साइकिल गर्ल ज्योति पासवान से सम्बंधित रेप और हत्या की खबर फर्जी है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर जमीन पर मृत पड़ी एक लड़की की तस्वीर को यह दावा करते हुए साझा किया जा रहा है कि यह ज्योति कुमारी पासवान है, जिन्होंने देशव्यापी तालाबंदी के दौरान अपने बीमार पिता को अपनी साइकिल के पीछे बैठाकर सिर्फ सात दिनों में १२०० किलोमीटर साइकिल चलाकर गुरुग्राम (हरियाणा) से  बिहार तक का सफ़र तय किया था | इस घटना के बाद ज्योति पासवान की बहादुरी और मेहनत को लेकर सोशल मीडिया पर काफी हलचल रही थी| अब सोशल मंचो पर एक पोस्ट के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि बिहार के दरभंगा क्षेत्र में ज्योति पासवान के साथ बलात्कार कर उनकी उनकी हत्या की गई है | पोस्ट के अनुसार अर्जुन मिश्रा नामक एक व्यक्ति के बगीचे से आम चुराने के कारण १५ वर्षीय ज्योति पासवान के साथ उन्होंने दुष्कर्म कर उनकी हत्या कर दी है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “आज किसी #अर्जुन_मिश्रा के हवस शिकार हुई 15 बरस की #ज्योति_पासवान… और क्यों?? क्योंकि ज्योति उस अर्जुन मिश्रा के बगीचे में आम चुनने के लिए गई थी और उसने 15 बरस की बच्ची के साथ दुराचार किया और फिर हसिए से गले को रेत दिया!! और ये एक अख़बार के छोटे से कोने की खबर बनकर रह गई! ना तो सोशल मीडिया पर #Justice_for_jyoti वाले हैशटैग का सैलाब आया और हमारे देश की #महान_मीडिया तो अब कुछ बस लेह और #लद्दाख के ट्रिप पर ही रहेंगी!!”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात फैक्ट क्रेसेंडो ने साइकिल गर्ल ज्योति पासवान और उनके पिता मोहन पासवान से संपर्क करने व उनसे बात करने से की, उन्होंने हमें बताया कि

“सोशल मीडिया पर चल रहे पोस्ट सरासर गलत है | ज्योति पासवान जीवित एवम् स्वस्थ है | पोस्ट में दिखाई गयी मृत लड़की ज्योति पासवान (साइकिल गर्ल) नही है | ज्योति वर्तमान में अपने साइकिल के ट्रायल के अभ्यास में व्यस्त है | हमें भी सोशल मीडिया पर यह पोस्ट नज़र आया जिसके पश्चात हमें कई रिश्तेदारों से भी फ़ोन आये, हमने इसके खिलाफ कमतौल पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज कराई है | हम सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं को गलत खबर को आगे फ़ैलाने से परहेज करने का आग्रह करते है |”

इसके आलावा हमने कमतौल के एस.एच.ओ सवार आलम से बात की, उन्होंने हमें बताया कि “सोशल मीडिया पर ज्योति पासवान के नाम से गलत खबर फैलायी जा रही है | सोशल मीडिया पर तस्वीर साइकिल गर्ल ज्योति की नही है | यह संपूर्ण दूसरी घटना है जिसे ज्योति पासवान के साथ जोड़ा जा रहा है | ज्योति पासवान एकदम स्वस्थ है और उनके पिता मोहन पासवान ने इस अफवाह के चलते थाने में एक शिकायत भी दर्ज करायी है | शिकायत फेसबुक यूजर शाहीन सेगल के खिलाफ की गयी है जिन्होंने यह गलत खबर अपलोड की थी | प्राथमिकी क्रमांक १५४/२०२० है जिसे ५ जुलाई को दर्ज किया गया था | शाहीन सेगल पर २९५(ए), आई.पी.सी धारा ५०४ और ५०५ के तहत शिकायत दर्ज की गई है |”

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट का साइकिल गर्ल ज्योति पासवान से कोई संबंध नही है | ज्योति पासवान जीवित व स्वस्थ है |

पोस्ट में कौन है?

अधिक जाँच करने पर हमें पता चला कि दरभंगा जिले में १ जुलाई को लाइव हिंदुस्तान द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार एक १३ वर्षीय ज्योति कुमारी का शव पाया गया था | रिपोर्ट के अनुसार जांच में किशोरी से दुष्कर्म किए जाने के साक्ष्य नहीं पाए गए हैं। रिपोर्ट में मौत का कारण करंट लगने के बाद दम घुटना बताया गया है |

फैक्ट क्रेसेंडो ने पतौर ओ.पी गावं के एस.एच.ओ बरुन कुमार से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि 

“पोस्ट मोर्टेम रिपोर्ट के अनुसार ज्योति कुमारी की मौत करंट लगने की वजह से हुई है | रिपोर्ट में इस बालिका के साथ दुष्कर्म होने का कोई ज़िक्र नही किया गया है | इस मामले की जाँच अभी भी जारी है, परंतु यह बात निश्चित है कि इस बच्ची के साथ कोई दुष्कर्म नही हुआ है | इसकी मौत इलेक्ट्रिक शॉक के कारण हुई है और उसके गले में जलने की निशान भी देखे जा सकतें है | यह ज्योति कुमारी साइकिल गर्ल ज्योति पासवान नही है | दोनों का नाम एक होने के कारण यह गलतफहमी हुई है |”

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मृतक के पिता ने आरोप लगाया कि एक अर्जुन मिश्रा ने अपने बगीचे से आम चोरी करने के लिए पीड़िता का बलात्कार किया और उसकी हत्या कर दी | मृतक के परिवार ने इस बारे में प्राथमिकी भी दर्ज कराई है |

तद्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने दरभंगा के एस.एस.पी बाबू राम से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि मृतका के साथ दुष्कर्म की बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नहीं है | मौत की वजह करंट लगना और दम घुटना निकल के आई है | हालांकि परिवार के आरोप की भी जांच की जा रही है | परंतु यह स्पष्ट कर दे कि मृतका ज्योति कुमारी और साइकिल गर्ल ज्योति पासवान दो अलग बालिकायें है, जो दोनों दरभंगा की निवासी है | साइकिल गर्ल ज्योति पासवान स्वस्थ एवं जीवित है |”

इस घटना का स्पष्टीकरण NCIB ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर साझा किया है जिसमे उन्होंने लिखा है कि जिला और एक ही नाम के चक्कर पर लोगों को लग रहा कि साइकिल गर्ल ज्योति पासवान की मौत हो गयी |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात् हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट के माध्यम से किये गये दावे गलत है क्योंकि साइकिल गर्ल ज्योति पासवान जीवित व स्वस्थ है |

Avatar

Title:साइकिल गर्ल ज्योति पासवान से सम्बंधित रेप और हत्या की खबर फर्जी है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •