की पिटाई करने वाले लोगों ने पूरी घटना का वीडियो भी बनाया और वायरल कर दिया | 

इसके बाद हमने ‘tribal girl beaten by relatives in madhya pradesh’ इन अंग्रेजी की वर्ड्स से यू-ट्यूब पर ढूंढा तो हमें ‘ETV Andhra Pradesh’ समाचार चैनल द्वारा यही विडियो खबर के साथ ३० जून २०१९ को अपलोड किया हुआ मिला | खबर के हैडलाइन में लिखा है कि, Tribal woman beaten up by family members in Madhya Pradesh’s Dhar over ‘Affair’ with Dalit Man | 

इसके बाद हमने ‘tribal girl beaten by relatives in madhya pradesh’ इन्ही की वर्ड्स से गूगल सर्च किया तो हमें जो परिणाम मिले, वह आप नीचे देख सकते है |

इस परिणाम से हमें ‘द हिन्दू’ द्वारा प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में इसी वायरल विडियो के स्क्रीनशॉट का इस्तेमाल किया गया है | यह खबर पीटीआई द्वारा दी गई है | खबर में कहा गया है कि, मध्य प्रदेश के धार में एक युवती को उसी के परिजनों द्वारा बेरहमी से पिटने का मामला सामने आया है | इस घटना में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है | पुलिस के अनुसार यह २१ वर्षीय आदिवासी लड़की अपने परिजनों के खिलाफ बगावत कर गई थी तथा एक दलित लड़के के साथ भाग गई थी |

पूरी खबर यहाँ पढ़े – ‘द हिन्दू’ | ARCHIVE NEWS

इसके अलावा हमें यही खबर ‘साक्षी समाचार’ द्वारा इसी विडियो के स्क्रीनशॉट के साथ ३० जून २०१९ को प्रसारित की गई मिली | खबर में लिखा है कि, मध्य प्रदेश में धार जिले के बाग थाने के गांव में एक आदिवासी लड़की की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि आदिवासी लड़की को प्यार करना इतना भारी पड़ा की परिजनों ने ही युवती की डंडो से बेरहमी से पिटाई कर दी। साथ ही घटना का वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया। इस मामले में पुलिस ने सात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है |

पूरी खबर यहाँ पढ़े – ‘साक्षी समाचार’ | ARCHIVE NEWS

अतः इस संशोधन से यह पुख्ता तौर पर स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा किया गया विडियो मध्य प्रदेश की उस घटना का है, जिसमे लड़की की पारिवारिक कारणों से उसके ही परिजनों द्वारा पिटाई की जा रही है | हालाँकि, उसके परिजनों द्वारा किये गए का इस कृत्य का हम समर्थन नहीं करते | उनके द्वारा किया गया यह कृत्य निंदा के ही काबिल है | लेकिन चिंता की बात यह भी है कि, इस विडियो को गलत विवरण के साथ साझा किया जा रहा है | लड़की के पिटाई का कारण तो पारिवारिक है, लेकिन एक परिजन के गले में भगवा गमछा दिखने का फायदा उठाकर उसे भगवा आतंकवाद, बीजेपी के कार्यकर्ता, साम्प्रदायिकता जैसे गलत दावों के साथ वायरल किया जा रहा है, जो की बिलकुल ही गलत है |   

जांच का परिणाम:  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा विडियो के साथ किया गया दावा कि, “#भगवा_आतंकवाद, भाजपा की शान, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, किस तरह 8-10 लड़के मिलकर एक लड़की को मार रहे हैं, ₹50 का भगवा गमछा जिसमे राम लिखा हो गले में डालकर आपको कुछ भी करने की आजादी है, यही है @narendramodi का न्यू_डिजिटल_इंडिया |” सरासर गलत है | यह विडियो मध्य प्रदेश में आदिवासी लड़की की उसके ही परिजनों द्वारा की गई पिटाई का है |

Avatar

Title:क्या भगवा गमछा पहने आठ-दस लड़कों द्वारा इस लड़की की बेरहमी से की गई पिटाई के पीछे सांप्रदायिक कारण है ?

Fact Check By: R Pillai 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply