२०१४ ओलंपिक खेलों के लिए किये गये एक प्रमोशनल अभियान को वर्तमान का बताकर फैलाया जा रहा है |

International Partly False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२८ नवम्बर २०१९ को हमारे पाठक शशि जोशी द्वारा हमारे व्हाट्सऐप नंबर 9049053770 पर फैक्ट चेक के लिए एक फेसबुक का लिंक भेजा गया | वीडियो में एक व्यक्ति उठक-बैठक करते हुए दिख रहा है | इस वीडियो के साथ यह दावा किया गया है कि, “ये रशिया का मास्को मेट्रो का स्टेशन है जहाँ 30बार उठक-बैठक लगाने से टिकट free मिलता है | ये निर्णय वहाँ की सरकार ने जनता की सेहत ठीक रखने के लिए लिया है |”

व्हाट्सऐप पर भेजा गया फेसबुक लिंक पर किया गया पोस्ट ‘Mahendra Kumar Pandey’ नामक एक यूजर द्वारा २७ नवम्बर २०१९ को किया गया है |

जब हमने इस दावे को ढूंढा, तो हमने इस दावे को जून २०१९ में भी काफ़ी वाइरल पाया |

इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘वर्तमान में रूस में स्थित मॉस्को  के मेट्रो रेल में ३० उठक-बैठक मारने पर मुफ्त टिकट मिल रहा है |’ क्या सच में ऐसा है ? 

आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने इस बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए गूगल पर ‘30 squats in russia free train ticket’ कीवर्ड्स से ढूंढा | हमें कई समाचार वेबसाइटों पर इस यह ख़बर प्रकाशित मिली’ | इन ख़बरों के अनुसार, रूस के मॉस्को शहर में स्थित वैस्टवोच्या मेट्रो स्टेशन में नवम्बर २०१३ को एक मशीन लगाई गई थी| इस मशीन में सेंसर लगा हुआ है, जिसके सामने ३० उठक-बैठक करने पर एक मुफ्त टिकट दिया जा रहा था, मगर यह ३० उठक-बैठक २ मिनिट के अंदर खत्म करना पड़ेगा | इसके अलावा यह सिर्फ़ एक प्रमोशनल गतिविधि थी, जिसे सिर्फ़ एक ही मेट्रो स्टेशन पर लगाया गया था | २०१४ में सोची में होने वाले ओलंपिक खेल के प्रचार के लिए इस मशीन को एक महीने के लिए लगाया गया था | बाद में ३ दिसम्बर २०१३ को यह मशीन निकाल दी गयी थी और वर्तमान में यह सुविधा मौजूद नहीं है | पूरी ख़बर को पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें | 

C:\Users\Fact5\Desktop\30 squats for a free metro ticket in Russia\3.jpg
WiredPost | ArchivedLinkForbesPost | ArchivedLink
CBSnewsPost | ArchivedLinkScrollPost | ArchivedLink

इन ख़बरों में RT नामक एक समाचार वेबसाइट (जो रूसी सरकार द्वारा वित्त पोषित है) द्वारा YouTube पर ८ नवम्बर २०१३ को अपलोड किया गया था |

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो २०१३ में ओलंपिक खेल के प्रचार के लिए एक महीने का प्रमोशनल गतिविधि थी जो वर्तमान में उपलब्ध नहीं है | यह वीडियो को वर्तमान का बताकर लोगों को भ्रमित किया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “वर्तमान में रूस में स्थित मॉस्को  के मेट्रो रेल में ३० उठक-बैठक मारने पर मुफ्त टिकट मिल रहा है |” ये खबर ग़लत जानकारी है |

Avatar

Title:२०१४ ओलंपिक खेलों के लिए किये गये एक प्रमोशनल अभियान को वर्तमान का बताकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result:Partly False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply