२०१५ की पुरानी व असंबंधित तस्वीर को हैदराबाद दिशा प्रकरण के आरोपियों के एनकाउंटर की बता फैलाया जा रहा है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हैदराबाद दिशा घटना में चार गिरफ़्तार आरोपियों का आज (६ दिसम्बर २०१९) सुबह ३-६ बजे के बीच एनकाउंटर किया गया | पुलिस के अनुसार जब बलात्कार व हत्या के चारों आरोपीयों ने जब फरार होने का प्रयत्न किया तब उनका एनकाउंटर किया गया | इस घटना से सम्बंधित एक वाइरल तस्वीर सोशल मंचो पर साझा की  रही है, जिसे इस एनकाउंटर की तस्वीर बताया जा रहा है | 

६ दिसम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘ Sachin Singh ‘ द्वारा इस एनकाउंटर से सम्बंधित एक तस्वीर साझा की गयी है, जिसे बताया जा रहा है कि यह वर्तमान में हुए हैदराबाद दिशा काण्ड से जुड़े आरोपियों के एनकाउंटर की ग्राउंड तस्वीर है | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, “हैदराबाद पुलिस का धन्यवाद | ग्राउंड लेवल की तस्वीर वो भी बॉडी सहित यकीन कर लीजिए की एनकाउंटर हो चुका ह किसी भी प्रकार के संदेह न करे |” दावा यह है कि “हैदराबाद दुष्कर्म घटना में सभी आरोपियों के एनकाउंटर की तस्वीर |” 

क्या है इस घटना से जुड़े आरोपियों का सच? आइये जानते है इस दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च पर ढूंढा, तो हमें उपरोक्त तस्वीर ७ अप्रैल २०१५ को Coastaldigest नामक एक वेबसाइट पर मिली और जहाँ इस तस्वीर से जुड़ी कई अन्य तस्वीरें व घटना की पूर्ण जानकारी प्रकाशित की गयी थी | पूरी ख़बर पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

CoastaldigestPost | ArchivedLink

इसके अलावा TheHindu में ७ अप्रैल २०१५ को इस घटना पर ख़बर प्रकाशित मिली, जिसके अनुसार यह तस्वीर ७ अप्रैल २०१५ को तिरुपति के पास शेषचलम पहाड़ी पर्वतमाला में पुलिस द्वारा चंदन लकड़ी के तस्करों के एनकाउंटर की है |

TheHindu

इसके बाद हमने वर्तमान में हैदराबाद घटना में सभी आरोपियों के एनकाउंटर की तस्वीर के बारे में जांच की, तो हमें ANI द्वारा इस घटना पर प्रकाशित तस्वीरें मिली |

ANITweetofEncounterLocation 1 

ANITweetOfEncounterLocation 2

इन तस्वीरों के साथ जब हमने वाइरल होने वाली तस्वीर का तुलनात्मक विश्लेषण किया, तो हमने पुलिस की वर्दी की बाँह पर दिखने वाला बिल्ला (Badge) अलग पाया | वाइरल होने वाली तस्वीर में दिखने वाले पुलिस की वर्दी पर आंध्र प्रदेश पुलिस का बिल्ला देखा जा सकता है | 

C:\Users\Fact5\Desktop\Encounter Image\1.png

ANI द्वारा साझा एनकाउंटर के घटना स्थल की तस्वीरों में पुलिस की वर्दी पर सायबेराबाद पुलिस का बिल्ला देखा जा सकता है | इससे साफ़ पता चलता है की दोनों अलग घटना स्थल की तस्वीरें हैं |

Z:\Nita\2.png

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर २०१५ में तिरुमला की है जिसे वर्तमान में ६ दिसम्बर २०१९ मे किये गए हैदराबाद एनकाउंटर का बताकर भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “हैदराबाद दुष्कर्म घटना में सभी आरोपियों के एनकाउंटर की तस्वीर |” ग़लत है |

Avatar

Title:२०१५ की पुरानी व असंबंधित तस्वीर को हैदराबाद दिशा प्रकरण के आरोपियों के एनकाउंटर की बता फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •