विवाद कर रहे शख्स का यह वीडियो पाकिस्तान के कराची से है, वीडियो का भारत से कोई सम्बन्ध नहीं है ।

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इंटरनेट पर अकसर पाकिस्तान में घटी घटनाओं के वीडियो को भारत का बता उसे साम्प्रदायिकता के साथ जोड़  किया जाता रहा है। फैक्ट क्रेसेंडो ने ऐसे कई वीडियो का अनुसंधान कर उनकी प्रमाणिकता अपने पाठकों तक पहुंचाई है। इन दिनों ऐसा ही एक वीडियो इंटरनेट पर काफी साझा किया जा रहा है, इस वीडियो में आप कुछ लोगों को सड़क पर खड़े हुये देख सकते है व उसमें हो रहे विवाद की आवाजें सुनकर ये समझ आता है कि  दो लोगों के बीच बिजली चोरी होने पर विवाद चल रहा है। 

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है

बिजली चोरी करूंगा। नहीं करनी दी तो मरूंगा या मारूंगा। ऐसे तालिबानियों का क्या करे। #talibaninsideindia

फेसबुक 

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि..

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो एक वर्ष पुराना है व पाकिस्तान के कराची शहर से है। इस वीडियो से भारत का कोई सम्बंध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को इनवीड-वी वैरिफाइ टूल के माध्यम से छोटे कीफ्रेम्स में काटकर गूगल रीवर्स इमेज सर्च कर की, परिणाम में हमें यही वीडियो गवर्नमेंट एमप्लोइज़ नामक एक फेसबुक पेज पर इस वर्ष 3 जुलाई को प्रसारित किया हुआ मिला। इस वीडियो के साथ जो जानकारी दी गयी है व उर्दू भाषा में लिखी हुई है। इसमें लिखा है, “अगर मैं मुफ्ती हूं तो बिजली चोरी करूंगा और अगर कोई मुझे रोकेगा तो मैं उसे मार दूंगा।“ 

फेसबुक 

इसके बाद हमने इस पेज को खंगाला व वहाँ हमने पाया कि यह पेज फैसलाबाद बिजली आपूर्ति कंपनी से सम्बंधित है। आपको बता दें कि फैसलाबाद पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित है।

उपरोक्त जानकारी से हमने यह अनुमान लगाया कि वायरल हो रहा वीडियो पाकिस्तान का है।

तदनंतर हमने पाकिस्तान के पेशावर में स्थित एक मिडिया प्रोफेसर रियाज़ गफुर से संपर्क किया व उनसे इस बात की पुष्टि करने की कोशिश की कि क्या यह वीडियो पाकिस्तान का है। उन्होंने हमें बताया कि, “वायरल हो रहा वीडियो पाकिस्तान का ही है। पाकिस्तान में लोग अकसर बिजली चोरी करने के लिये बिजली के तार से कुंडी लगाते  हैं, जो गैर कानूनी है। बिजली आपूर्ति कंपनी के कर्मचारी ने वीडियो में दिख रहे शख्स को रंगे हाथों पकड़ा है, व कथित तौर पर बिजली चोरी करने वाला शख्स यह कह रहा है कि मैं कुंडे नहीं हटाउंगा व कंपनी वालों को भी हटाने नहीं दूंगा, मैं इसे गैर कानूनी नहीं मानता व जो कुंडे हटाएगा मैं उसे मारुंगा। वीडियो में जो बातें हो रही है वे बिजली चोरी से ही सम्बंधित हैं और ये वीडियो पाकिस्तान का ही है।“

तत्पश्चात हमने उपरोक्त जानकारी को ध्यान में रखते हुये गूगल पर कीवर्ड सर्च किया व हमें पी.के अफेयर्स नामक एक फेसबुक पेज द्वारा 28 जुलाई 2020 को प्रकाशित एक पोस्ट मिला जिसमें वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहे दृश्य की तस्वीर प्रकाशित की गयी है व उनके द्वारा प्रकाशित समाचार लेख का लिंक दिया गया है। इस पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, “मैं मर जाऊंगा या मार डालूंगा, लेकिन मैं तलवार को उतरने नहीं दूंगा। कराची के एक शख्स ने हिम्मत से बिजली चोरी करना कबूल किया और दिखाने लगा बदमाशी।

फेसबुक

इसके बाद हमने उपरोक्त पोस्ट में दी गयी लिंक को क्लिक किया, परिणाम में हमें ए.आर.वाय न्यूज़ के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर 28 जुलाई 2020 को एक प्रसारित किया हुआ मिला, इसके शीर्षक में लिखा है, “बिजली चोर ने के.ई को धमकाया।” इसके नीचे दी गयी जानकारी में लिखा है, 

“#के.इलेक्ट्रिक #कराची #ब्रेकिंग न्यूज।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। यह वीडियो एक वर्ष पुराना है व पाकिस्तान से है। इस वीडियो से भारत का कोई सम्बंध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान के नाम से वायरल हो रहा विवादित फेसबुक पोस्ट फर्ज़ी है।

२. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के नाम से फर्जी विवादित ट्वीट हुआ वायरल।

३. महाराष्ट्र के अहमदनगर में किये गये मॉक ड्रिल के वीडियो को वास्तविक बैंक डकैती का बता फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:विवाद कर रहे शख्स का यह वीडियो पाकिस्तान के कराची से है, वीडियो का भारत से कोई सम्बन्ध नहीं है ।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply