क्या भाजपा कार्यकर्ता ने कर्नाटक में पाकिस्तानी झंडा लहराया? जानिए सत्य

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर एक बुर्काधारी आदमी की तस्वीर को फैलाते हुए दावा किया जा रहा है कि यह व्यक्ति भाजपा कार्यकर्ता है, जिसने बुर्का पहनकर कर्नाटक के बिजयनगर जिले में पाकिस्तानी झंडा लहराया है | इस बुर्काधारी आदमी की तस्वीर को कई सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर साझा किया जा रहा है | इसके आलावा सोशल डायरी लाइव नामक एक वेबसाइट ने भी इस खबर को साझा करते हुए लिखा है कि ये घटना कर्नाटक के बिजयनगर जिले की है, जहां बुर्का पहनी एक महिला को पाकिस्तानी झंड़ा लहराते देख हड़कंप मच गया. लोगों की भीड़ ने फौरन उस महिला को पकड़ लिया. लेकिन उस वक्त हर कोई हैरत में पड़ गया, जब बुर्के से औरत की जगह एक मर्द बाहर निकला | जानकारी के मुताबिक व्यक्ति की पहचान सिद्दू परागोंड के रुप में हुई है, जो एक स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ता है |

फेसबुक पोस्ट | सोशल डायरी वेबसाइट | आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमें इस घटना से संबंधित ख़बरों को गूगल पर कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढने से की, जिसके परिणाम से हमे १६ जून २०२० को द हिन्दू द्वारा प्रकाशित एक खबर मिली, जिसके अनुसार यह घटना ११ जून २००० को सिंद्गी में एक बैंक के बाहर घटी थी | जब कुछ महिलाओं सहित कुछ अन्य लोग बैंक के बाहर एक कतार में खड़े थे, तब बुर्का पहने ये व्यक्ति संदिग्ध तरीके से पेश आ रहा था | वह व्यक्ति महिलाओं के बहुत करीब जाने की कोशिश कर रहा था जो उन्हें अजीब महसूस करवा रहा था | कुछ स्थानीय लोगों के संदेह होने पर उन्होंने इस बुर्काधारी औरत से बातचीत करने की कोशिश की जिसके पश्चात इस व्यक्ति के अजीब व्यवहार के चलते स्थानीय लोगों का संदेह और बढ़ गया | अचानक कुछ लोगों ने उस व्यक्ति को बैंक से निकाल लिया और जाँच करने पर उन्हें पता चला कि बुर्का पहनी महिला असल में एक आदमी है | इसके बाद लोगों ने उसकी पिटाई की और उसे पुलिस के हवाले कर दिया | 

इस खबर में पाकिस्तानी झंडा लहराने या इस व्यक्ति का भाजपा कार्यकर्ता होने जैसे कोई जानकारी नही दी गई है| 

आर्काइव लिंक

तद्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने विजयपुरा के एस.पी अनुपम अग्रवाल से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि 

“इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर चल रहे दावे गलत है | यह व्यक्ति भजपा का कार्यकर्ता नहीं है और ना ही उसने पाकिस्तानी झंडा लहराया था | उस व्यक्ति को इस आरोप में गिरफ्तार किया गया था कि उसने बुर्का पहनकर महिलाओं को परेशान किया था परंतु उस पर पाकिस्तानी झंडा लहराने का आरोप नहीं लगाया गया था | साथ ही इस घटना के साथ संप्रदायिकता का कोई संबंध नही है, इस घटना के चलते किसी एक समुदाय पर निशाना नही लगाया गया है | आरोपित व्यक्ति भेष बदलकर- बुर्का पहनकर दुसरी महिलाओं को परेशान करने के आरोप से पीटा गया था | आदमी को उसी दिन जमानत दे दी गई थी, लेकिन इस मामले की जांच जारी है |”

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | कर्नाटक में बुर्का पहने भाजपा के कार्यकर्ता को पाकिस्तानी झंडा लहराने के कारण गिरफ्तार करने की खबर फर्जी है | आरोपित व्यक्ति का भाजपा से कोई सम्बन्ध नहीं है, इस आदमी को बुर्का पहनकर महिलाओं को परेशान करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था |

Avatar

Title:क्या भाजपा कार्यकर्ता ने कर्नाटक में पाकिस्तानी झंडा लहराया? जानिए सत्य

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •