1 साल पुराने वीडियो को केरल में भाजपा की CAA / NRC समर्थन रैली पर लोगों द्वारा किया हमला बता वाईरल किया जा रहा है|

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध और समर्थन को लेकर देशभर में आंदोलन हो रहे हैं | इसी क्रम में एक वीडियो को सोशल मीडिया पर साझा करते हुये यह दावा किया जा रहा है कि यह केरल में भाजपा और आर.एस.एस द्वारा सी.ए.ए/एन.आर.सी के समर्थन में  निकाली गई रैली है, वीडियो में हम हम बड़ी संख्या में लोगों को इस रैली के समर्थकों पर हमला करते हुए देख सकते हैं | 

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “केरल में RSS और BJP ने NRC और CAA के समर्थन में रैली की। देखिए क्या हुआ |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक

यह वीडियो फेसबुक पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को यूट्यूब पर “kerala rss rally running” कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते हुए ढूँढा, जिसके परिणाम में हमें ३ जनवरी २०१९ को टाइम्स ऑफ़ इंडिया दवरा प्रसारित वीडियो मिला, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “सबरीमाला रो: केरल के मलप्पुरम जिले में एडप्पल में भीड़ ने समर्थकों पर हमला किया |” वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि केरल के मलप्पुरम जिले के एडप्पल में बड़ी संख्या में लोगों ने एक रैली के समर्थकों पर हमला किया। सबरीमाला कर्म समिति ने सबरीमाला मंदिर में युवतियों के प्रवेश के विरोध में गुरुवार को राज्य में भोर-से-शाम तक का आह्वान किया है | जो यह स्पष्ट करता है कि इस वीडियो का सी.ए.ए और एन.आर.सी से कोई संबंध नही है |

३ जनवरी २०१९ को एशिया नेट द्वारा प्रकाशित खबर के शीर्षक में लिखा गया है कि “सी.पी.एम कार्यकर्ताओं ने एडप्पल में भाजपा कार्यकर्ताओं को पीटा |” इस वीडियो में एंकर यह विवरण देते हुए सुना जा सकता है कि सबरीमाला में युवा दर्शन के विरोध में सबरीमाला कर्म समिति और भाजपा द्वारा आहूत विरोध प्रदर्शन के लिए बड़ी संख्या में व्यापारी और स्थानीय लोग सड़कों पर उतरे | इसीके चलते मलप्पुरम के एडप्पल में बीजेपी-सीपीएम के बीच झड़प हुई, इस मुद्दे को सुलझाने की कोशिश के दौरान छह पुलिसकर्मी घायल हो गए जब भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा उन पर हमला किया गया | बाद में, भाजपा कार्यकर्तायों ने भगवा झंडों के साथ बाइक रैली निकाली और उसी समय सीपीएम कार्यकर्ताओं ने उनके साथ मारपीट की |

फैक्ट क्रेस्केंडो ने एशियानेट के रिपोर्टर प्रशांत निलाम्बुर से संपर्क किया, निलाम्बुर ने इस घटना को एक साल पहले कवर किया था, उन्होंने हमें बताया कि यह वीडियो एक साल पुरानी घटना का है जो केरल में हुई थी | वीडियो में जो हिंसा देखी जा सकती है वह सच है लेकिन यह बहुत बड़ी झड़प में तब्दील नहीं हुई | उस दिन इन बाइकों को जप्त कर लिया गया और उन्हें पुलिस स्टेशन के आंगन में रख दिया गया | इस वीडियो का CAA और NRC से संबंधित चल रहे विरोध से कोई लेना-देना नहीं है |

इस वीडियो से संबंधित खबरों को आप नीचे पढ़ सकते है |

द हिन्दू आर्काइव लिंक 
एशियानेट न्यूज़ आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो १ साल पुराना है और सी.ए.ए और एन.आर.सी से कोई संबंध नही रखता है | यह घटना केरल में भाजपा और सी.पी.एम् कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प की है | 

Avatar

Title:1 साल पुराने वीडियो को केरल में भाजपा की CAA / NRC समर्थन रैली पर लोगों द्वारा किया हमला बता वाईरल किया जा रहा है|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •