यू.पी के गोंडा के डी.एम द्वारा एक शख्स को उनके पीठ पर हाथ रखने के लिये लगायी गई फटकार के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

False Social

इन दिनों इंटरनेट पर एक वीडियो काफी तेज़ी से साझा किया जा रहा है, इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के गोंडा के डी.एम ने उनके पीठ पर हाथ रखने के लिये गोंडा के चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट को फटकार लगायी।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

“वैसे चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट और डीएम एक ही रैंक के होते हैं। लेकिन गोंडा के डीएम साहब के पीठ पर जब चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट ने हाथ रख दिया तब डीएम साहब भड़क गए। वैसे पब्लिकली किसी के पीठ पर ऐसे हाथ रखना एकदम गलत है चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट ने सच में अनुशासनहीनता किया है।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस वीडियो को उपरोक्त गलत दावे के साथ इंटरनेट पर काफी तेज़ी से वायरल किया जा रहा है।

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहे वीडियो में जिस शख्स को गोंडा के डी.एम के पीठ पर हाथ रखे हुये देखा जा रहा है वो गोंडा के चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट नहीं है बल्की एक प्राइवेट शक्कर कंपनी के कारखाने के जनरल मेनेजर है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे दावे को यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च कर की, परिणाम में हमें यही वीडियो न्यूज़ 18 वायरलस के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर इस वर्ष 28 मई को प्रसारित किया हुआ मिला। इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “गोंडा | शख्स ने रख दिया डी.एम के कंधे पर हाथ तो भड़क गए साहब और फिर…,” इसके नीचे दी गयी जानकारी में लिखा है, “यू.पी के गोंडा जिले में एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें जिलाधिकारी (डी.एम) मार्कण्डेय शाही के कंधे पर हाथ रखकर एक व्यक्ति उनसे कुछ कह रहा है। लेकिन अगले ही पल जब वह कंधे पर हाथ रखकर डी.एम के साथ चलने लगा तो डीएम शाही उखड़ गए और उसे जमकर फटकार लगाई।“

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहे प्रकरण के बारे में अधिक जानकारी पाने हेतु हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया, परिणाम में हमें टी.वी9 भारतवर्ष द्वारा इस वर्ष 28 मई को प्रकाशित किया हुआ एक लेख मिला जिसमें इस वीडियो में दिख रहे दृश्य की तस्वीर प्रकाशित की गयी है। लेख में लिखा है, जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही इस वर्ष 26 मई को गोंडा जिले के सी.एच.सी छपिया गये थे। जहाँ उन्होंने सेंटर व उसके पास वाले एक पैथालॉजी सेंटर की जाँच की। इसी दौरान एक व्यक्ति वहां पहुँचा और डी.एम से कुछ बात करने लगा। इसी दौरान इस व्यक्ति ने बातों-बातों में डीएम मार्कण्डेय शाही के कंधे पर हाथ रख दिया व डी.एम भड़क गए और उस शख्स को फटकार लगा दी। जिस शख्स ने डी.एम के कंधे पर हाथ रखा था उसका नामअजय द्विवेदी है, जो एक शुगर मिल के मुख्य महाप्रबंधक है।

आर्काइव लिंक

तदनंतर उपरोक्त सारे सबूतों की पुष्टि करने हेतु फैक्ट क्रेसेंडो ने उत्तर प्रदेश में स्थित गोंडा के जिला सूचना अधिकारी “अरुण सिंह” से संपर्क किया व उन्होंने हमें बताया कि “वायरल हो रही खबर सरासर गलत व भ्रामक है। गोंडा के जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही साहब एक कम्यूनिटि हेल्थ सेंटर के इंस्पेक्शन के लिये गये थे व वहाँ उनसे बात करने के लिये एक स्थानीय प्राइवेट शक्कर के कारखाने के जनरल मैनेजर आये थे व बात करते करते उन्होंने जिलाधिकारी साहब के कंधे पर हाथ रखा और इसलिये डी.एम साहब को गुस्सा आया व वे उनपर बरस पड़े। यह प्रकरण जब हो रहा था, मैं डी.एम साहब के साथ वहीं पर मौजूद था। वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहा शख्स गोंडा के चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट नहीं है।“

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त गलत है। वायरल हो रहे वीडियो में जो शख्स गोंडा के डी.एम के पीठ पर हाथ रखे हुये दिख रहा है, वह गोंडा के चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट नहीं है बल्की एक प्राइवेट शक्कर के कारखाने के जनरल मैनेजर है।

Avatar

Title:यू.पी के गोंडा के डी.एम द्वारा एक शख्स को उनके पीठ पर हाथ रखने के लिये लगायी गई फटकार के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False