ये घटना एक पार्किंग विवाद को ले ग्राहकों व होटलकर्मियों के बीच मारपीट की है|

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२९ नवम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Hardev Gurjar नामक एक यूजर द्वारा ‘हरदेव हिन्दू श्री देव’ नामक एक यूजर का एक पोस्ट साझा किया गया था, जिसके वीडियो में कुछ व्यक्तियों को मारपीट करते हुये देखा जा सकता है | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, कोई भी हिन्दू वेस्टर्न हाईवे पर गोड़बंदर के होटल फाउंटेन में खाना नास्ता करने ना जावे यह होटल एक ऐसे मुस्लिम की हे जो हिन्दुओं के दम पर इतना बड़ा और पैसे वाला बना वो हिन्दुओं से सख्त नफरत करता है ओर कोई भी छोटी मोटी बात होने पर भी अपने यहां पाले हुए मुस्लिम गुंडों को तलवारों हाकी स्टिको सरियो के साथ हिन्दुओं पर अटैक करने को छोड़ देता है इस लिए सभी हिन्दुओं को निवेदन है कि इस कटुए को इसकी ओकत दिखानी है आप असली ओर सच्छे हिन्दू हो ओर इन कटुओं से नहीं डरते हो तो इस एसएमएस को इतना फैलाओ की होटल फाउंटेन बन्द हो जाए ओर इन जैसे लोगो को जो हिन्दुओं को कुछ नहीं समजते उनको अपनी ताकत दिखाओ जय हिन्द जय भारत जय महाराष्ट्र जय शिवाजी |” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘मीरा भायंदर के घोडबंदर रोड इलाके में स्थित होटल फाउंटेन में मुस्लिमों द्वारा हिन्दुओं पर हमला किया गया है |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले गूगल पर ‘hotel fountain ghodbunder road news’ कीवर्ड्स को ढूंढा, तो हमें ‘NewIndianExpress’ नामक एक समाचार वेबसाइट पर ६ अक्टूबर २०१९ को इस घटना से सम्बंधित ख़बर प्रकाशित मिली | इस ख़बर के अनुसार मुंबई के थाने जिले के घोडबंदर रोड पर स्थित होटल फाउंटेन में दो पहिया वाहन पार्किंग के मुद्दे से वहाँ खाना खाने आये ग्राहक की सिक्यूरिटी गार्ड से मुठभेड़ हो गयी थी | इसके बाद होटल के अन्य कर्मी और वहाँ के स्थानीय लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गयी और इस मुद्दे ने विराट रूप ले लिया | इसके बाद पुलिस भी वहाँ आ पहुंची और इस प्रकरण में कुल १३ लोग आहत हुए, जिनमे से एक पुलिस कर्मी भी था | पूरी ख़बर को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

NewindianexpressPost | ArchivedLink

इसके अलावा हमें इस सन्दर्भ में कुछ अन्य समाचार वेबसाइटो पर इस ख़बर का उल्लेख मिला और अपर-पुलिस अधीक्षक (Add.S.P.)संजयकुमार पाटिल द्वारा इस घटना पर साक्षात्कार भी प्राप्त हुआ | इन ख़बरों को नीचे दिए गए लिंक पर देख सकतें हैं |

mibhatimesPost | ArchivedLinkFreepressjournalPost | | ArchivedLink

इसके बाद हमने अपर-पुलिस अधीक्षक (Add.S.P.)संजयकुमार पाटिल से संपर्क किया तो उन्होंने हमें बताया कि, “यह घटना ५ अक्टूबर २०१९ को रात ९:३० से १ के बीच की है | होटल फाउंटेन में दो पहिया वाहन पार्किंग में लगाने के चलते होटल के सिक्यूरिटी गार्ड व ग्राहकों के बीच विवाद हुआ | जब बात बिगड़ने लगी, तो होटल के अन्य कर्मी भी बाहर आये | इस पर यह लोग वहाँ से चले गए और थोड़ी देर बाद ३०-४० स्थानीय लोगों के अपने साथ ले आये | इनमें औरतें भी शामिल थी | इन लोगों ने होटल पर व वहाँ लगी बाकी की गाड़ियों पर पथराव शुरू कर दिया, जिसके वजह से होटल का मालिक बाकी कर्मियों के साथ इनको भगाने के लिए लाठी, डंडा, रॉड इत्यादि लेकर बाहर आ गए | हमारी पुलिस भी लगभग उसी वक़्त वहाँ पहुंची | इस पथराव के दौरान हमारा एक पुलिस कर्मी के साथ अन्य १२ लोग भी आहत हुए थे | इस घटना पर ३ प्राथमिकी (प्रा.क्र. ६०९, ६१०, ६११) काशिमीरा थाने में दर्ज हुई है | इस घटना का किसी भी प्रकार से जाती व सांप्रदायिकता से कोई जुड़ाव नहीं है |”

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो का सांप्रदायिकता से कोई संबंध नहीं है | होटल के सिक्यूरिटी गार्ड का वहाँ आये दो लोगों के साथ दो पहिया वाहन पार्किंग से शुरू विवाद ने एक विराट रूप ले लिया जिसमे कई लोग आहत हुए | यह वीडियो गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “मीरा भायंदर के घोडबंदर रोड इलाके में स्थित होटल फाउंटेन में मुस्लिमों ने हिन्दुओं पर हमला किया |” ग़लत है |

Avatar

Title:ये घटना एक पार्किंग विवाद को ले ग्राहकों व होटलकर्मियों के बीच मारपीट की है|

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply